How to make Chyawanprash? Homemade Chyawanprash Recipe

च्यवनप्राश सबसे अधिक बिकने वाला आयुर्वेदिक उत्पाद है, और सबसे अधिक गुणकारी भी. हम इसे घर पर ही बनाते हैं. प्रस्तुत है घर पर च्यवनप्राश बनाने का तरीका

Read this recipe in English - How to make Chyawanprash - Chywanprash recipe

Chyawanprash Ingredients - आवश्यक सामग्री
च्यवनप्राश (Chawanprash) में मुख्य सामग्री आवंला सहित लगभग 40 प्रकार की सामग्री प्रयोग की जाती है. ये अधिकतर इस तरह की दवायें बेचने वाले पंसारी के पास आराम से मिल जातीं है. च्यवनप्राश (Chywanprash) को उबालते समय मिलाने वाली जड़ी बूटियों में यदि कुछ न भी मिले तो जो उपलब्ध हैं आप उन्हीं से च्यवनप्राश (Chyawanprash) बना सकते हैं. च्यवनप्राश में प्रयोग होने वाली सामग्री में केशर सबसे महंगी है बाकी सभी सामग्री अधिक महंगी नहीं है. इनमें निम्न पांच तरह की सामग्री प्रयोग होती है,

Chyawanprash Ingredients | प्रधान सामग्री
आवंला - 5 किलो
Chyawanprash Ingredients
Chyawanprash Ingredients | संसाधन सामग्री
बिदरीकन्द, सफेद चन्दन, वसाका, अकरकरा, शतावरी, ब्राह्मी , बिल्व, छोटी हर्र (हरीतकी), कमल केशर, जटामानसी , गोखरू, बेल , कचूर, नागरमोथा, लोंग, पुश्करमूल, काकडसिंघी, दशमूल, जीवन्ती, पुनर्नवा, अंजीर , असगंध (अश्वगंधा), गिलोय, तुलसी के पत्ते, मीठा नीम, संठ, मुनक्का, मुलेठी, (50 ग्राम) प्रत्येक

Chyawanprash Ingredients यमक सामग्री
घी 250 ग्राम, तिल का तेल - 250 ग्राम

Chyawanprash Ingredients | संवाहक सामग्री
चीनी - तीन किलो

Chyawanprash Ingredients प्रेक्षप सामग्री
पिप्पली - 100 ग्राम, बंशलोचन - 150 ग्राम, दालचीनी - 50 ग्राम, तेजपत्र - 20 ग्राम, नागकेशर - 20 ग्राम, छोटी इलायची - 20 ग्राम, केसर - 2 ग्राम, शहद - 250 ग्राम

विधि - How to make Chyawanprash
आवले को धो लीजिये. धुले आंवले को कपड़े की पोटली में बांध लीजिये.
How to make Chyawanprash at home
किसी बड़े स्टील के भगोने में 12 लीटर पानी भरिये. संसाधन सामग्री की जड़ी बूटियां डालिये और बंधे हुये आंवले की पोटली डाल दीजिये. भगोने को तेज आग पर रखिये, उबाल आने के बाद आग धीमी कर दीजिये, आंवले और जड़ी बूटियों को धीमी आग पर एक से डेड़ घंटे तक उबलने दीजिये, जब आंवले बिलकुल नरम हो जायें तब आग बन्द कर दीजिये. आंवले और जड़ी बूटियों को उसी तरह भगोने में उसी पानी में रातभर या 10 -12 घंटे ढककर पड़े रहने दीजिये.

हमारे घर में बड़ा बर्तन उपलब्ध नहीं था इसलिये हमने आंवले को दो भागों में बांटकर उबाला. आप उपलब्धता के अनुसार इसे एक, दो या तीन भागों में बांटकर उबाल सकते हैं.
Homemade Chyawanprash Recipe
अब आंवले की पोटली निकाल कर जड़ी बूटियों से अलग कीजिये, आप देखेंगे कि आंवले सांवले हो गये हैं, आंवलों ने जड़ी बूटियों का रस अपने अन्दर तक सोख लिया है. सारे आंवले से गुठली निकाल कर अलग कर लीजिये.

जड़ी बूटियां का वेस्ट छलनी से छान कर अलग कर दीजिये. जड़ी बूटियों का पानी अपने पास छान कर सभाल कर रख लीजिये यह च्यवनप्राश बनाने के काम आयेगा.
Homemade Chyawanprash Ingredients
जड़ी बूटियों के साथ उबाले हुये आंवलों को, जड़ी बूटियों से निकला थोड़ा थोड़ा पानी मिलाकर मिक्सर से एकदम बारीक पीस लीजिये और बड़ी छ्लनी में डालकर, चमचे से दबा दबा कर छान लीजिये. सारे आंवले इसी तरह पीस कर छान लीजिये. आंवले के सारे रेशे छलनी के ऊपर रह जायेंगे जो वेस्ट है फैंक देंगे. (पहले समय में आंवलों को कपड़े पर घिसकर कपड़छन करके छाना जाता था ताकि आंवले से रेशे दूर हो सके. लेकिन इसमें समय और श्रम अधिक लगता था.) यदि जड़ी बूटी से छाना हुआ पानी बचा हुआ है तो इसे भी इसी पल्प में मिला सकते हैं. जड़ी बूटियों के रस और आवंले के पल्प के मिश्रण को हम च्यवनप्राश बनाने के काम लेंगे.

लोहे की कढ़ाई जिसमें पल्प आसानी से भूना जा सके, आग पर गरम करने के लिये रखिये, उसे पकाकर गाढ़ा कर लीजिये.

कढ़ाई में तिल का तेल डाल कर गरम कीजिये, गरम तेल में घी डाल कर घी पिघलने तक गरम कीजिये. जब तिल का तेल अच्छी तरह गरम हो जाय तब आंवले का छाना हुआ पल्प डालिये और चमचे से चलाते हुये पकाइये. मिश्रण में उबाल आने के बाद चीनी डालिये और लगातार चमचे से चलाते हुये मिश्रण को एकदम गाड़ा होने तक पका लीजिये. आप लोहे की कढाई की उपलब्धतानुसार इसे 1 या दो बार में पका सकते हैं. हमने भी ये च्यवनप्राश 2 बार में ही पकाया है. इसे पकाने के लिये स्टील का बर्तन न लें.

जब मिश्रण एकदम गाड़ा हो जाय तो गैस से उतार इस मिश्रण को 5-6 घंटे तक लोहे की कढ़ाई में ही ढककर रहने दीजिये. पांच या 6 घंटे बाद इस मिश्रण को आप स्टील के बर्तन में निकाल कर रख सकते हैं.
Home Made Chywanprash Recipe
प्रेक्षप द्रव्य में दी गई लिस्ट में से छोटी इलायची को छील लीजिये. इसके बाद छिली हुई छोटी इलायची के दानो में पिप्पली, बंशलोचन, दालचीनी, तेजपात, नागकेशर को मिक्सी में एकदम बारीक पीस लीजिये. पीसते समय या पीसने के बाद मिक्सी के ढक्कन को थोड़ी देर बाद खोलें ताकि पिप्पली और बंसलोचन की भस आपको न लगे

अब इस पिसी सामग्री को शहद और केसर में मिलाकर आंवले के मिश्रण में अच्छी तरह से मिला दीजिये. आपका च्यवनप्राश (Homemade Chyawanprash) तैयार है.

इस च्यवनप्राश (chywanaprash) को एअर टाइट कांच या प्लास्टिक कन्टेनर में भर कर रख लीजिये और साल भर प्रयोग कीजिये.

Related Recipes

How to make Chyawanprash at home - Chyawanprash Recipe video

Tags

Categories

Please rate this recipe:

3.29 Ratings. (Rated by 8097 people)

  1. 24 June, 2018 02:08:47 AM Ananth

    Please send me the details in English to my mail I'd. Regards Ananth

  2. 15 December, 2017 06:19:15 AM Naseem morbiwala

    Hi Nishaji in video you are all Herb 25gm oil 125 but in the ingredients it'd return 50 GM each n oil n ghee also250 GM plz reply soon as I got the ingredients according the receipe return
    निशा: नसीम जी, वेबसाइट पर हमने 5 किग्रा. आंवला से च्यवनप्राश बनाया है और वीडियो में हमने 2.5 किग्रा. आंवला से च्यवनप्राश बनाया है, इसलिये इन्ग्रीडियेन्ट भी आधा ली है.

  3. 06 December, 2017 10:07:38 AM amrita mishra


    निशा जी सुखे आँवले का चवानप्राश बनाया जा सकता है
    निशा: अम्रिता जी, च्यवनप्राश ताजे आंवले से ही अच्छा बनता है.

  4. 06 December, 2017 06:12:08 AM Hemanta Ku sahoo

    Chyawanpras make odia

  5. 04 December, 2017 09:10:03 PM Nisha Arora

    अच्छा लेख ! मैंने अमृता फार्मा के अमृत जीवन च्यवनप्राश का प्रयोग किया है और यह भारत का सर्वश्रेष्ठ च्यवनप्राश है। "अमृत जीवन च्यवनप्राश" का कायाकल्प प्रभाव और शक्तिशाली एंटीऑक्सीडेंट गुण हैं, जो उम्र बढ़ने में देरी करता है, प्रतिरक्षा में सुधार करता है। आपको निश्चित रूप से यह प्रयास करना चाहिए।

  6. 15 November, 2017 03:08:51 AM Avninder Singh

    Dear Nisha ji, I am a big fan of your recipes made from Amala. I make Amala Candy, Amala Honey, Amala Jam, Amala Muraba successfully with your guidance. I want a say Special thanks to you and your team for Amala Chyawanprash recipe. In this recipe please mention the time frame to cook on gas to make Chyawanprash thick as many of your follower face problem with fungus, thin Chyawanprash, hardness etc.A suggestion for other: Use waste herbs as home fertilizer and use in pots/garden. Use extra water to wash hair.Once again, lot of thanks.
    निशा: अवनिन्दर जी, च्यवनप्राश को गाढ़ा होने तक का समय बताना थोड़ा मुश्किल है, लेकिन उसे अच्छा गाढ़ा होने तक पकायें, च्यवनप्राश को एक बार पकाकर, लोहे कि कढ़ाई में जिसमें आप उसे पका रहे हैं उसमें ही छोड़ दीजिये, उसमें आयरन के गुण और आ जाते हैं और दूसरे दिन पका कर और गाढ़ा कर लीजिये, ठंडा होने के बाद स्टरलाइज्ड कांच के कन्टेर या फूड ग्रेड प्लास्टिक जो उबलते पानी से धोया गया हो और धूप में अच्छी तरह सुखाया गया हो और ये कन्टेनर पूरी ऊपर तक भर कर रखें, च्यवनप्राश बिलकुल भी खराब नहीं होता.

  7. 31 October, 2017 09:03:34 PM Ravi Sharma

    Great. Thanks nisha ji
    निशा: रवि जी, बहुत बहुत धन्यवाद.

  8. 10 October, 2017 06:06:34 AM Shailesh chauhan

    Nice recipi
    निशा: शैलेश जी, बहुत बहुत धन्यवाद.

  9. 27 September, 2017 11:20:43 PM Nisha Arora

    अच्छा लेख ! मैंने अमृता फार्मा का प्रयोग किया है अमृत जीवन च्यवनप्राश भारत का सर्वश्रेष्ठ चयवनस्पष है। यह कई मायनों में हमें मदद करता है "अमृत जीवन च्यवनप्राश" का कायाकल्प प्रभाव और शक्तिशाली एंटीऑक्सीडेंट गुण हैं, जो उम्र बढ़ने में देरी करते हैं, प्रतिरक्षा में सुधार करते हैं। आपको निश्चित रूप से यह एक बार प्रयास करना चाहिए।