कुम्हड़ा फल | Petha | Ash Gourd | Kumahara

कुम्हड़ा (kumhada) जिसे पेठा (petha) या कूष्माण्ड और अंग्रेजी में एश गार्ड (ash gourd) के नाम से जाना जाता है, बेल पर लगने वाला फल है. इसे सब्जी और मिष्ठान्न की तरह बनाकर खाया जाता है. इसकी अधिकांश खेती भारत सहित दक्षिणी और दक्षिण-पूर्वी एशिया में होती है. इस फल से भारत में एक मुख्य मिठाई भी बनाई जाती है, जिसे पेठा मिठाई कहते हैं.

Read- Petha | Ash Gourd | Kumahada

कुम्हडा़ (पेठा) की पहचान
पेठा फल कद्दू वर्गीय प्रजाति का होता है, इसलिए इसे पेठा कद्दू भी कहते हैं. यह हल्के हरे रंग का होता है और लंबे व गोल आकार में पाया जाता है. इस फल के ऊपर हल्के सफेद रंग की पाउडर जैसी परत चढ़ी होती है.

पेठा और कद्दू में अंतर
पेठा(कुम्हड़ा) - पेठा, कद्दू से थोड़ा छोटा सफेद रंग का फल होता है. इसके कच्चे फल से सब्जी और पके हुये फल से हलवा और पेठा मिठाई (मुरब्बा) बनाए जाते हैं. इसका लेटिन नाम बेनिनकासा हिष्पिड़ा (benincasa hispida) है. 

कद्दू - कद्दू जिसे सीताफल, काशीफल, रामकोहला, तथा संस्कृत में कूष्मांड, पुष्पफल, वृहत फल, वल्लीफल कहते हैं.यह कोशातकी (कुकुर्बिटेसी) (cucurbeta pepo) कुल का फल है और अंग्रेजी में पंपकिन (pumpkin) नाम से जाना जाता है. यह फल और सब्जी दोनों ही रुपों में उपयोग किया जाता है. इसे बिना स्टोरेज के बहुत दिनों तक घर में रखा जा सकता है इसका उपयोग शादी ब्याह में बहुत अधिक होता है.

कुम्हडा़(पेठा) पोषक तत्व का भंडार
कुम्हड़ा पोषक तत्वों का खजाना है. इसमें कैल्शियम, मैग्नीशियम ,फास्फोरस, आयरन, जिंक बहुत से तत्व पाए जाते हैं. कुम्हड़ा के पके हुए पलों को कई महीनों तक अपने घर में आसानी से रखा जा सकता है. आयुर्वेद में भी इसके बेहद उपयोगी होने की बात कही गई है. इससे बनी सब्ज़ी बीमार व्यक्ति को भी खाने के लिए दी जा सकती है क्योंकि यह एक हल्का आहार होता है, जो आसानी से पच जाता है.

कुम्हड़ा से बनी पेठा मिठाई
कुम्हडा से भारत में एक बेहद ही विशेष मिठाई पेठा बनाया जाता है. आगरा क्षेत्र में जहां ताजमहल है वहीं इस मिठाई को एक अलग पहचान भी मिली है. आगरे का पेठा न सिर्फ भारत में बल्कि दुनिया भर में मशहूर है. पेठे की मिठाई कई स्वाद और खुशबू में मिलती है, जिसमें से अंगूरी पेठा, नारियल पेठा, सूखा पेठा व काजू पेठा वगैरह इसकी कुछ खास वैरायटी होती हैं.

पेठा के कुछ अन्य उपयोग
पेठा से रंग बिरंगी टूटी फ्रूटी भी बनाई जाती है. जिसका उपयोग आइसक्रीम में, मीठी ब्रेड़ बनाने, केक, शेक इत्यादि में किया जाता है. इसके अलावा, इससे लड्डू और हलवा भी बनाया जाता है. इसके बीज को ड्राय फ्रूट के रुप में भी उपयोग किया जाता है.

Tags

Categories

Please rate this recipe:

3.50 Ratings. (Rated by 2 people)

  1. 12 May, 2018 01:52:17 AM gulshan armaan

    okh thankyou mam

    • 13 May, 2018 10:28:00 PM NishaMadhulika

      गुलशन जी, मेरी ओर से भी आपको बहुत बहुत धन्यवाद एवं आभार.

  2. 13 April, 2018 03:34:05 AM Adil

    thanks for this information

    • 13 April, 2018 03:35:34 AM NishaMadhulika

      Adil , बहुत बहुत धन्यवाद.