बाजरा चूरमा लड्डू - Bajra Churma Laddu - Millet Churma Ladoos


सर्दियों के मौसम में बाजरे की रोटी बहुत पसन्द आतीं हैं. इन्ही बाजरे की रोटी को और खस्ता सेककर इनसे बना बाजरा चूरमा लड्डू या बाजरे का मलीदा बनाया जाता है. जब भी आप बाजरे की रोटी बनायें, बाजरे का चूरमा लड्ड् बनाना न भूलें

Read - Bajra Churma Laddu - Millet Churma Ladoos Recipe in English

आवश्यक सामग्री - Ingredients for Bajra Choorma Laddu

  • बाजरा आटा - डेड़ कप (160 ग्राम) 
  • गुड़ - 3/4 कप (160 ग्राम)
  • घी - 1/3 कप (80 ग्राम)
  • काजू - 8-10
  • इलायची - 3-4

विधि - How to make Bajra Choorma Laddu

बाजरे के आटे को एक बर्तन में निकाल लीजिये और 1 चम्मच घी डाल कर अच्छी तरह मिला लीजिये. गुनगुने पानी की सहायता से सख्त आटा गूंथ कर तैयार कर लीजिये.

गूंथे हुये आटे से दो लोई बनाकर तैयार कर लीजिये. एक लोई को हाथ से गोल करें और दोनों हथेलियों के बीच में रखें और दबाकर चपटा कर लीजिए और इसे सूखे गेहूं के आटे में लपेटकर चकले के ऊपर रख कर मोटा परांठा बेल लीजिए.

तवा गरम कीजिए और गरम तवे पर थोडा़ सा घी लगाकर चारों ओर फैला दीजिए और बेले हुए परांठे को तवे के ऊपर डाल दीजिए, परांठे को नीचे की ओर से हल्का सिकने पर दूसरी तरफ़ पलट दीजिए और जब परांठे के दूसरे भाग में सुनहरी चित्ती आने लगे तो परांठे के पहले वाले भाग के ऊपर थोडा़ सा घी डालकर इस को चारों तरफ़ अच्छी तरह से फैला दीजिए. परांठे को दूसरी तरफ़ पलटे तथा इस भाग पर भी थोडा़ सा घी डालकर इसको अच्छी तरह से चारों ओर फैला दीजिए.


परांठे को पलट पलट कर और दबा कर दोनों ओर सुनहरी चित्ती आने तक अच्छे से सेक लीजिए तथा इसको एक प्लेट में निकालकर रख लीजिए. इस तरह से दूसरा परांठा बनाकर तैयार कर लीजिए.

चूरमा बनाइये
परांठे के ठंडा हो जाने पर तोड़ कर बारीक कर लीजिए.
काजू को छोटा-छोटा काट लीजिये, इलाइची को छील कर पाउडर बना लीजिये और बारीक किये हुये परांठे में डालें और गुड़ को भी एकदम बारीक तोड़कर डाल दीजिए और 1 चम्मच घी डालकर सभी चीजों को अच्छे से मिला लीजिए. लड्डू बनाने का मिश्रण तैयार है.

मिश्रण से एक मुठ्ठी भर कर निकालिये और दोनो हाथों से दबा कर उसे गोल आकार दीजिये. तैयार लड्डू को प्लेट में रखते जाइये. चूरमा लड्डू बनकर तैयार है. बाजरा चूरमा लड्डू को 2-3 दिन तक खाया जा सकता है.

सुझाव:

  • चूरमा में अपने पसन्द के अनुसार ड्राई फ्रूट डाले जा सकते हैं.
  • गुड़ अपनी पसन्द के अनुसार कम ज्यादा किया जा सकता है.
  • बाजरा चूरमा को बचे हुये बाजरा के रोटी परांठे से भी इसी तरह बनाकर खाया जा सकता है.

6-8 लड्डू के लिये
समय 40 मिनिट

Tags

Categories

Please rate this recipe:

2.44 Ratings. (Rated by 3474 people)

  1. 17 February, 2016 08:33:56 AM Rajpal jatav

    Nishajee first of all thank you for your valuable website I just saw this term malida which is not use by any recipe website I used to eat malida when my grandmother was alive but nowadays I miss malida though I know how to make it.keep it up you are really good
    निशा: राजपाल जी, बहुत बहुत धन्यवाद.

  2. 11 December, 2015 07:23:10 AM Sunil Valmiki

    i like Churma most Haryana's healthy Athlits and kabaddi & Kusti players take Churma ..its good for healthEvery one should take Churma ...
    निशा: सुनील जी, बहुत बहुत धन्यवाद.

  3. 29 December, 2014 10:20:45 PM nisha gupta

    namastay nishaji .....kya hum gud kaddukas karke daal sakte hain isme???
    निशा:
    निशा जी, अवश्य डाल सकते हैं.

  4. 28 December, 2014 11:20:54 PM Syed Naseer Husain

    Thanks for keeping traditional items in your list.
    निशा: सैयद जी, बहुत बहुत धन्यवाद.

  5. 19 April, 2014 01:46:45 AM Neeru

    hi Nisha ji, bajre ka churma is really delicious recipe. i had it in my childhoo. i live in melbourne and here is nobody to cook me churma so, so i tried to make it magar churma ka taste thoda kadwa tha. aur roti ke tukde bhi kafi mote mote bane the. what i need to do if i try it next time.thanks.
    निशा: नीरू, बाजरा का आटा यदि ज्यादा दिन रखा हो तो वह कढ़वा हो जाता है, मोटे रोटी के टुकड़े को आप मिक्सर में डालकर चला सकते हैं, एकदम बारीक हो जायेंगे.

  6. 07 September, 2013 09:23:51 PM dkgupta

    I am surprised to find item named malida of bajra in your traditional items. I am 70 years old. My grand father was very fond of this item. Now a days nobody will understand Malida.Thanks for keeping traditional items in your list.D K Gupta
    निशा:, गुप्ताजी, आपको भी मेरा बहुत बहुत धन्यवाद.

  7. 02 September, 2013 04:25:13 AM anushka

    I make it every day &my mom eat it but it have a difference i make it from aata ki roti and sabji chawal daal etc.hahahhaha...

  8. 28 September, 2010 01:03:08 PM kannu

    nisha jimeri naani somvar ke vrat mai ise khaya karti thi or hum bhi number lagate the apna,naani to ab nahi hai lekin aaj maine ye recipe banai to yande taja ho gai thanx

  9. 20 September, 2010 12:08:17 PM Sunita Dogra

    Dear Nisha,What to say ... I'm speechless. This recipe has brought back so many childhood memories. I belong to Himachal Pradesh. Every summer vacations we used to visit our grandparents. Malida (as you call it) or churma (as it is know in my region and made with makkai ki roti) was the first thing our dadi used to give to us to eat. No pizza, burger, or any exotic dish can ever be at par with this. Got so emotional reading this recipe that there are tears in my eyes. Thank you for reminding me of my dadi. Thank you also for reminding us that recipes from Indian kitchens are class apart.I'm an English editor by profession and would be glad to help you for putting up English content for your website. I know you already have an English version, but in case you need any help, please do contact me.Regards ... Sunita Dogra
    निशा: सुनीता, धन्यवाद.