मीठी बूंदी - Sweet Boondi Recipe


बूंदी बनाने के लिये छेद वाले झविया (कलछी) का प्रयोग किया जाता है. झावे के छेद जितने छोटे या बड़े होते हैं बूंदी भी उसी के हिसाब से छोटी या बड़ी बनती है. बूंदी बनाने के लिये सादा बारीक बेसन ही काम में लाया जाता है.

बूंदी को चाशनी में नहीं डाला जाय तब इस फीकी बूंदी को रायता बनाने के काम में लेते हैं. फीकी बूंदी में मसाला और मूंगफली के दाने और सेव इत्यादि मिला कर बूंदी की नमकीन बनाते हैं. बारीक बूंदी बनाकर मोतीचूर के लड्डू बनाये जाते है. लेकिन आज हम सिर्फ मीठी बूंदी बना रहे हैं.

Read - Sweet Boondi Recipe In English

आवश्यक सामग्री - Ingredients for Sweet Boondi

  • बेसन - 200 ग्राम (2 कप)
  • चीनी - 600 ग्राम (3 कप)
  • छोटी इलाइची - 7-8 (छील कर कूट लीजिये)
  • घी या रिफाइन्ड - बूंदी तलने के लिये.

विधि - How to make Sweet Boondi

बेसन को छान कर किसी बर्तन में निकाल लीजिये. घोल बनाने के लिये, बेसन में आधा कप पानी मिलाकर, गाड़ा घोल बनाइये, अब थोड़ा थोड़ा पानी डालकर घोल को पतला कीजिये, ये घोल इतना गाड़ा होना चाहिये कि घोल जब झावे के ऊपर रखा जाय तो वह बूंद बूंद करके झावे के छेद से गिरे. बेसन के घोल में गुठलियां नहीं रहनी चाहिये. घोल को 5-6 मिनिट तक या घोल के एकदम चिकना होने तक खूब फैटिये, घोल में 2 छोटे चम्मच तेल डालिये, थोड़ा और फैंट लीजिये.  तैयार घोल को 10-15 मिनिट के लिये ढककर रख दीजिये. बेसन का घोल बूंदी बनाने के लिये तैयार है.

घोल तैयार होने तक बूंदी के लिये चाशनी तैयार कर लेते हैं. चीनी को किसी बर्तन में डालिये और चीनी से आधा पानी यानी कि डेड़ कप पानी डालकर चाशनी बनने के लिये आग पर रखिये. पानी में उबाल आने पर, चीनी में कुछ गन्दगी हो तो एक टेबल स्पून दूध डालिये और झाग आने पर वे झाग कल्छी से हटाकर प्लेट में निकाल दीजिये. झाग निकालने से चाशनी एकदम साफ (क्लीयर) बनती है. चाशनी को चैक कीजिये कीजिये, चमचे से 1 बूंद चाशनी की प्लेट में गिराइये, उंगली और अंगूठे के बीच चिपका कर देखिये, चाशनी उंगली और अंगूठे से हल्की सी चिपकनी चाहिये, चाशनी बन चुकी है. चाशनी को आप छान भी सकती है. तैयार चाशनी में इलाइची कूट कर मिला दीजिये.

 

भारी तले की चौड़ी कढ़ाई में घी या रिफाइन्ड डालकर गरम कीजिये. बेसन के घोल की एक बूंद कढ़ाई में डालकर देखिये, वह तुरन्त सिककर तैरकर घी या तेल के ऊपर आनी चाहिये, एसा है तो तेल पर्याप्त गरम है, यदि बेसन तले में ही पड़ा रहता है तब घी को और गरम होने की आवश्यकता है.

बूंदी बनाने के झावे को घी के थोड़ा ऊपर रखिये, बेसन के घोल के 2 बड़े चमचे झावे के ऊपर रखिये, झावे से घोल निकल कर घी में जाता है और बूंदी गोल आकार लेकर तैरने लगती है, झावे को कढ़ाई के ऊपर खटखट करके बूंदी तेल में गिरा सकते हैं.

सारे घी की सतह भरने तक बूंदी घी में छोड़ दीजिये. बूंदी वाली झविया को घी के ऊपर से उठाइये, बूंदी को कल्छी से घी में हिलाया जा सकता है. बूंदी के हल्का सा रंग बदलने और कुरकुरे होने पर, गहरे झावे से बूंदी को निकालिये, घी में बची बूंदी को कल्छी से उठाकर, गहरे झावे में रखिये.

सारी बूंदी घी में से उठा कर झावे में रख लीजिये.  झावे से सीधे बूंदी चाशनी में डाल कर डुबा दीजिये.

सारे घोल से इसी प्रकार बूंदी बनाकर चाशनी में डालकर डुबा दीजिये. चाशनी में बूंदी को कल्छी से ऊपर नीचे कर दीजिये, थोड़ी ही देर में बूंदी चाशनी को शोककर मुलायम हो जाती है. कल्छी से बूंदी को ऊपर नीचे करते रहिये. ठंडी होने पर खिली खिली मीठी बूंदी तैयार है.

मीठी बूंदी आपके खाने के लिये तैयार है, स्वादिष्ट मीठी बूंदी आप अभी खाइये और बूंदी एकदम ठंडी होने के बाद एअर टाइट कन्टेनर में भर कर रख लीजिये और 1 माह तक रोजाना अपने लन्च और डिनर के बाद मीठी बूंदी निकालिये और खाइये.

मीठी बूंदी में जब वह चाशनी में हो, थोड़े से काजू या किशमिश भी अपनी इच्छानुसार डालकर मिला सकते हैं.

Sweet Boondi Recipe video - Sweet Boondi Recipe Video

Tags

Categories

Please rate this recipe:

3.26 Ratings. (Rated by 6985 people)

  1. 17 September, 2017 12:28:17 AM Simran

    Mam Maine sweet boondi bnaei thi but wo flat ho gyi. Tell me why?
    निशा: सिमरन जी, लगता है कि आपने बेसन का घोल अधिक पतला घोल लिया है. यदि अगली बार ऎसा हो तो इसमें थोड़ा बेसन और मिला लीजियेगा.

  2. 15 September, 2017 08:25:09 AM Ramniwas

    Thanks nisha ji
    निशा: रामनिवास जी, आभार और आपको भी मेरी ओर से बहुत बहुत धन्यवाद.

  3. 05 July, 2017 01:32:46 AM Richa agrawal satna

    Wao very nice resipe
    निशा: रिचा जी, बहुत बहुत धन्यवाद.

  4. 24 June, 2017 09:14:38 AM Rekha gupa

    The quantity of sugar given in the recipe is too high
    निशा: रेखा जी, बूंदी में मिठास अधिक होने से ही उसका टेस्ट आता है पर आप चीनी को अपने स्वादानुसार कम या ज्यादा जैसा रखना चाहें रख सकती हैं.

  5. 19 March, 2017 04:04:38 AM Swati

    Nisha g thnx for this tasty recipient but boondi ko bnate time usko crispy karne me liye maida ya suji besan mein mila sakte hai qki sirf besan se bnayi gayi boondi ka taste market ki boondi k taste k according alag hota hai
    निशा: स्वाति जी, आप ज्यादा क्रिस्पी बूंदी बनाना चाहती हैं, तो उड़द दाल और मैदा से बनाइए. इस रेसिपी का लिंक निम्न है:http://nishamadhulika.com/1347-prasad-boondi-recipe.html

  6. 19 January, 2017 10:18:55 PM SHASHI JHA

    i like you step by step method
    निशा: शशि जी, धन्यवाद.

  7. 08 January, 2017 10:26:28 PM sujit kumar sah

    5kg बेसन मे कितना पानि डाले . . . और कितना Kg चिनि का चासनि bnaaye. . . . . . . . . . . . जरुर Ans. दे
    निशा: सुजीत जी, पहले आप 200 ग्राम बेसन से बूंदी बना कर देखें, पानी नाप कर डालें, बूंदी अच्छी बनें तब आप 5 कि. बेसन को घोले और उसी हिसाब से पानी मिलायें और उसी तरह की कनसिसटेन्सी का घोल बना लें और बूंदी बनायें.

  8. 28 November, 2016 05:53:57 AM Abha bajpai

    Very nice reciepe...
    निशा: आभा जी, धन्यवाद.

  9. 29 September, 2016 03:48:04 AM shahin

    nice recipe nisha ji But mene ye bana ne ke liye try kiya tha but jese hi mene kadhai pe bundhi dali to bundhi to huyi pr kuch bundi aapsh me chipak gayi or gol nhi huyi us ki kua vajah ho sakti h kya mera gol patla reh gaya tha ya fir mene ek sth dal diya tha is vajhse asha hua pls riply mem
    निशा: शाहिन जी, घोल पतला होने से और एक साथ अधिक बूंदी तेल में गिरने से दोंनो वजह से एसा होता है.

  10. 13 September, 2016 10:03:37 PM Salil

    Jo market me readymade boondi available hai...use fry krte hain kya chashni me dalne se pehle.....pl,z suggest..
    निशा: सलिल जी, बूंदी को चाशनी में डालने के लिये तुरन्त बना कर ही डाला जाता है, तो ज्यादा अच्छा होता है.