फलाहारी आलू बोंडा । Navratri Vrat ka khana

व्रत के लिए फलाहारी आलू बोंडा रेसिपी एक बार बनाएंगे तो बार-बार खाने का मन करेगा.

आवश्यक सामग्री - Ingredients for Falahari Aloo Bonda

कूट्टू का आटा - 1 कप (160 ग्राम)

उबले हुए आलू - 5 (300 ग्राम)

हरा धनिया - 2-3 टेबल स्पून (बारीक कटा हुआ)

तेल - 2-3 टेबल स्पून

सैंधा नमक - 1.25 छोटी चम्मच

काली मिर्च - 1 छोटी चम्मच (कुटी हुई)

जीरा - ½ छोटी चम्मच

हरी मिर्च - 3-4 (बारीक कटी हुई)

अदरक - 2 छोटी चम्मच (कद्दूकस किया हुआ)

नींबू - 1

तेल तलने के लिए

विधि - How to make Falahari Aloo Bonda

उबले हुए आलू को छील लीजिए और इन्हें प्लेट में निकाल कर तोड़ कर मैश कर लीजिए.

पैन को गैस पर रखें, पैन में 2 छोटी चम्मच तेल डाल कर गरम कीजिए. तेल के गरम होने पर इसमें जीरा डाल कर भून लीजिए. जीरा भून जाने पर इसमें बारीक कटी हरी मिर्च, कद्दूकस किया हुआ अदरक डाल कर हल्का सा भून लीजिए. अब इसमें मैश किए हुए आलू डाल कर मिक्स कीजिए.

अब इसमें ¾ छोटी चम्मच सैंधा नमक, ½ छोटी चम्मच काली मिर्च डाल कर मिक्स कीजिए. आलू को अच्छे से मैश करते हुए थोड़ा सा भून लीजिए. आलू में हरा धनिया डाल कर मिक्स कीजिए. आलू अच्छे से भून जाने पर गैस बंद कर दीजिए और आलू को प्याले में निकाल लीजिए. आलू को थोड़ा ठंडा होने दीजिए.

कुट्टू का आटा प्याले में निकाल लीजिए. इसमें थोड़ा-थोड़ा पानी डाल कर घोल तैयार कर लीजिए. इतना बैटर बनाने में 1 कप पानी का यूज किया है जिसमें ¼ कप बच गया.  ध्यान रहे की बैटर न बहुत अधिक गाढा़ और न बहुत अधिक पतला होना चाहिए. अब इस घोल में ½ छोटी चम्मच क्रश काली मिर्च, 0.75 छोटी चम्मच सैंधा नमक, पाउडर और छोटी चम्मच कद्दूकस किया हुआ अदरक डाल कर सभी चीजों को अच्छे से मिलाते हुए मिक्स कर लीजिए.

Aloo Bonda Recipe

आलू के ठंडा हो जाने पर मिश्रण से छोटी-छोटी बाल बना कर तैयार कर लीजिए. बोंडा आप अपनी पसंद अनुसार छोटा या बडा़ जैसा चाहें बना सकते हैं.

कढ़ाई में तेल डालकर गरम कीजिये, बोंडा तलने के लिए तेल मीडियम गरम होना चाहिए. तेल को चैक करने के लिए बैटर में से थोडा़ सा बैटर तेल में डालकर देखें अगर बैटर सिक कर तुरंत उपर आ गया है तो तेल गरम होकर तैयार है, अब हम बोंडा बना सकते हैं.

अब आलू की बाल को बैटर में डूबो कर गरम तेल में डाल दीजिए. बोंडा को कलछी से पलट-पलट कर गोल्डन ब्राउन होने तक तलिये.

तले हुये बोंडा को कलछी स‌े उठाकर कुछ देर कढ़ाई के ऊपर रख लीजिए, ताकि बोंडा स‌े अतिरिक्त तेल कढ़ाई में वापस चला जाय. बोंडा को प्लेट पर बिछे नैपकिन पेपर पर निकाल लीजिए. एक बार के बोंडा तलने में 4-5 मिनिट का समय लग जाता है.

अप्पम मेकर में बनाएं

थोड़े से बोंडा अप्पम मेकर में बनाएंगे. गोले को सेकने के लिए अप्पम मेकर को गैस पर रख कर गरम कीजिए. अप्पम मेकर के सभी खानों में थोड़ा-थोड़ा तेल डालकर चिकना कर लीजिए. इस दौरान गैस धीमी ही रखें.

आलू का एक गोला उठाकर इसे घोल में चारों ओर से अच्छे से लपेट दीजिए. फिर इस गोले को सिकने के लिए अप्पम मेकर के सांचे में रख दीजिए. इसी प्रकार जितने गोले अप्पम मेकर के सांचे में आ जाएं उतने घोल में लपेटकर अप्पम मेकर में सिकने के लिए डाल दीजिए. अप्पम मेकर को ढककर 4 मिनिट धीमी आंच पर सिकने दीजिए.

Aloo Bonda

4 मिनिट बाद आलू बोंडा नीचे की ओर से सिक कर तैयार हैं, इन्हें दूसरी ओर से सिकने के लिए पलट दीजिए. आलू बोंडा को फिर से ढककर 4-5 मिनिट धीमी आंच पर सिकने दीजिए.

4 मिनिट बाद इन्हें चैक कीजिए, यह नीचे से अच्छे गोल्डन ब्राउन होकर तैयार हैं, अब इन्हें खुले ही जहां-जहां से लगे की ये सिके नहीं हैं, इन्हें पलट-पलट कर सेक लीजिए.

आलू बोंडा चारों ओर से अच्छे गोल्डन ब्राउन सिक कर तैयार हैं. इन्हें निकालकर प्लेट में रख दीजिए. बहुत ही कम तेल में बने स्वादिष्ट आलू बोंडा बनकर तैयार हैं. आलू बोंडा को आप व्रत की हरे धनिये की चटनी या नारियल की फलाहारी चटनी के साथ परोसिये और खाइये.

सुझाव

बैटर को पतला न रखें इसे थोड़ा गाढ़ा ही रखें. बैटर की कंसीस्टेंसी पकोड़े के घोल से भी थोडी़ गाढ़ी होनी चाहिए.

कद्दूकस किए हुए अदरक के बदले अदरक का पेस्ट भी ले सकते हैं.

Navratri Vrat ka khana । फलाहारी आलू बोंडा - दो तरह से बनाया हुआ

Tags

Categories

Please rate this recipe:

2.33 Ratings. (Rated by 3 people)