आंवला की मीठी चटनी Amla Meethi Chatni - Gooseberry sweet Chutney recipe


सर्दियों के आते ही प्रतिरोधक व पोषक तत्वों ने भरपूर आंवला हमें किसी न किसी तरह अपने रोजाना के भोजन में शामिल कर लेना चाहिये. आज प्रस्तुत है तुरत फुरत बन जाने वाली आंवला की मीठी चटनी.

Read - Amla Meethi Chatni - Gooseberry sweet Chutney Recipe In English

आवश्यक सामग्री - Ingredients for Amla Meethi Chatni

  • आवंला - 250 ग्राम
  • गुड़ - 250 ग्राम
  • नमक - ½ छोटी चम्मच
  • काला नमक - 1 छोटी चम्मच
  • इलायची पाउडर - ½ छोटी चम्मच
  • लाल मिर्च पाउडर - ¼ छोटी चम्मच
  • गरम मसाला - 1 छोटी चम्मच

विधि - How to make Amla Sweet Chutney

किसी बर्तन में आंवले और ½ कप पानी डालकर उबलने के लिए गैस पर रख दीजिए. आंवले को नरम होने तक पकाएं.

आंवले 10-15 मिनिट में उबल कर तैयार हो जाते है, गैस बंद कर दिजिए और इन्हें प्याले में निकाल लीजिए.
आंवले के बीज हटा दीजिए और इन्हें मिक्सर जार में डालकर पेस्ट बना लीजिए.

पिसे हुये आंवले को पैन में डाल दीजिए, गैस आन कर लीजिए, गुड़, नमक, काला नमक, इलायची पाउडर, लाल मिर्च पाउडर और गरम मसाला डाल कर मिला दीजिए और मिश्रण को धीमी आंच पर पकने दीजिए.
इसे बीच बीच में चलाते रहें और अच्छा गाढा़ होने तक पका लीजिए.

चटनी बनकर तैयार है इसे चैक करने के लिए थोडी़ सी चटनी को प्याली में निकाल कर देखें की वो बहे नहीं, सैट रहे. अगर सैट है तो चटनी बनकर तैयार है.

गैस बंद कर दीजिए और इसे प्याले में निकाल लीजिए. आंवले की मीठी स्वादिष्ट चटनी बनकर तैयार है, आप इसे परांठे, पूरी या ब्रेड पर जैम की तरह लगा कर के खा सकते हैं.

आंवला मीठी चटनी को आप फ्रिज में रख कर के 3-4 महीने तक खा सकते हैं और फ्रिज से बाहर रख कर के 1 माह तक खाने के लिए उपयोग कर सकते हैं.

सुझाव :
चटनी को बीच बीच में चलाते रहें, चटनी कढ़ाई के तले में लगनी नहीं चाहिये.
आंवले की मीठी चटनी बनाने के लिये गुड़ की जगह चीनी का यूज भी किया जा सकता है.
समय - 30 मिनिट

Amla Meethi Chatni - Gooseberry sweet Chutney recipe

Tags

Categories

Please rate this recipe:

3.74 Ratings. (Rated by 4636 people)

  1. 27 November, 2017 05:54:24 AM Aditi

    Thanks maam realy anwle ki chatny k liye sasuraal mein ab maa ki kami nhi khlti aap hain na pehle to baar maa se or bhabhi se poochha krti thi thanks
    निशा: अदिती जी, मुझे खुशी है की ये रेसिपी आपको पसंद आई. आपके इस प्रेम और सहयोग के लिए बहुत बहुत धन्यवाद.

  2. 03 November, 2017 03:40:21 AM MOHIT JINDAL

    hello mamapki saral hindi recipi ke liye thanks
    निशा: मोहित जी, आपके सहयोग के लिए बहुत बहुत धन्यवाद और आभार.

  3. 06 June, 2017 02:00:43 PM deepak singh

    mam kya hum sugar ki bazay desi khand le sakte hain
    निशा: दीपक जी, इसमें गुड़ मिलाया गया है, आप चाहें तो देशी खाड़ भी ले सकते हैं.

  4. 04 April, 2017 01:01:17 AM pushpa bhatt

    Kya hum apna amla jam 8-9 mahina ke lea store kar sakte hai ???
    निशा:पुष्पा जी, अगर जैम पूरी तरह से पका है तब उसे रखा जा सकता है.

  5. 07 March, 2017 06:07:37 AM Gurdit kaur

    Hello ma'am hows you..I wanted to ask that can i also use murabbe ka seera to make chutney? Or is there any kind of problem to use it?
    निशा: गुरदीत जी, आप इस चाशनी को आंवला चटनी में यूज कर सकते हैं, लेकिन आपको इसमें थोड़ी चीनी और मिलानी होगी.

  6. 04 February, 2017 01:07:30 AM Purnima

    How to preserve it for longer period of time without keeping it in fridge?
    निशा: पूर्णिमा जी, ये चटनी आप बिना फ्रिज के भी लम्बे समय 6 महिने तक भी रख सकती हैं.

  7. 18 January, 2017 02:30:39 AM shashi Tak

    nisha Ji chattni mai 1/2 gud 1/2 suger dal sakte hai cardomm big ya green dalegi
    निशा: शशि जी, हां आप डाल सकते हैं. छोटी इलाइची यानिकि ग्रीन इलाइची का इस्तेमाल करना हैं.

  8. 08 January, 2017 06:10:08 AM Aditi gupta

    Hii mam maine amla ki mithi chatni bna h but wo 2 ghante baad bhot hard ho gta h usko mai parathe ke sath kaise khau
    निशा: अदिति जी, आप थोड़ा सा पानी उबाल लीजिए फिर, इस चटनी को उबलते पानी में डालकर मिक्स करते हुए थोड़ी देर पका लीजिए. यह नरम हो जाएगी.

  9. 06 January, 2017 02:30:47 AM girish prapanna

    namste nisha jiaap ki bahut sari resipi se maine banaya hai.mujhe khana banana aur new resipi banana achcha lagta haiaapki madad ke liye dhnywad
    निशा: गिरीश जी, अपना अनुभव शेयर करने के लिए बहुत बहुत धन्यवाद.

  10. 21 December, 2016 07:51:05 AM jyotsna yadav

    I love ur recipes mam
    निशा: ज्योत्सना जी, धन्यवाद.