चन्द्रकला गुजिया – Chandrakala Gujhiya Recipe | Holi Special


जैसे गुझिया होली का मुख्य पकवान है उसी तरह चन्द्रकला भी, आप होली के अवसर पर ये पकवान बनाकर अपने परिवार के सदस्यों और मेहमानों को खिला सकते हैं और स्वाद के तो कहने क्या हैं अगर आपने एक बार बना लिया तो मन करेगा बार बार बनायें.

जिस तरह मावा गुझिया (Mava Karanji) के ऊपर चाशनी की एक परत चढाकर गुझिया बनाई जाती है. उसी तरह चन्द्रकला (Chandrakala Gujhiya) भी चाशनी की परत चढ़ा कर बनाई जाती है, इसमें उपयोग होने वाली सामग्री लगभग एक जैसी ही है लेकिन बनाने में बस थोड़ा ही अन्तर है. होली या दीपावली के अवसर पर गुझिया तो प्रत्येक हलवाई की दुकान पर मिल जायेंगी लेकिन चन्द्रकला बनाना तो बहुत ही कम हो चला है ये तो आप खोजकर मुश्किल से ही किसी बड़ी दुकान से ला सकेंगे, लेकिन घर पर थोड़ी सी मेहनत करके आप ये चन्द्रकला अवश्य बना लेंगी. तो आइये आज हम इस होली के अवसर पर हम चन्द्रकला घर पर ही बनायेगे.

Read : Chandrakala Gujhiya Recipe | Holi Special in English

आवश्यक सामग्री - Ingredient of Chandrakala Gujhiya

चन्द्रकला में भरने के लिये मिश्रण (कसार)

  • मावा - 200 ग्राम (एक कप )
  • सूजी - 50 ग्राम ( 1/3 कप)
  • घी - - 3 टेबल स्पून
  • पिसी चीनी या बूरा - 200 ग्राम ( 1 कप)
  • काजू - 20 - 25 (एक काजू को 6 -7टुकड़े करते हुये काट लीजिये)
  • किशमिश- 4 टेबल स्पून (डंठल तोड़ लिजिये)
  • छोटी इलाइची - 6-7 (छील कर बारीक कूट लीजिये)
  • सूखा नारियल - 50 ग्राम (एक चौथाई कप कद्दू कस किया हुआ)
  • चिरोंजी - 2 टेबल स्पून (साफ कर लीजिये)

चन्द्रकला का आटा तैयार करने के लिये.

  • मैदा- 500 ग्राम ( 5 कप)
  • घी - 125 ग्राम (3/4 कप)
  • घी - गुझियां तलने के लिये
  • चीनी - 600 ग्राम ( 3 कप) चाशनी के लिये

विधि - How to make Chandrakala Ghujhiya

चन्द्रकला के अन्दर भरने के लिये कसार तैयार करें. How to make filling for Chandrakala Gujhiya
भारे तले की कढ़ाई में मावा को ब्राउन होने तक अच्छी तरह भूनिये. (मावा जितना अच्छा भुना होगा, चन्द्रकला अधिक दिनों तक खराब नहीं होगीं). भुने हुये मावा को एक बर्तन में निकाल लीजिये, मावा को ठंडा होने दीजिये.

कढ़ाई में घी डाल कर सूजी को गुलाबी होने तक भून लीजिये.

भुने हुये मावा, भुनी हुई सूजी में चीनी या बूरा, काजू, किशमिश, इलाइची, नारियल और चिरोंजी डाल कर अच्छी तरह से मिलाइये. चन्द्रकला में भरने के लिये कसार (Filling for Gujhiya) तैयार है.

चन्द्रकला बनाने के लिये आटा तैयार कर लें
मैदा को किसी बर्तन में छान कर निकाल लीजिये, घी पिघला कर आटे में डालिये और हाथ से अच्छी तरह मिलाइये, गुनगुने पानी की सहायता से पूड़ियों के आटे से सख्त आटा गूथ लीजिये, आटे को आधा घंटे के लिये गीले कपड़े से ढककर रख दीजिये. चन्द्रकला बनाने के लिये आटा तैयार है.

आधा घंटे बाद आटे को मसल कर मुलायम कीजिये, आटे से छोटी छोटी एक बराबर की लोइयां तोड़िये, इस आटे से इस आकार की करीब 40-50 लोइयां बनाइये. अगर लोइयां 50 - 60 हैं तो 25 से 30 तक चन्द्रकला बन जायेंगी, लोइयों को गीले कपड़े से हमेशा ढककर रखिये. एक लोई निकालिये, पूरी की तरह 2-3 इंच के व्यास में बेलिये, यह पूरी थोड़ी सी मोटी रहनी चाहिये लेकिन सामान्य गुझियां बनाने में यह पूरी पतली रखी जाती है. इसी तरह इसी आकार की 10 पूरी बेल कर थाली में रख लीजिये.

एक पूरी थाली से उठाइये, हथेली पर रखिये, पूरी की निचली सतह ऊपर की तरफ हो, इस पूरी के ऊपर 2 चम्मच कसार रखिये, किनारों से पानी लगाइये, ऊपर से दूसरी पूरी को रखकर किनारों से दबाकर बन्द अच्छी तरह बन्द कीजिये. किनारे को हाथ से गोठिये, गोठने की प्रैक्टिस तो आपको करनी ही होगी, ये चन्द्रकला किसी थाली या कपड़े पर रख सकते हैं. इसी तरह जो दस पूरियां बेली हैं उनकी 5 चन्द्रकला तैयार कीजिये, इन्हैं कपड़े से ढककर रखिये ताकि ये सूखे नहीं क्यों कि सारी चन्द्रकाला बनाने में समय तो लगेगा ही (इसके लिये आप धुली चादर ले सकती हैं). अब फिर से10 पूरियां एक साथ बेलिये और तैयार कीजिये, 5 चन्द्रकला बनाइये थाली में रखिये इन्हें कपड़े से ढक दीजिये, इसी तरह से सारी चन्द्रकला बनाकर तैयार कीजिये और ढककर रखिये.

आपकी सारी चन्द्रकला बन गई है, अब वे तले जाने के लिये तैयार हैं आप चाहें तो 15 - मिनिट का ब्रेक ले सकती हैं.

चन्द्रकला तल लिजिये
मोटे तले की कढाई में घी डाल कर गरम कीजिये, गरम घी में 4 या जितनी कढ़ाई के घी में आसानी से तली जा सके उतनी चन्द्रकला डालिये और धीमी गैस फ्लेम पर ब्राउन होने तक तल लीजिये, तली हुई चन्द्रकला निकाल कर थाली में रखिये. सारी चन्द्रकला इसी तरह से तल कर निकाल लीजिये. हमारी सारी चन्द्रकला तल चुकी है, सिर्फ चाशनी में चढ़ानी बाकी है.

चन्द्रकला को ठंडी होने दीजिये, तब तक हम चाशनी बना कर तैयार करते हैं.

चाशनी तैयार कर लें
किसी बर्तन मे चीनी निकालिये, चीनी की मात्रा का 1/3 पानी (500 ग्राम चीनी में 175 ग्राम पानी) डाल कर मिलाइये, चाशनी बनने के लिये गैस फ्लेम पर रखिये. 3 तार की चाशनी बनाइये ( चाशनी में उवाल आने के बाद 5-6 मिनिट तक पकाइये, चम्मच से चाशनी निकाल कर प्लेट पर 1-2 बूद गिराइये. उंगली और अंगूठे के बीच चिपका कर देखिये, चाशनी को तार के निकालते हुये चिपकना चाहिये). आग बन्द कर दीजिये चाशनी तैयार हो गई है़

चन्द्रकला पर चाशनी की परत चढ़ा लीजिये
1 चन्द्रकला चाशनी में डुबाइये और कलछी से निकाल कर दूसरी थाली में रखिये, इसी तरह दूसरी डुबाकर निकालिये, सारी चन्द्रकला को चाशनी में डुबा कर निकाल लीजिये. चन्द्रकला को एक दूसरे से अलग ही रखिये, 1 घंटा हवा में छोड़िये, पलट दीजिये और 1 घंटे हवा में रख लीजिये. आपकी चन्द्रकला तैयार हो गयीं हैं, देखिये वे कितनी खुबसूरत दिख रही है.

अब ताजा ताजा चन्द्रकला खाइये और अपने यहां पर आये हुये मेहमानों को खिलाइये. बची हुई चन्द्रकला एअर टाइट कन्टेनर में रख लीजिये जब आपका मन इन्हैं खाने का करे तब कन्टेनर से चन्द्रकला निकालिये और खाइये. 15 दिन से अधिक दिनों तक भी यह चन्द्रकला नहीं खराब होंगी.

Chandrakala Gujhiya Recipe video in Hindi
recipe

इस रेसिपी के बारे में सवाल पूछिए.

क्या आपके मन में इस रेसिपी से जुडा़ कोई सवाल है? आप Nishamadhulika.com पर आने वाले लोगों से उसे पूछ सकते हैं : यहाँ क्लिक करें.

Related Questions

Comment(s): 25:

  • on 21 February, 2010 21:51:31 PM
    Nisha ji, Nice recipe,will surely try for Hoi....
  • on 22 February, 2010 00:01:13 AM
    aap ki recipe dekh kar ghar ki yaad dila di...wonderful recipe ..aaj hi banati hu baas yeh chanderkala baand ...gotte kaise hai yeh bata de toh bada acha hoga yehi nahi samajh main aa raha..
    bahut bahut dhanyavad
    gauri
    निशा: गरी आपने कभी कागज में कुछ चीज रख कर पुड़िया बनाई है क्या ? बस बिलकुल उसी तरह किनारे से मोड़ते जाइये, प्रैक्टिस करने से आप ये अवश्य बना लेंगी.
  • on 22 February, 2010 01:56:06 AM
    thanks Nisha for d traditional recipe .I will definitely give it a try on holi.
  • on 22 February, 2010 05:30:07 AM
    thanks,nishaji pl answer these-1. can we use oil insted of ghee fr fring 2.quantity of oil for frying
    निशा: इंदरा,तेल भी प्रयोग में लाया जा सकता है लेकिन घी के स्वाद की अलग बात है. तलने के लिये लगभग 400 ग्राम(2 कप तेल ले लीजिये)
  • on 24 February, 2010 05:01:59 AM
    nisha ji aap ko holi mubarak ho..aap ki chandrkla meri 3 saal ki beti ko bahut pasand aayi.thank you for chandrkla...kya aap long latta bnana btayegi..meri nani bnati thi holi me..pr mujhe nahi aata :{
  • on 24 February, 2010 08:49:51 AM
    nishaji namste,can u clear me why sometime I usewarm
    water
  • on 25 February, 2010 02:02:33 AM
    "मैं अपनी माताश्री से बनवाŠৠँगा..."
    प्रणव सक्सैना amitraghat.blogspot.com
  • on 25 February, 2010 04:52:55 AM
    This recipe in English

    Chandrakala is an important sweet meat made fir Holi just like Gujhiya. You can make this sweet meat for Holi and give it to your family and guests. It tastes awesome and you will feel like having it again and again..

    In the way Chashni is coated on Mava Karanji and Gujhiya. Similary a coating of Chashni is formed on Chandrakala Gujhiya. The ingredients are quite similar but the preparation process is a bit different. During the occasion of Holi or Diwali one can find Gujhiya in almost all sweet shops but it is very hard to find Chandrakala even in big shops. But if you work a little hard Chandrakala Gujhiya can be made at home itself. So let us prepare Chandrakala at home this Holi.

    - Ingredient of Chandrakala Gujhiya

    Stuffing for Chandrakala (kasar)

    Mawa(dried milk) - 200 grams (1 cup)
    Suji(semolina) - 50grams (1/4 cup)
    Ghee - 2 tbsp
    Powdered sugar/Bhura - 200 grams (1 cup)
    Cashew nuts - 20 to 25 (cut 1 nut into 6-7 pieces)
    Raisins - 50 to 60 (remove stems)
    Elaichi(cardamom) - 6 to 7 (peel and grind to make fine powder)
    Dry Coconut - 50 grams (1/4 cup,grated)
    Chironji - 2 tbsp (clean them)

    To prepare dough for Chandrakala

    Flour(maida) - 500 grams ( 2 1/2 cup)
    Ghee - 125 grams (3/4 cup)
    Ghee - to fry Gujhiya
    Sugar - 500 grams( 2 1/2 cup) for Chashni

    - How to make Chandrakala Ghujhiya

    Let us prepare the Kasar to be filled in the Chandrakala.

    -How to make filling for Chandrakala Gujhiya

    Fry Mawa in a heavy based utensil till it turns brown(if Mawa is fried properly, Chadrakala last for much long). Take out fried Mawa in a utensil and let it cool.

    Put Ghee in a frying pan(kadhai), put Suji in Ghee and fry till it turns pink.

    Put fried Mawa in fried Suji along with powdered sugar/Bhura, cashew nuts, raisins, Elaichi coconut and Chironji. Mix all the ingredients properly. Stuffing required to fill inside Chandrakala is ready..

    Prepare dough for Chandrakala

    Filter the flour and keep in a utensil. Melt Ghee, put it in the flour then mix properly with your hand. Knead a hard dough(similar to puri) using warm water, cover the dough with a wet cloth and keep aside for 30 minutes. Dough is ready to make Chandrakala.

    After half an hour press the dough to make it soft, break small pieces of the dough(around 30-40 pieces). If you make 40-50 pieces then 20-25 Chandrakalas can be made out of those. Take one dough piece, roll it like a Puri with a diameter of 2-3 inches. This Puri should be a bit thick but it should be kept thin while preparing other Gujhiyas. Roll 10 Puris of this same size and keep on a plate.

    Pick 1 Puri from the plate, keep it on your palm(Puris lower surface should be faced upwards). Now place 2 tsp Kasar on the Puri,apply water on the edges then place another Puri on top. Press the edges and close the stuffing in between the 2 Puris. Twist the edges, you need to practice how to twist, Place this Chandrakalas on a plate or cloth. Similarly prepare 5 Chandrakalas with the 10 Puris, cover them with a cloth to prevent them from drying as it takes time to prepare all of them(you can use a washed sheet for this. Now roll 10 more Puris and make 5 Chandrakalas with them then cover them all.

    All your Chandrakalas are made, they are ready to be fried. You can take a 15 minute break if you want.

    Fry Chandrakala

    Heat oil in a heavy based frying pan(kadhai), put 4 or as many Chandrakalas that can be fried in the Ghee(in the pan). Fry them till they turn brown on a low flame, take out the fried Chandrakalas. All of our Chandrakalas have been fried, we only have to coat them with Chashni.

    Allow Chandrakalas to cool, till then let us prepare the Chashni.

    Prepare Chashni

    Put 500 grams sugar in any utensil then add 250 grams of water to it. Stir the sugar a bit so that it mixes with water. Cook Chashni till it comes to boil, then cook for 5-6 minutes.Pour one drop of Chashni in a bowl and after it cools off place it on your finger. Now try to stick the drop between your thumb and index finger. While separating the fingers 2 thread looking substances should come out of Chashni. Turn off the gas, Chashni is ready.

    Coat Chandrakala with Chashni

    1. Dip Chadrakala in the Chashni, take it out with a ladle and keep in another plate. Similalr dip another Chandrakala, dip all Chandrakalas in Chashni and take them out. Keep Chandrakalas separated from each other, leave them in open air for 1 hour then turn them over and leave for another 1 hour. Your Chandrakala is ready, you can see they llok so pretty.

    Eat these fresh Chandrakalas and also offer them to the guests at your place. Fill the remaining Chandrakalas in an air-tight container, take them out whenever you want to eat. These Chandrakalas stay fresh up to 15 or more days.
  • on 27 February, 2010 03:09:18 AM
    chandrakala ko kitne time tak chasni me dalna h yadi jadaa time tak dale to kya hoga
    निशा: वन्दना, चन्द्रकला को चाशनी में डाल कर तुरन्त ही निकाल लीजिये.
  • on 27 February, 2010 05:59:43 AM
    nishaji iam an astrologer ihave not spare time to make different recepies but since i met u on site i want to prepare different dishes. yesterday first time i make gujias at home .all the family members liked very much.they thought that why i have not prepared such gujias for a long time when i knew the recepie .thankyou very much.
  • on 28 March, 2010 08:47:03 AM
    hi nisha ji.......your recipes my god...it was so gud....lekin aapse 2 questions puchne the........plzzzz aap reply kijiyega....1...can we use pure ghee instead of oil...2 aap humein icecream ki recipes kab dijiyega.........plzzzzzz answer kijiye
    निशा: वर्तिका, चन्द्रकला तो घी में ही अच्छी बनती है. मैं आइसक्रीम की रैसिपी जल्दी ही लिखूगी.
  • on 05 April, 2010 08:48:55 AM
    I like the recipes of this web site.
  • on 14 May, 2010 05:09:05 AM
    mujhe aap or sweet banana ki recipe batiye.ye mujhe bhuat ache lagi maine bana kar kai
  • on 30 August, 2010 18:39:58 PM
    nishaji,pls kya aap chandrkala ki video recipe apni recipes mein de sakti hai?
  • on 10 January, 2011 08:11:43 AM
    i like ur recipes.
    pls give me malpuas recipes & instant aaloo/raw banana wafer.

    निशा: सेजल, Malpua Recipes के लिये यहां क्लिक कीजिये. Raw Banana Chips Recipe यहां है. आलू के चिप्स के लिये मेरी जल्द ही कोशिश होगी
  • on 24 January, 2011 02:14:08 AM
    hi nishaji,

    mere husband ghar par rehte hai to please koi mardo wali dish batao...please
  • on 11 October, 2011 14:16:20 PM
    BHarti From Ahmemdabad .Achcha aur sarl tarika hai swadist mithaeya banane ka .main es Diwali Jarur Try karungi Thank NIsha Ji.........Keep it on
  • on 03 November, 2011 19:49:44 PM
    Hi Nisha ji,

    The chandrakalas looks superb. Will try to make them very soon....though Diwali had gone and Holi is very far but will make them and create my own festival day...thnx for the recipe and keep it going like this...
  • on 19 December, 2011 09:10:36 AM
    Hi Nisha ji..
    apki sari recipe ki trah ye v bhut achi or easy h.
    Nisha ji chasni me jb chandrakala dalenge tb gas on hoga ya off?
    Pls rply soon...

    निशा:
    चाशनी बनाने के बाद गैस बन्द कर देंगे और गुझिया को डिप करेंगे.
  • on 24 February, 2012 00:38:14 AM
    nisha je.aap launglaata ki recepie banane ki vidhi bhi bataiye na.
  • on 08 March, 2012 19:38:43 PM
    gujiya aur chandrakala ki filling mein kya koi difference hai ya dono ke liye same hi banege filling... please mera confusion door karein...

    निशा: रश्मि, दोंनो की फिलिंग एक ही तरीके से बनाई जाती हैं.



    • on 09 March, 2012 20:52:53 PM
      thx nisha ji... maine aapse bahut kuch seekha hai ... aap jab khana banana seekhate hai to jo khushi aapke face par dikhte hai wo mujhe protsahit karte hai khana banane ke liye... god bless u nd aap humesha hum sabko aise hi sikhate rahein...
  • on 10 March, 2012 11:01:28 AM
    नमस्कार निशाजी होली कैसी रही. आप बहुत मोके पर रेसिपी बताती है , इसके लिए धन्यवाद. हम होली पर चंद्रकला गुझिया नहीं बना पाए पर फिर कभी जरुर बनायेगे और अपने अनुभव आपके साथ शेयर करेंगे. बहुत दिन से मैं सोच रही हु कि आपने बहुत सी पेय रेसिपी साईट पर दी हुई है, पर मैं आपसे गुजारिश करती हु कि प्लीज जो बहुत कॉमन पेय (चाय व कोफी) है, भी जरुर बनाना सिखाये, हालाँकि ये सबको बनाने आते होंगे पर फिर भी .......मुझे लगता है, ये आपके साईट पर होने चाहिए. अगर सुझाव अच्छा लगा तो मुझे बहुत ख़ुशी होगी. धन्यवाद निशाजी.

    निशा: धन्यवाद शर्मिल, आपका सुझाव अच्छा है, मैं कोशिश करूंगी.
    • on 15 August, 2012 14:49:00 PM
      nisha ji very very thanks mene aapki di gai kafi saari recipes bana bana k dekhi he bohot achhi banti he kisi cheez ki bhi kami nahi he kya aap mujhe daal baati choorma ki recipe bhi batayengi plz nisha ji
  • on 17 May, 2014 00:26:46 AM
    NISHA Ji -plz aap muze Long Latta banane ki resepi bataiye ....
    निशा: यामी जी, अवश्य मैं इसे बनाने की कोशिश करती हूँ.

Submit your question

Log in

Become a member free and get access to advanced features.

Latest Recipes

More Recipes >>