sitelogo
Horoscope English Q and A

प्रसाद बूंदी - उरद दाल की बूंदी - Prasad Boondi Recipe

Prasad Boondi Recipe


प्रसाद की बूंदी बेसन की बूंदी से साइज में थोड़ी बड़ी और स्वाद में अलग होतीं है. इन्हें गोंदी भी कहा जाता है. मंगलवार के दिन हनुमान पर प्रसाद में भी इन्ही बूंदी को बनाया जाता है. हम इन्हें घर में भी बड़ी आसानी से बना सकते हैं.

Read - Prasad Boondi Recipe In English

आवश्यक सामग्री

  • मैदा - 1 कप (150 ग्राम)
  • उडद दाल - ¼ कप (50 ग्राम) भिगो कर ली हुई
  • लाल रंग - 1/2 पिंच
  • बेकिंग पाउडर - ½ छोटी चम्मच
  • चीनी - 3 कप (750 ग्राम)
  • इलायची पाउडर - ½ छोटी चम्मच
  • तेल - तलने के लिए

विधि - How to make Boondi Prasad

बूंदी बनाने के लिए सबसे पहले चाशनी तैयार कीजिए. इसके लिए एक बर्तन में 3 कप चीनी और 1 कप पानी डाल कर चीनी को पानी में घुलने तक पका लीजिए.

बूंदी के लिए बैटर तैयार कीजिये, धुली उड़द की दाल अच्छे से साफ करके धोकर पानी में 2 घंटे के लिए भिगो कर रख दीजिए इसके बाद दाल से अतिरिक्त पानी हटा करके दाल ले लीजिए.

भीगी दाल को मिक्सर जार में डाल कर, थोड़ा सा पानी डालकर बारीक पीस लीजिए.

एक बड़े प्याले में मैदा निकाल लीजिए इसमें बेकिंग पाउडर और आधा चुटकी भर खाने वाला लाल रंग डाल दीजिए. अब इस मिश्रण में थोडा़ थोडा़ पानी डालते हुए गुठलियां खत्म होने तक अच्छा चिकना घोल बना कर तैयार कर लीजिए.

घोल तैय़ार हो जाने पर इसमें पिसी हुई उड़द की दाल डाल दीजिए और अच्छे से मिलने तक मिला लीजिए.
इधर चाशनी को चैक कीजिए, चाशनी में तार बनने लगे तो चशनी बन चुकी है, गैस बंद कर दीजिए. चाशनी में इलायची पाउडर डालकर अच्छी तरह मिला कर दीजिए.


कढा़ई में तेल डालकर गरम कीजिए. तेल के अच्छा गरम होने पर बूंदी बनाएं. मोटे छेदों वाली कलछी लीजिए और इसे उलटा करके, उलते हाथ में कढ़ाई के ऊपर, थोड़ी सी दूरी रखते हुये पकड़िये. इसके ऊपर बूंदी का घोल डाल दीजिए और हाथ से बैटर को दबाते हुये बूंदी बनाइये, कलछी से मोटी बूंदी निकल कर तेल में गिरती हैं, ओर सिक कर, तेल के ऊपर आकर तैरने लगती हैं. कढ़ाई में जितनी बूंदी आसानी से आ जायं उतनी बूंदी डाल दीजिये और बूंदी को हिला हिला कर अच्छी गोल्डन ब्राउन होने तक तल लीजिये.

तली बूंदी को जाली वाले बड़े झावे से निकाल कर चाशनी में डाल दीजिये और चमचे से डुबा दीजिये, 1-2 मिनिट बूंदी को चाशनी में ही रहने दीजिए, जब तक चाशनी बूंदी चाशनी को सोक रही है तब तक आप और बूंदी तलने के लिए डाल दीजिए और जब तक बूंदी तलकर तैयार होती है तब तक आप चाशनी में डुबो कर रखी बूंदी को निकाल कर अलग थाली में रख लीजिए और दूसरी तली बूंदी चाशनी में डालकर रख दीजिए. इसी तरह सारी बूंदी बना कर तैयार कर लिजिए. स्वादिष्ट मीठी प्रसाद की बूंदी बनकर के तैयार है

सुझाव:

  • बूंदी के लिए घोल न ज्यादा पतला होना चाहिए न ही ज्यादा गाढ़ा हो, एकदम सही कंसिस्टेंसी का घोल होना चाहिये.
  • बूंदी तलने के लिए तेल अच्छा गरम होना चाहिए. अगर तेल गरम नही होगा तो बूंदी आपस में चिपकी चिपकी बनती हैं.
  • बूंदी को चाशनी से निकाल लेने के बाद, थाली में रखी बूंदी को बीच-बीच में चमचे से हिलाते रहें ताकि वह चिपक कर इकठ्ठी न हो जाय, उसे अलग अलग करते रहें.
  • कलछी जिससे बूंदी बना रहे हैं उसे एक बार बूंदी कढ़ाई में डालने के बाद, और दूसरी बार बूंदी बनाने से पहले साफ कीजिये, उसके छेद पूरी तरह से खुले रहें, गोल और अच्छी बूंदी बनती रहेंगी.

1.25 किग्रा बूंदी के लिये
समय - 60 मिनिट

Prasad Boondi Recipe video

Please rate this recipe:

3.66 Ratings.

recipe

इस रेसिपी के बारे में सवाल पूछिए.

क्या आपके मन में इस रेसिपी से जुडा़ कोई सवाल है? आप Nishamadhulika.com पर आने वाले लोगों से उसे पूछ सकते हैं : यहाँ क्लिक करें.

Comments (16)

Monika on 13 February, 2016 01:55:33 AM

Hello mam,
U r really awesome.
Thanks

निशा: मोनिका जी, बहुत बहुत धन्यवाद.

Suman on 13 February, 2016 02:05:48 AM

Hello mam ,nice recipe.is it like besan boondi.

निशा: सुमन जी, बहुत बहुत धन्यवाद.

Anuradha mishra on 13 February, 2016 03:12:13 AM

mai ise bnakar dekhti hu. aapne achi chij btai, thanks

निशा: अनुराधा जी, आप इसे बनाएं और अपने अनुभव हमारे साथ जरूर शेयर कीजिए.

Mohini on 14 February, 2016 22:39:47 PM

thanks mam for delightful dishes. mam kya khari ki recipy dege

Aprajita on 18 February, 2016 02:41:50 AM

निशा जी, आप बहुत ही अच्छी रेसिपी बताती हैं, क्या बखलावा (एक प्रकार की प्राचीन मिठाई) की विधि बतायेंगी?
निशा: अपराजिता जी, मैं इसे बनाने की कोशिश करुंगी.

Monika tanwar on 03 March, 2016 00:21:16 AM

Very nice recipe mam..thank u so much

निशा: मोनिका जी, बहुत बहुत धन्यवाद.

Payal sharma on 15 March, 2016 08:39:23 AM

jai shree ram nisha aunty....
yeh prasad boondi recipe main ne try ki or bht hi yummmmmmmy bani boondi.......sbko bht pasand aai....
thank u aunty....

निशा: पायल जी, बहुत बहुत धन्यवाद.

Yashasvi on 22 March, 2016 07:21:28 AM

Nisha mam I am a very big fuan of your recipes.especially this one was a great one . Thank you so much.

निशा: यशस्वी जी, बहुत बहुत धन्यवाद.

Kaveri on 12 May, 2016 02:20:44 AM

निशा जी, इसकी चाशनी कितने तार की बनानी है?
निशा: कावेरी जी. 2 तार की चाशनी बना लीजिये.

Priya on 11 June, 2016 00:34:17 AM

very perfect way to teach us Mam jii.
perfect,u teach us in a very proper way..in a medium speed.
i love it

निशा: प्रिया जी, बहुत बहुत धन्यवाद.

Siddhi on 21 June, 2016 02:06:05 AM

Thank u mam kafi achhi recipe h ... But Kya bundi besan ki nahi banti

निशा: सिद्धी जी, बहुत बहुत धन्यवाद.

Harshita on 05 July, 2016 22:19:38 PM

Thank u so much Nisha ji for sharing these nice recipes. I have cooked many items by learning from this website. Your instructions are quite perfect.

निशा: हर्षिता जी, बहुत बहुत धन्यवाद.

Preeti on 08 September, 2016 04:04:42 AM

mam hum aate ke naan bhi bana sakte h naa
निशा: प्रीती जी हां अवश्य बना सकते हैं.

Priyanka on 23 September, 2016 08:47:00 AM

Mam boondi ko chashni me kitni der rkhna hota h

निशा: 1-2 मिनिट बूंदी को चाशनी में ही रहने दीजिए.

Shraddha bhatt on 07 November, 2016 06:08:32 AM

mam maine boondi bnaye the per jaese fulni chaye the baese fuli nhi aesa kyo mam?

निशा: श्रद्धा जी, बैटर ज्यादा पतला या गाढ़ा न हो, इसमें बेकिंग सोडा डाला गया है वह सही हो, और बूंदी को तेल के अच्छे से गरम होने पर ही डालें, बूंदी फूलेंगी और अच्छी बनेंगी.

Sonia on 10 November, 2016 04:33:02 AM

I like your all recipes mam.

निशा: सोनिया जी, धन्यवाद.

Click here to log in

Become a member free and get access to advanced features.

Latest Recipes

More Recipes
इस ब्लाग की फोटो सहित समस्त सामग्री कापीराइटेड है जिसका बिना लिखित अनुमति किसी भी वेबसाईट, पुस्तक, समाचार पत्र, सॉफ्टवेयर या अन्य किसी माध्यम से प्रकाशित या वितरण करना मना है.