sitelogo
Horoscope English Q and A

जिमीकंद का अचार - Yam Pickle - Yam Pickle Recipes

जिमीकंद का अचार - Yam Pickle - Yam Pickle Recipes


जिमीकन्द या सूरन के शेल्फ लाइफ भले ही कम होती है लेकिन गुण और स्वाद में इसका कोई मुकाबला नहीं. आप चाहे तो इसे तुरन्त बना कर भी प्रयोग कर सकते हैं.

Read - Yam Pickle - Yam Pickle Recipes In English

आवश्यक सामग्री - Ingredients for Suran Ka Achar

  • जिमीकंद - 250 ग्राम
  • नमक - 1.5 छोटी चम्मच
  • मेथी दाना - 2 टेबल स्पून (दरदरी पिसी हुई)
  • पीली सरसों - 2 टेबल स्पून (दरदरी पिसी हुई)
  • हींग - 2-3 पिंच
  • हल्दी - 1 छोटी चम्मच
  • अजवायन - 1/2 छोटी चम्मच
  • लाल मिर्च पाउडर - 1 छोटी चम्मच
  • सिरका - 3 टेबल स्पून
  • सरसों का तेल - ¼ कप (4-5 टेबल स्पून)
  • काली मिर्च - ½ छोटी चम्मच

विधि - How to make Yam Pickle

जिमीकंद को छीलकर ½-½ इंच के छोटे-छोटे टुकडों में काट लीजिए. अच्छी तरह धोकर कुकर में डाल दीजिए और 1 कप पानी डाल कर उबाल लीजिए. 1 सीटी आने पर गैस धीमी कर दीजिए और धीमी आंच पर 2-3 मिनिट और उबलने दीजिए. गैस बन्द कर दीजिये और कुकर का प्रेशर खतम होने पर जिमीकंद को कुकर से निकाल लीजिये.

जिमीकंद को छलनी में डाल लीजिए, अतिरिक्त पानी निकलने के बाद, सूती कपडे़ के ऊपर फैलाकर 2 घंटे के लिए धूप में या पंखे के नीचे रख कर सुखा लीजिए.

जिमीकंद के सूख जाने के बाद, प्याले में रख लीजिए. अब नमक, मेथी दाने का पाउडर, पीली सरसों का पाउडर, हींग, हल्दी पाउडर, अजवायन, लाल मिर्च पाउडर, सिरका और सरसों का तेल डालकर अच्छी तरह मिलने तक मिला लीजिए. काली मिर्च पाउडर भी डाल कर मिला दीजिए. अचार बनकर तैयार है.


अचार को आप अभी भी खा सकते हैं, लेकिन अचार का असली स्वाद 3 दिन बाद ही आता है जब मसाले अच्छी तरह जिमीकन्द के टुकड़ों में जज़्ब हो जाएंगे. अचार को रोजाना 1 बार चमचे से ऊपर-नीचे करते हुये मिला दीजिये. जिससे मसाले सही से मिक्स हो जायेंगे.

अचार के कन्टेनर को धूप हो तो धूप में 3-4 दिन के लिये रख दीजिए और यदि धूप नहीं तो अन्दर ही रखा रहने दीजिये.

जिमीकंद के अचार को 1 माह तक खाने के लिए उपयोग किया जा सकता है. अचार को फ्रिज में रख कर खायेंगे तब अचार को 6 माह तक रख कर खाया जा सकता है.

सुझाव:

  • अचार बनाते समय जो भी बर्तन इस्तेमाल करें, वे सब सूखे और साफ हों. अचार में किसी तरह की नमी और गन्दगी नहीं जानी चाहिये.
  • अचार के लिये कन्टेनर को उबलते पानी से धोइये और धूप में अच्छी तरह सुखा लीजिये. कन्टेनर को ओवन में भी सुखाया जा सकता है.
  • जब भी अचार कन्टेनर से निकालें, साफ और सूखे चम्मच का प्रयोग कीजिये, अचार जल्दी खराब नहीं होते.

Jimikand Pickles Recipe - Yam Pickle recipe

Please rate this recipe:

3.96 Ratings.

recipe

इस रेसिपी के बारे में सवाल पूछिए.

क्या आपके मन में इस रेसिपी से जुडा़ कोई सवाल है? आप Nishamadhulika.com पर आने वाले लोगों से उसे पूछ सकते हैं : यहाँ क्लिक करें.

Related Questions


Comments (11)

Ankita singh on 16 March, 2015 20:02:51 PM

very nice l like this picle its very testy..

Pratap on 17 March, 2015 21:48:40 PM

Thanks Mam! Very Nice Pickle Recipe.
Please Mam, "Bhakharwadi Namkeen" ki recipe bhee batayen.
निशा: प्रताप जी, भाखरवड़ी नमकीन की रेसिपी चैनल पर उपलब्ध है, इसके लिये लिंक निम्न है.

Bandevi singh on 17 March, 2015 23:31:02 PM

Thank you ma'am for this recipe

Fatima aziz on 23 March, 2015 07:06:59 AM

Thanks nishaji I liked it very much

Dr sonali on 12 May, 2015 05:16:24 AM

U r recipies r..very healthy& Tastety..Thanxs.a lot.u dont show Non veg recepies?

Bhojpal vaman on 29 May, 2015 06:43:17 AM

जिमीकंद काटने में खुजली होती हैं ।उपाय बताये की काटने में खुजली ना हो।

Poonam gupta on 10 November, 2015 21:38:42 PM

Hello Mam
Your all recipes is very tasty and easy method to make
Thank u very much.

निशा: पूनम जी, आपका बहुत बहुत धन्यवाद.

Mrs.diksha rahul thakre on 10 March, 2016 21:30:02 PM

my faverait racipes

निशा: दीक्षा जी, बहुत बहुत धन्यवाद.

Rani on 15 August, 2016 23:02:10 PM

मैडम क्या विनेगर की जगह हम नींबू प्रयोग में ला सकते है ?

निशा: रानी जी, कर सकते हैं.

पुस्पा कुमारी on 19 October, 2016 20:14:26 PM

अचार को प्लास्टिक के बरतन मे रख सकते है

निशा: पुस्पा जी, बिल्कुल रख सकते हैं.

Kalpana on 11 January, 2017 06:16:22 AM

Thanks mam
Aapki sari recipes bhut taste or easy method to take

निशा: कल्पना जी, धन्यवाद.

Click here to log in

Become a member free and get access to advanced features.

Latest Recipes

More Recipes
इस ब्लाग की फोटो सहित समस्त सामग्री कापीराइटेड है जिसका बिना लिखित अनुमति किसी भी वेबसाईट, पुस्तक, समाचार पत्र, सॉफ्टवेयर या अन्य किसी माध्यम से प्रकाशित या वितरण करना मना है.