चन्द्रकला गुजिया – Chandrakala Gujhiya Recipe | Holi Special


जैसे गुझिया होली का मुख्य पकवान है उसी तरह चन्द्रकला भी, आप होली के अवसर पर ये पकवान बनाकर अपने परिवार के सदस्यों और मेहमानों को खिला सकते हैं और स्वाद के तो कहने क्या हैं अगर आपने एक बार बना लिया तो मन करेगा बार बार बनायें.

जिस तरह मावा गुझिया (Mava Karanji) के ऊपर चाशनी की एक परत चढाकर गुझिया बनाई जाती है. उसी तरह चन्द्रकला (Chandrakala Gujhiya) भी चाशनी की परत चढ़ा कर बनाई जाती है, इसमें उपयोग होने वाली सामग्री लगभग एक जैसी ही है लेकिन बनाने में बस थोड़ा ही अन्तर है. होली या दीपावली के अवसर पर गुझिया तो प्रत्येक हलवाई की दुकान पर मिल जायेंगी लेकिन चन्द्रकला बनाना तो बहुत ही कम हो चला है ये तो आप खोजकर मुश्किल से ही किसी बड़ी दुकान से ला सकेंगे, लेकिन घर पर थोड़ी सी मेहनत करके आप ये चन्द्रकला अवश्य बना लेंगी. तो आइये आज हम इस होली के अवसर पर हम चन्द्रकला घर पर ही बनायेगे.

Read : Chandrakala Gujhiya Recipe | Holi Special in English

आवश्यक सामग्री - Ingredients for Chandrakala Gujhiya

आटा लगाने के लिए

  • मैदा- 2 कप
  • घी- ½ कप

स्टफिंग के लिए

  • मावा- 100 ग्राम
  • पाउडर चीनी- ½ कप
  • सूजी- ¼ कप
  • नारियल- ¼ कप (कद्दूकस किया हुआ)
  • किशमिश- 2 टेबल स्पून
  • काजू- 10 से 12
  • चिरौंजी- 2 टेबल स्पून
  • इलाइची- 6 से 7
  • चीनी- 2 कप चाशनी के लिए
  • घी- गुजिया तलने के लिए

विधि - How to make Chandrakala 

आटा गूंथिए
मैदा में ¼ कप घी डालकर अच्छे से मिक्स कर लीजिए. फिर, इसमें थोड़ा-थोड़ा गुनगुना पानी डालते हुए पूरी जैसा सख्त आटा गूंथ लीजिए. आटे को ढककर आधा घंटे के लिए सैट होने रख दीजिए. इतनी मात्रा का आटा तैयार करने में ½ कप पानी लग जाता है.

स्टफिंग/ कसार तैयार कीजिए
मावा को बारीक-बारीक तोड़ लीजिए. पैन में थोड़ा सा घी डालकर गरम कीजिए. इसमें मावा डाल दीजिए और मावा को मध्यम आंच पर लगातार चलाते हल्का ब्राउन होने तक भून लीजिए. मावा से घी अलग होने पर, मावा भुनकर तैयार है. इसे एक प्याले में निकाल लीजिए.

उसी पैन में 2 से 3 छोटी चम्मच घी और फिर सूजी डाल दीजिए. सूजी को भी लगातार चलाते हुए गोल्डन ब्राउन होने तक भून लीजिए. इसके बाद, गैस बंद कर दीजिए. भुनी हुई सूजी को मावा में डालकर मिक्स कर दीजिए तथा इन्हें ठंडा होने दीजिए. इसी बीच, प्रत्येक काजू को 6 से 7 टुकड़ों में काट लीजिए. मावा और सूजी के मिश्रण के ठंडा होने के बाद, काजू, चिरौंजी, किशमिश, कुटी इलाइची और पाउडर चीनी डाल दीजिए. सभी सामग्री को अच्छे से मिक्स कर लीजिए.

पूरियां बेलिए
आटे के सैट होने पर आटे को हल्का सा मसलकर चिकना कर लीजिए. इसके बाद. आटे से छोटी-छोटी बराबर की लोइयां तोड़ लीजिए. लोइयों को गोल-गोल करके चिकने पेड़े तैयार कर लीजिए. एक पेड़ा लीजिए और बाकी को गीले कपड़े से ढक दीजिए. पेड़े को किनारे से बेलकर 3 से 4 इंच व्यास की पूरी तैयार कर लीजिए. इसे बहुत ज्यादा पतला मत बेलिए. इसी तरह थोड़ी और पूरियां बेलकर रख लीजिए.

पूरियां भरिए
पूरी के बीच में 1 छोटी चम्मच भरकर स्टफिंग रख दीजिए और किनारों पर उंगली से थोड़ा सा पानी लगा दीजिए.
इसके बाद, स्टफिंग के ऊपर दूसरी पूरी रखिए और दोनों पूरी को किनारे से आपस में चिपका दीजिए. गुजिया को गोटकर यानिकि चारों ओर दबाकर मोड़कर एक डिजाइन बना लीजिए. गुजिया को एक प्लेट पर रखकर कपड़े से ढक दीजिए. इसी प्रकार बाकी गुजिया बना लीजिए.

गुजिया तलिए
एक कढ़ाही में पर्याप्त मात्रा में घी डालकर गरम कीजिए. घी के मध्यम गरम होने पर कढ़ाही में 3 से 4 गुजिया डाल दीजिए. गुजिया को दोनों ओर से गोल्डन ब्राउन होने तक मध्यम-धीमी आंच पर तल लीजिए. इसके बाद, इन्हें एक प्लेट में निकाल लीजिए और सारी गुजिया इसी तरह सेक लीजिए. एक बार की गुजिया तलने में 7 से 8 मिनिट लग जाते है. प्लेट पर गुजिया को फैलाकर रख दीजिए और इन्हें 1 घंटे के लिए ठंडा होने के लिए ऎसे ही छोड़ दीजिए.

चाशनी बनाइए
गुजिया के लिए चाशनी बना लीजिए. कड़ाही में चीनी और ¾ कप पानी डाल दीजिए और चीनी के पूरी तरह से घुलने बाद और के 6 से 7 मिनिट तक पका लीजिए. इसके बाद, चाशनी की कुछ बूंदे प्याली में डालकर इसकी कन्सिस्टेन्सी चैक कर लीजिए. इनके ठंडा होने के बाद, उंगली के बीच बूंदे चिपका कर देखिए, अगर उंगली को स्ट्रेच करते समय 2 तार बनते दिखें, तो चाशनी बनकर तैयार है, गैस बंद कर दीजिए. चाशनी के बर्तन को जाली स्टेन्ड पर रख लीजिए.

गुजिया पागिए
एक-एक करके गुजिया चाशनी में डुबाइए और इन पर चाशनी की एक समान परत चढ़ाकर एक प्लेट में रख लीजिए. जब तक गुजिया के ऊपर चाशनी पूरी तरह सूख नही जाती, तब तक इन्हें ऎसे ही रखे रहने दीजिए. उसके बाद, गुजिया सर्विंग के लिए एकदम तैयार हो जाएंगी. 

दिखने में आकर्षक और स्वाद में उम्दा,  चन्द्रकला गुजिया से सभी का मुंह मीठा कराइए. 

सुझाव

  • सूजी न डालना चाहें, तो सिर्फ मावा से भी गुजिया बना सकते हैं. 
  • आटा ज्यादा सख्त या अधिक नरम नही होना चाहिए. 
  • आप अपनी पसंदानुसार स्टफिंग में कोई भी मेवे डाल सकते हैं. अपने स्वादानुसार मेवे की मात्रा कम या ज्यादा रख सकते हैं. 
  • धीमी और मध्यम आंच पर ही गुजिया तलें. 
  • गुजिया की पूरी थोड़ी मोटी बेलें. 
  • गुजिया को भरकर किनारे अच्छे से चिपकाएं और सही तरह से गोटकर तैयार करे. गुजिया बिल्कुल भी खुलनी नही चाहिए. 
  • गुजिया को रखते और उठाते समय खास ध्यान रखें कि चम्मच या उंगली कही भी गुजिया में न लगे जिससे गुजिया कट या फट जाए.
  • अगर आप चन्द्रकला गुजिया को कम मीठा बनाना चाहते हैं तो इन पर चाशनी की परत मत चढ़ाइए.

Chandrakala Gujhiya Recipe video in Hindi

Tags

Categories

Please rate this recipe:

4.03 Ratings. (Rated by 4825 people)

  1. 31 December, 2014 02:01:24 AM shobhana

    thank u i tested one time but not know how it make so thank u

  2. 21 September, 2014 06:00:27 AM yami

    Mam aapne long latta banaya ??? Aap iski recipe btayegi ...
    निशा: लोंग लतिका जी मैं इसे जल्दी ही बनाने की कोशिश करती हूँ.

  3. 17 May, 2014 12:26:46 AM yami

    NISHA Ji -plz aap muze Long Latta banane ki resepi bataiye ....
    निशा: यामी जी, अवश्य मैं इसे बनाने की कोशिश करती हूँ.

  4. 15 August, 2012 02:49:00 PM harinder

    nisha ji very very thanks mene aapki di gai kafi saari recipes bana bana k dekhi he bohot achhi banti he kisi cheez ki bhi kami nahi he kya aap mujhe daal baati choorma ki recipe bhi batayengi plz nisha ji

  5. 10 March, 2012 11:01:28 AM sharmil

    नमस्कार
    निशाजी होली कैसी रही. आप बहुत मोके पर रेसिपी बताती है , इसके लिए धन्यवाद. हम होली पर चंद्रकला गुझिया नहीं बना पाए पर फिर कभी जरुर बनायेगे और अपने अनुभव आपके साथ शेयर करेंगे. बहुत दिन से मैं सोच रही हु कि आपने बहुत सी पेय रेसिपी साईट पर दी हुई है, पर मैं आपसे गुजारिश करती हु कि प्लीज जो बहुत कॉमन पेय (चाय व कोफी) है, भी जरुर बनाना सिखाये, हालाँकि ये सबको बनाने आते होंगे पर फिर भी .......मुझे लगता है, ये आपके साईट पर होने चाहिए. अगर सुझाव अच्छा लगा तो मुझे बहुत ख़ुशी होगी. धन्यवाद
    निशाजी.
    निशा:
    धन्यवाद शर्मिल, आपका सुझाव अच्छा है, मैं कोशिश करूंगी.

  6. 09 March, 2012 08:52:53 PM rashmi

    thx nisha ji... maine aapse bahut kuch seekha hai ... aap jab khana banana seekhate hai to jo khushi aapke face par dikhte hai wo mujhe protsahit karte hai khana banane ke liye... god bless u nd aap humesha hum sabko aise hi sikhate rahein...

  7. 08 March, 2012 07:38:43 PM rashmi

    gujiya aur chandrakala ki filling mein kya koi difference hai ya dono ke liye same hi banege filling... please mera confusion door karein...
    निशा:
    रश्मि, दोंनो की फिलिंग एक ही तरीके से बनाई जाती हैं.

  8. 24 February, 2012 12:38:14 AM kavita

    nisha je.aap launglaata ki recepie banane ki vidhi bhi bataiye na.

  9. 19 December, 2011 09:10:36 AM Mehzabitaj

    Hi Nisha ji..apki sari recipe ki trah ye v bhut achi or easy h.Nisha ji chasni me jb chandrakala dalenge tb gas on hoga ya off?Pls rply soon...
    निशा:
    चाशनी बनाने के बाद गैस बन्द कर देंगे और गुझिया को डिप करेंगे.

  10. 03 November, 2011 07:49:44 PM Gouri

    Hi Nisha ji,The chandrakalas looks superb. Will try to make them very soon....though Diwali had gone and Holi is very far but will make them and create my own festival day...thnx for the recipe and keep it going like this...