mooli

mooli | mooli in Hindi

खाने के साथ में अचार होते हैं तो खाने का स्वाद बढ़ जाता है और भूख भी बढ़ जाती है. मौसम के हिसाब से सब्जियों के अचार भी कई तरह के बनाये जाते हैं जो 15-दिन से 1 माह तक रख कर खाये जा सकते हैं इसी

मूली की चटनी कई तरीके से बनाई जाती है. दक्षिणी भारत में बनाई जाने वाली मूली की चटनी (Mullangi Chutney) की खास अपनी महक और स्वाद है, ये मूली की चटनी इडली, दोसे और चावल के साथ खाई जाती है.

मूली और दही से बनी इस चटनी का स्वाद जितना लाजबाब है बनाने में यह उतनी ही आसान है.