गुलाब जल - How to make Gulab Jal at home


गुलाब जल (Rose Water) को कई प्रकार के शरबत और खाने में प्रयोग में लाया जाता है. गुलाब का प्रयोग आयुर्वेद में भी किया जाता है.  गुलाब जल बाजार से लाकर प्रयोग में लाना बड़ा ही आसान है, लेकिन यदि आपके यहां में गुलाब जल उपलब्ध न हो तो आप गुलाब जल, गुलाब के फूलों से अपने घर में बना सकते हैं.

आवश्यक सामान - Ingredients for Gulab Jal - Rose Water

  • गुलाब की पंखड़ी - 1 कप (लगभग 12- 14 फूल)
  • पानी - 2 कप
  • बर्फ - 1 ट्रे

विधि - How to make Rose Water at home

कोई बड़ा बर्तन लीजिये, जिसके अन्दर एक दूसरा बर्तन रखा जा सके और वह अच्छी तरह ढका भी जा सके.

बर्तन में जाली स्टैन्ड रख लीजिये, गुलाब की पंखड़ियाँ बर्तन में डाल दीजिये और पानी भी डाल दीजिये. वह बर्तन जिसमें गुलाब जल इकठ्ठा करना है, वह जाली स्टैन्ड के ऊपर रखिये. बर्तन के ढक्कन को उलटा रख दीजिये ताकि भाप बाहर न निकले बल्कि इससे टकराकर नीचे रखे बर्तन में इकट्ठा होता रहे.

गुलाब पंखड़ी भरे इस बर्तन को गैस पर गरम होने रखिये, पानी गरम होने पर, बर्तन के ढक्कन के ऊपर बर्फ के टुकड़े रखिये, पानी में उबाल आने के बाद, भाप ढक्कन की ओर जाती है और ठंडी होकर, पानी बनकर, अन्दर रखे बर्तन में गिरती है, इस तरह गुलाब जल अन्दर रखे बर्तन में इकठ्ठा होता रहता है. 20 - 25 मिनिट में 1 कप गुलाब जल बर्तन में इकठ्ठा हो जाता है और गुलाब पंखुड़ियों में डाला गया पानी खतम हो जाता है. आग बन्द कर दीजिये.

बर्तन को एकदम ठंडा होने दीजिये, बर्तन के ढक्कन को खोलिये, अन्दर रखे बर्तन में जो पानी इकठ्ठा हुआ है वह आपके हाथों से बना गुलाब जल है. गुलाब जल को किसी साफ सूखी बोटल में भर कर रख लीजिये.

अन्य तरीके
पहले कुकर में एस्प्रेसो काफी बनाने वाला अटैचमेन्ट मिलता था. यदि आपके पास यह अटैचमेन्ट उपलब्ध हो तो कुकर में गुलाब के फूल व पानी डालकर एस्प्रेसो काफी के अटैचमेन्ट पर गीला कपड़ा लपेट कर भी आप गुलाबजल बना सकते हैं

कुकर में सीटी लगाने के स्थान पर रबर की गर्मी से न पिघलने वाली नली लगाकर भी आप गुलाबजल बना सकते हैं. नली को थोड़ा लम्बा रखेंगे और उसके ऊपर गीला कपड़ा लपेट देंगे, नली के दूसरी ओर बर्तन जिसमें गुलाब जल इकठ्ठा करना हो रखेंगे, गुलाब और पानी से निकली भाप ठंडी होकर उस बर्तन में इकठ्ठी हो जायेगी और आपका गुलाबजल (Home made Rose Water) तैयार हो जायेगा.

इस तरह घर में उपलब्ध होने वाले सामान से आप अपना गुलाब जल अपने घर में बना सकते हैं.

सावधानियां:
आप जिस बर्तन में गुलाब पंखुड़िया डाल कर पानी डाल रहे है, ध्यान रहे कि बर्तन में जाली स्टैन्ड से ऊपर बहुत ज्यादा पानी न हो, अन्यथा जाली स्टैन्ड पर रखा बर्तन पानी पर तैरकर अपना बैलेन्स खराब कर सकता है.

Categories:
recipe

इस रेसिपी के बारे में सवाल पूछिए.

क्या आपके मन में इस रेसिपी से जुडा़ कोई सवाल है? आप Nishamadhulika.com पर आने वाले लोगों से उसे पूछ सकते हैं : यहाँ क्लिक करें.

Comment(s): 56:

  • on 17 May, 2011 08:55:39 AM
    Good idea nishaji ,without chemical components.

    निशा: शालिनी, गुलाब जल सिर्फ गुलाब का डिस्टिल्ड वाटर होता है.
  • on 17 May, 2011 09:42:47 AM
    thanks nishaji for this easy recipe. nishaji yeh gulab jal kitne din kharab nahi hoga? ise refrigerator main store karna hain na?
    निशा: मनीषा, ये गुलाब जल तो महीनों खराब नहीं होता. फ्रिज में रखना आवश्यक नहीं लेकिन रखें तो अच्छा है.
  • on 17 May, 2011 10:48:29 AM
    bahut aacha idea hai nishaji, waise mene ek or vidhi se banaya tha( ek glass ki barni mai gulab ki mala uske dhakkan ke sath bandh kar latka di or barni ko tez dhoop mai rakh diya syam ko barni me kafi sara rose water collect ho gaya.)but sara din laga.aapke vidhi se zaldi ban jayega.thanks,mysore pak bhi sikaye plz.
    • on 17 May, 2011 12:17:13 PM
      hi pooja, excellent idea please tell me ki apne is vidhi mein pani ka use bilkul nahi kiya, sham ko jo rose water collect hua barni mein, kya woh sara tej dhoop ke karan gulab phoolon se nikla, kindly elaborate your method
      • on 18 May, 2011 18:25:32 PM
        kavita, mene pani ka use nahi kiya balki gulab ki pattiyo ki nami se ye pani collect hua tha or ye hi gulab jal hai
    • on 18 May, 2011 12:22:11 PM
      Pooja, this is not Gulab Jal. It is Gulab Attra. It just give fragrance of Rose and should not be used in eyes.
    • on 02 June, 2011 20:38:28 PM
      hi pooja ji, ye barni kya hota hai, or dhakan se mala kaise lapeti???kya ap images send kar sakti ho taki samajhne me asani ho, reply me plz.
  • on 17 May, 2011 13:26:00 PM
    nishaji maine pichli garmiyo me aapse khas-khas ke daano se khas -khas ka sharbat bnane ki request ki thi , plzzzz abki garmiyo me to bna kr bta dijiye.
    निशा: एकता, खस का शर्बत खस खस के दानों से नहीं बनता. खस और खस खस (post dana) दोनो अलग अलग वस्तुयें हैं. खस खस यानी पोस्त दाना हलवे और सब्जी की ग्रेवी में उपयोग होता है.

    खस शरबत जिससे बनाया जाता है वह एक घास होती है जिसकी चटाई, कूलर के पैड आदि बनते हैं. इस घास से अत्तर निकाल कर खस का शर्बत बनता है. इस घास को पानी में डालकर उबाल कर भी इस पानी से खस का शर्बत बनाते हैं.
    आजकल खस का अत्तर मुश्किल से मिलता है. एसेंस मिल जाता है और इस एसेंस से भी खस का शर्बत बनाया जाता है. एसेंस से खस का शर्बत बनाने की विधि मैं दो दिन में लिखने की कोशिश करूंगी
  • on 17 May, 2011 17:46:02 PM
    thnx nishaji aap bahut acchi hai app ne meri problem minto me solve kardi veri-2 thanx
  • on 17 May, 2011 18:20:07 PM
    nishaji apko agra ka petha banana aata hai to please hame bi batayiyega.

    निशा: डॉली, जब भी मुझे बाजार में कच्चा पेठा मिला, मैं अवश्य बनाने की कोशिश करूंगी.
  • on 17 May, 2011 19:29:35 PM
    Nisha g, plz hame papad ki sabzi banana b sihayaye,

    निशा: मोनू, जी हां हम पापड़ की सब्जी बनाना लिखेंगे.
  • on 18 May, 2011 02:58:16 AM
    Nishaji,

    Is any specific type of rose (e.g. desi, hybrid, jungalee) required to make gulab jal? Does it need to be petals of red rose only? can we use any color rose, any type rose? Can fragrant-non fragrant rose be used? When should the rose flower be picked from the plant - just before it starts shading petals or when in full bloom? I've plenty of roses in my home garden. I'm excited to make rose water. Also, please advise what are the uses of rose-water?
    Thanks,
    Monika

    निशा: मोनिका, गुलकन्द और गुलाबजल के लिये देशी या जंगली और खिले हुये लाल गुलाब ही अच्छे रहते हैं. आप के बगीचे में गुलाब हैं यह तो बहुत खुशी की बात है.
    गुलाबजल को हम आई ड्रोप में, स्किन केयर के लिये मसाज में, शर्बत आदि में प्रयोग करते हैं.
  • on 18 May, 2011 08:25:59 AM
    पूजा की तरह मैं भी गुलाब का इत्र बनाती हूँ.इसमें पानी नहीं प्रयोग करते.यह गुलाब का सत् है.आँख में डालिये बेहद अच्छा है.
    • on 17 December, 2012 19:32:58 PM
      kya mam aap gulab ka itar (perfume) ka tarika bataye gaye
  • on 19 May, 2011 14:06:01 PM
    mam,waise market mei kon sa rose water pure milta hain,plz batain.

    निशा: पम्मी, आप किसी भी अच्छी कंपनी का रोजवाटर ले सकतीं है जैसे डाबर, पंतजलि योगपीठ, हमदर्द इत्यादि.
  • on 19 May, 2011 14:09:34 PM
    kyuki mai working hu to ,maximum time ni hota,mai unmarried hu ,hostel mei maine sara khana banana issi web site ke through sikh,jab maine ghar ja ke khana banya to sab bahut khush or suprise hue,all bcz of u.thanks .

    निशा;
    पम्मी, धन्यवाद.
  • on 09 July, 2011 12:52:07 PM
    thanks nisha didi aap ka mai bada Abharihoo
    mu je ye recipe kisi ne nahi batai mereko gulab jal puja me lagta hai
    thanks again
  • on 03 September, 2011 04:27:48 AM
    how prepare gulab gal for marketing perpose
  • on 01 October, 2011 12:55:14 PM
    Thanx Mem

    gar mai gulabjal babane ki vidhi batane ke liye
  • on 17 November, 2011 16:18:58 PM
    Gulabjal banana kitna ashan hai...!

    apka khub khub dhanywad...

    Thanx Nishaji...!
  • on 06 February, 2012 16:23:13 PM
    lekin ye gulab jal to patti ko pani k saat boil karke banaya gaya hai to is gulabjal me pani v mix hoga to kya ye kharab nahi hoga.
    or haa indu garg ji keh rahi pooja ne without water k banaya hai vo eye me use kar sakte hai but divya ji mana kar rahi hai .
    nisha ji plz aap bataengi kuch is baare me
    thanks in advance

    निशा: विकास, गुलाब जल गुलाव पंखड़ियों मे पानी डालकर ही बनाया जाता है, ये खराब नहीं होता.
  • on 27 February, 2012 12:31:05 PM
    hi friends. ek smpl tareeka ye b aap try kar sakte haigulab jal banane k liye.10 gulab k taaje phool le aadha ltr pani ko pahle ubal le phir usme aadha chamach nimbu ka ras daal de aur phir ye gulab ki phankudiya daal k 3-5 mnts tak kam aanch par ubalne de.thanda hone par chaan kar glass ki bottle me rakh le uar use kare.thank you.
  • on 02 March, 2012 10:16:26 AM
    i have dark circules in my both eyes.kindly guide me how to reduce this

    thanks

    veena rawat

    निशा:
    बीना आप अपने खाने में फल और सलाद की मात्रा बड़ाइये, गाजर जूस, आंवला जूस, संतरा जूस लीजिये, दिन में 8-10 गिलास पानी पीजिये, रात को सोते समय आलमन्ड ओइल या किसी मिल्क क्रीम से आंखों के नीचे मसाज करें, खीरे की जूस से भीगी हुई काटन, आखों पर रखकर 15 मिनिट रैस्ट कर लें, 1-2 माह के अन्दर आंखें एकदम अच्छी हो जायेंगी, अपने अनुभव हमें अवश्य बताइये.
  • on 08 April, 2012 12:57:33 PM
    thanx nisha ji
    maine apke bataye anusar gulab jal banaya. yah bhut aasan tha .maine kareeb 1ltr gulab jal banaya aur isme gulab ki acchi mahak bhi aa rhi hai.ghar me sabne meri tarif ki.meri tarf se apko firse thanx.
    निशा:दिया, बहुत बहुत धन्यवाद, मुझे बहुत अच्छा लगा.
  • on 17 April, 2012 13:07:05 PM
    nishaji, i want to know that how much gulab and water is required to make 1 litre of gulabjal


    निशा:
    दीपिका. 2 लीटर पानी से 1 लीटर गुलाब जल बन जाना चाहिये.
  • on 13 July, 2012 15:20:14 PM
    Nisha di, bachi hui rose petals ko gulkand ya kisi aur trike se use kr sakte hai ?
    निशा: आरती, जी हां उनसे गुलकन्द बनाया जा सकता है, गुलाब का शर्बत बना सकते हैं, धन्यवाद.
    • on 12 August, 2012 22:19:18 PM
      thnq di. Nisha di, andr se garmi ko khatm krne ke liye thandi taseer vali jo ghar pr aasani se ban jaye..aisi dishes btaiye ? निशा: आरती आप तुलसी सुधा बनाकर देखिये. How to make Tulsi Sudha
  • on 28 July, 2012 21:46:32 PM
    निशा जी आपका बहुत_बहुत धन्यवाद ! आपकी सभी रेसीपी बहुत आसान व स्वादिष्ट होती है।
  • on 31 July, 2012 15:57:31 PM
    tankyou nisha ji
  • on 31 July, 2012 16:29:55 PM
    healthy dish and sweet dish.. for today people.please make sweet at home
  • on 09 August, 2012 18:46:00 PM
    sirf apki website p gulab jal banana bataya gaya h,thank u so much.
  • on 13 October, 2012 22:29:41 PM
    namaskar nisha ji,aaj meine gulabjal baneya hai,lagta to sahi bana hai,mujhe aap se yeh puchna hai k jab hum dhakn par ice rakhte hai to voh to bahut jaldi melt ho jati hai jab k hame to phool wale pani ko 20 mint ubalna hota hai tab tak to uper ice ka pani bhi ublane lagta hai,kya ese he hota hai?dusri baat yeh k neche phool wala pani pura sukhne tak hame rosewater banana hai?
    निशा: सर्बजीत, अगर आइस पहले खतम हो जाये तो आप और आइस रख सकते हैं, क्यों कि पानी ठंडा होकर ही बर्तन में इकठ्ठा होगा. बर्तन में पानी बचा है तो कोई बात नही, लेकिन अगर आप और गुलाब जल बनाना चाहते हैं तो प्रोसेस रिपीट कर सकते हैं.
  • on 01 February, 2013 20:00:20 PM
    Nishaji, how to make gulukand with rose petals.
    निशा: किरन, मैं गुलकन्द बनाने की कोशिश करूंगी.
  • on 06 February, 2013 14:13:39 PM
    nisha g namste, thax 4 making gulaabjal,mam plz face perlagaane ke liye cold cream ki recipe b batayen nd balon ko aachi conditionkese kare, mere jaise bhut se log aap pr bhut depend hain ans plz thanx g.
    निशा: किंजल मैं अभी खाने के बारे में ही लिखती हूँ.
  • on 18 March, 2013 15:28:12 PM
    Interesting method....I will try ths...
  • on 18 March, 2013 15:28:14 PM
    Interesting method....I will try ths...
  • on 18 March, 2013 15:47:18 PM
    Interesting method....I will try ths...
  • on 23 March, 2013 01:32:49 AM
    nisha ji,agar kheer mein doodh ke jalne ki thode mehek aa gayi ho to kya kren?
  • on 03 April, 2013 17:23:51 PM
    bahut acha hai
  • on 06 May, 2013 21:00:51 PM
    For Veena Ravat and Kinjal Kansal and many other suffering from under eye dark circles :

    In the morning apply ur own saliva yes u red right ur own saliva around ur undr eye dark circes n massage gently til it absorbs completely.... coz r saliva hv al " Aushidhi" dat v hv eaten whole day n in morng it converts into d most best medicine on dis earth wch z avlble free of cost.
    FOR PPLE WHO R OVRWEIGHT : Whnvr u r thirsty drink ur water in a" Aalthi Palthi position" n drink it sip by sip jus lyk u hv ur tea...
    FOR PPLE WHO HV HAIR FALL, DANDRUFF,THINNING,GREYING HAIR PROBLEM : Keep curd in any copper utensil only for max 4-5 days till it turns green. Thn massage it gently in ur scalp till half an hr or til ur fingers starts paining thn aftr 1 hr wash wid Shikakai shampoo . Homemade shampoo... Its vry easy 2 mk jus boil water n put Aanwla,Shikakai, Neem leaves, Ritha, Brahmi, Baalchad ( Easily avlble in any typical" Pansari" shop) in it n sieve d water n use it as a shampoo . And whnver u oiled ur hair mix lemon juice in curd n use it as a shampoo coz it il remove oil from ur hair n ur hair il shine lyk a mirror w/o using any chemical shampoo or conditioner wch z easily avlble in any mkt nearby u but not @ al gud 4 ur hair.
    FOR ANY KIND OF SKIN PROBLEM : Same method DAILY massage ur own morng saliva only on the affected part gently till its completey absorbs..
    FOR WEAK EYE SIGHT : Apply ur own morng saliva only jus lyk u put kajal in ur eyes wid d help of ur finger...Empty stomach only... Results vary from person 2 person depending hw weak ue eye sight is ? It cn tk months or year but u il hv 6/6 eye sight 4 sure 1 day...

    And last but not the least if u think wat rubbish who put saliva into eyes n all n think me m sum kind of person who wnts 2 fool pple n dont wanna blve me thn simply log on " RAJIVDIXIT.IN " n face the truth n cure about urslf... Till thn bye...
  • on 24 May, 2013 09:34:11 AM
    maine suna hai ki jiske eyes par glasses chad rakhe ho, vo gulabgal ko eyes me nahi daal sakta. kya yeh such hai?
  • on 13 July, 2013 00:53:36 AM
    Hi nisha g, maine rose water ghar pe bnaya tha bahut accha bna tha kya aap ye bta sakte ha ki freeze k bina ye kitne mahine sahi reh sakta ha.isko red colour dene k liye isme kya daal sakte ha jisse koi side effect bhi na ho
    निशा: ममता, रोज वाटर को बिना फ्रिज के ही रखिये, वह 6 महिने तक भी खराब नहीं होना चाहिये.
  • on 18 July, 2013 03:35:50 AM
    hello mam kya aap bta sakte ha ki isko red colour dene k liye kya add kare
    निशा: ममता, गुलाब जल तो सफेद ही होता है, इसको कलर करने की क्या आवश्यकता है.
  • on 25 July, 2013 05:45:22 AM
    Hello mam market wale rose water me halka ra pink colour hota ha or fragrance bhi hoti ha prr isme aisa nhi hota yahi puchna tha aisa kyu
    निशा: ममता, रोज वाटर का नेचुरल कलर तो यही होता है, रोज वाटर में गुलाब की नेचुरल खुशबू होती है, लेकिन बाजार में अलग से कलर और खुशबू डाले जाते हैं.
  • on 24 November, 2013 03:56:39 AM
    thankyou vryyyyyyyyyyyyyyyyyyyyyyyy muchhhhhhhhhhhhhhhhhhhhh
  • on 01 December, 2013 10:34:17 AM
    Thanku, it was very helpful. U seem a nice lady :)
    निशा: DS, आपको भी मेरा बहुत बहुत धन्यवाद.
  • on 03 February, 2014 21:39:46 PM
    THIS RECIPI ..... IS SO SIMPLE. & MOST JUST LIKE IT. THANK U.....
    Nisha: Vishki, Thanks and welcome.
  • on 28 February, 2014 07:24:28 AM
    hi its me deepika nisha ji mai apse puchna chahti thi ke mane gulab jal to banaya hai vo bhe gulab ko sukha ke use botel mai daal ke or uske uper thanda paani daal diya or dhkan laga kar use dhup mai 2-3 din ke liye rakh diya kya ye tarika sahi hai plz reply
    निशा: दीपिका, ये गुलाब जल बनाने का ये तरीका बिलकुल सही नहीं है.
  • on 02 March, 2014 21:15:24 PM
    HELLO mam this recipi is very simple. thank you mam
    निशा: शिवांगी जी, बहुत बहुत धन्यवाद.
  • on 23 March, 2014 04:20:38 AM
    आज मैने गुलावजल बनाया पर बहुत बुरा हुआ। मैने आपकी रेसिपि के मुताबिक कुकर मे गुलाव और पानि राखकर २० मिनट के लए छोडा । उसमे एक बल रखकर उपरसे पलेटसे ढककर रखा था । अन्तमे जब खोलकर देखा तो लगभग १ कप गुलावजल जमा तो हुआ पर सारे गुलाबके पत्ते जलगए, ईससे गुलाबजल मे जलनेकि फ्रैग्रेन्स आगइ है । कुकर भि बुरि तरह जलगया है । जल भि हल्का पिला कलर का हो गाया है । अब ये गुलाबजल कारगर होगा कि नाहि क्रिपया ये बताईये?
    मैने एक गलति कि, बिच मे ध्यान नहि दिया, कुकर ढककर छोड् दिया और अन्तमे ये नतिजा मिला। ईसलिये औोर लोग ये गलति ना दुहरायें ।
    धन्बाद!
    निशा: जय गुलाब जल को क्रीम में मिलाकर मुंह पर मसाज करने के काम लिया जा सकता है.
  • on 13 April, 2014 05:01:35 AM
    nisha ji aapka gulab jal banane ka idea to badhiya hai . lekin maine gulab jal aise banaya hai , pehle gulab ki pattiyo ko kundee me koot kar phir use ek kapde me rakh kar uske ras ko nichod liya , kya mera gulab jal kharab to nhi hoga please reply me , or gulab jal bana to liya hai lekin usse istemal kaise karu
    निशा: विपिन जी, इस तरह गुलाब जल नहीं बनता, गुलाब जल को मुंह पर लगाकर, थोड़ी देर रखिये, स्किन पर चमक आ जाती है, गुलाब जल को किसी भी मिठाई में डालकर खुशबू दी जा सकती है, गुलाब जल में काटन भिगो कर आंखों पर रखने से आंखों की थकान दूर होती आंखों में चमक आती है.
    • on 16 April, 2014 04:59:53 AM
      Dhanyavad nisha JI , AB main aap ke tarike se gulab jal banaunga . निशा: विपिन जी, बहुत बहुत धन्यवाद.
  • on 01 May, 2014 05:38:09 AM
    Ya rose water bnane ke liye sukhe hue pankhudia use kr skte h ja sirf fresh h hogi?
    निशा: तरनी जी, रोज वाटर ताजा पंखुड़ियों से ही बनाया जाता है.
  • on 05 May, 2014 10:32:59 AM
    निशा जी, प्रणाम।। अौर बहुत बहुत धन्यवाद
    कुछ प्रश्न है - कृपया समाधान किजीये -
    १। क्या गुलाब जल अौर गुलाब अर्क एक ही होते हैं ?
    २। क्या इसी तरह अन्य जड़ी-बुटीयों जैसे - तुलसी, धनिया, किसी की जड़ इत्यादि का अर्क निकाल सकते है ?
    ३। क्या घृत-कुमारी/ग्वार-पाठा का अर्क इस विधी से निकाल सकते हैं ?
    निशा: हेमन्त जी प्रणाम.
    • on 10 May, 2014 08:40:40 AM
      निशा जी, मैं बहुत अाभारी रहुँगा अापका, अगर अाप उपर दिये गयी शञ्काअों का समाधान दें । धन्यवाद ।
  • on 26 August, 2014 04:22:23 AM
    Nisha ji amle ka tel ghar par kaise bana sakte hain.
    निशा: सारिका जी, आंवले के पेस्ट को या जूस को तिल या नारियल के तेल में पकाते हैं और जूस खतम होने तक उसे पकाना होता है इसके बाद उसे छान कर ठंडा करके बोटल में भर कर रख लीजिये.

Submit your question

Log in

Become a member free and get access to advanced features.

Latest Recipes

More Recipes >>