sitelogo
Horoscope English Q and A

चपाती - How to make Soft Chapati - Soft Phulka Recipe - Roti - Indian Fulka bread

How to make Roti?


रोटी कई प्रकार के आटे से बनाई जाती है. गेहूं के आटे से, मक्के के आटे से, बाजरे के आटे से, मिस्से आटे से और 6-7 अनाज को मिलाकर मिक्स आटे से (मिक्स आटे से बनाई गई चपाती ज्यादा पौष्टिक होती है). मक्का, बाजरा, ज्वार का आटा बरखरा होता है (इसमे लेस कम होता है) इन अनाजों के आटे से चपाती आसानी से बेलन से बेलकर नहीं बनाई जा सकती, इन अनाज के आटे को ईंच ईंच कर, मुलायम करके, लोई बनाकर हाथ से पानी लगाकर चपाती को बड़ाया जाता है. हाथ से बड़ा कर बनी कुरकुरी चपाती बहुत स्वादिष्ट लगती हैं, इस तरह की चपाती पचने में थोड़ी भारी तो होती है. इन चपाती को बनाने के लिये और अधिक प्रैक्टिस करनी होगी. अगर इन अनाज के आटे में थोड़ा सा आटा गेहूं का मिला लिया जाय, तब बेलन से बेल कर स्वादिष्ट चपाती आसानी से बनाई जा सकती है.

हमारे घरों में अधिकतर गेहूं के आटे से रोटी बनाई जाती है, गेहूं के आटे से बनी रोटी जल्दी पचती है, आसानी से बन जाती है और स्वादिष्ट तो होती ही है.

Read - How to make Roti? In English 

आटा छानकर प्रयोग करना चाहिये या बिना छाने हुये?

कुछ लोग मानते हैं कि आटा बिना छाने प्रयोग करना चाहिये ताकि फाइबर और रेशे खाने में प्रयोग किये जा सकें. कुछ लोगों का मानना है कि आटा छानकर ही प्रयोग करना चाहिये. आप उपलब्ध आटे की शुद्दता के अनुसार खुद निर्धारित कर सकते हैं. पैकेट बन्द आटे को आप बिना छाने प्रयोग कर सकते हैं जबकि चक्की से पिसाये हुये आटे को छानकर प्रयोग करना सही रहता है.

आटा सख्त गूथें या मुलायम? आटा गूंथने के लिये कितना पानी लगता है?

रोटी, नान या परांठा के लिये आटा थोड़ा मुलायम गूंथा जाता है. मुलायम आटे से बनी रोटी ठंडी होने पर भी चीचड़ नहीं होगी, जबकि सख्त आटे से बनी रोटी ठंडी होने पर खाने में अच्छी नहीं लगती.

रोटी के लिये गैंहू का आटा गूंथते समय इसके आयतन से आधा पानी लगता है. यानी यदि दो कप आटा गूंथ रहे हैं तो आप एक कप पानी ले सकते हैं.

आटा कैसे लगायें - How to make dough for roti

आवश्यक सामग्री

  • आटा - 250 ग्राम (2 कप)
  • पानी  -1 कप
  • नमक - आधा छोटी चमम्च
  • तेल - 1-2 छोटी चम्मच

आटे को किसी गहरी थाली या बड़े प्याले में छान कर निकाल लीजिये. आटे में नमक और तेल डाल दीजिये.

एक हाथ (बायें हाथ) से पानी डालते हुये आटे को दायें हाथ से गूथिये. एक साथ ज्यादा पानी आटे में मत डालिये, आटा अच्छी तरह मिक्स हो जाय तब आटे में मुक्कियां लगाकर, बार बार आटे को दायें हाथ से उठा कर पलटिये (आटे को ज्यादा सख्त और ज्यादा पतला मत कीजिये). आटा एक जैसा हो जाने पर, उसे मुक्कियां लगाकर, अगर आवश्यकता हो तो उसके ऊपर थोड़ा 2 - 3 छोटी चम्मच पानी छिड़ककर,20- 25 मिनिट के लिये ढककर छोड़ दीजिये.

20 मिनिट बाद आटे को उठाकर इकठ्ठा कीजिये, बार बार मुक्किया लगाकर, इकठ्ठा करके चिकना और मुलायम कीजिये. हाथ में बिलकुल थोड़ा तेल लगाकर चिकना करके भी आटे को संभाला जा सकता है. गूंथे गये आटे का ऊपरी भाग चिकना और इसमें खिंचाव पैदा होने तक गूंथते रहना चाहिये. आटा अच्छी तरह गंथे जाने पर चिकना हो जाता है तो फिर यह रोटी बनाते समय हाथों में अधिक नहीं चिपकता और बेलते समय इसे कम परोथन (सूखा आटा) लगा कर बेला जा सकता है. जब आटा चिकना और नरम हो जाय तब उसे थाली में एक ओर रख दीजिये. चपाती बनाने के लिये आटा तैयार हो गया है.

चपाती बनाइये - How to make Chapati

तवा गरम होने के लिये आग पर रखिये, गुंथे हुये आटे से एक नीबू के बराबर का आटा तोड़कर निकालिये और हाथ से गोल लोई बनाइये. लोई को सूखे आटे में लपेटिये, अतिरिक्त सूखा आटा झड़ा दीजिये (ज्यादा सूखा आटा लोई के ऊपर नहीं रहना चाहिये).

सूखा आटा लगी लोई को चकले पर रखिये और बेलन की सहायता से 2 - 3 इंच व्यास में बेल कर बड़ा कीजिये. बेलन से एक जैसा गोल बेलिये. इस बेली गई चपाती को फिर से सूखे आटे में लपेटिये, अतिरिक्त सूखा आटा चपाती से झाड़ दीजिये.

सूखा आटा लगी चपाती को चकले पर रखिये और 5-7 इंच के व्यास में चारों तरफ एक जैसी मोटाई की गोल चपाती बेलिये. गोल और एक जैसी मोटाई की चपाती बेलने के लिये आपको प्रेक्टिस तो करनी ही होगी. रोटी बेलते समय एक जैसा हल्का दबाब दें, अधिक जोर न लगायें. नहीं तो रोटी कहीं से मोटी कहीं से पतली हो जायेगी और सही फूलेगी नहीं.

बेली गई गोल चपाती को गरम तवे पर डालिये, निचली सतह थोड़ी ही सिकने पर चपाती की ऊपर की सतह का कलर कुछ गहरा हो जाता है, अब चपाती को पलटिये. दूसरी सतह को ब्राउन चित्ती आने तक सेकिये.

चपाती के सीधे तवे पर भी सेक सकते हैं:- तवे पर रोटी को सेकने के लिये दूसरी सतह पर चित्ती आने के बाद रोटी को पलटिये और किसी कपड़े या चमचे को फिराकर रोटी सिर्फ तवे पर सेक लीजिये.

या तवा उतार कर गैस पर सेक सकते हैं- गैस पर सेकने के लिये तवे से चपाती उतारिये और पहले चित्ती वाली सतह को सीधे आग पर चिमटे की सहायता से घुमाते हुये थोड़ा और गहरी चित्ती होने तक सेकिये. ये ध्यान रहे कि चित्ती ब्राउन ही रहे, काली नहीं पड़नी चाहिये. रोटी को पलट कर दूसरी तरफ सेकिये. चपाती को चिमटे से पकड़ कर चारों ओर घुमाते हुये हल्की ब्राउन चित्ती आने तक सेक लीजिये. चपाती पूरी फूल जाती है. फूली चपाती को कभी हाथ से न पकडिये. इससे निकलने वाली भाप आपका हाथ जला सकती है.

यदि चपाती एक दम फूल जाय तो इसका अर्थ है यह अच्छी तरह से सिक रही है, उस पर हल्की चित्ती आने तक और सेक लीजिये,अगर आप किसी को खाना खिला रहे हैं और ये चपाती गरम गरम दे रही है तब आप ये चित्ती थोड़ी गहरी कर सकती है यानी कि आप कुरकुरी चपाती सेक कर दे सकती हैं. तुरन्त सिकी हुई घी लगी कुरकुरी चपाती खाने में बहुत अच्छी लगती है लेकिन बाद में खाने के लिये कड़क सिकी हुई चपाती अच्छी नहीं रहती.

चपाती को सेककर, कैसरोल में रखिये, दूसरी चपाती भी इसी तरह सेक लीजिये, इस चपाती के ऊपर थोड़ा सा देशी घी यानी कि एक चौथाई छोटी चम्मच से भी आधा रखिये और दोनों चपाती को एक दूसरे के ऊपर करके घी लगा दीजिये, घी लगी चपाती कैसरोल में रख दीजिये. बिना घी लगी चपाती जल्दी पचती है. गरम गरम बिना घी लगी चपाती खाइये, लेकिन घी लगी चपाती कैसरोल में रखने से बाद में 5-6 घंटे या और भी ज्यादा समय बाद खाने के लिये नरम रहती हैं.

  • गर्म और भाप से भरी रोटियों को तुरन्त डिब्बे में न रखे नहीं तो इसकी भाप रोटियों को गीला कर देती है. पहले रोटी की भाप निकल जाने दें.
  • रोटियों को कैसरोल, या डिब्बे के नीचे कागज, फाइल या कपडा लगाकर रखें. रोटियां कपडे में लपेट कर भी रखी जा सकतीं है.
  • आटा लगाने के लिये सर्दियों में गुनगुना पानी लीजिये. हल्के गर्म पानी से आटा अधिक मुलायम लगता है और रोटी भी अधिक मुलायम बनती है.
  • दो दिन तक प्रयोग के लिये एक साथ आटा लगाकर फ्रिज में रखा जा सकता है और आवश्यकतानुसार फ्रिज से निकाल कर प्रयोग में ला सकते हैं. फ्रिज में आटा रखने के लिये, आटे के ऊपर थोड़ा तेल लगाकर चिकना कर दीजिये, आटे को बन्द डिब्बे में रखिये, आटा एकदम ताजी रहता है.

How to make Roti video in Hindi

Please rate this recipe:

3.65 Ratings.

recipe

इस रेसिपी के बारे में सवाल पूछिए.

क्या आपके मन में इस रेसिपी से जुडा़ कोई सवाल है? आप Nishamadhulika.com पर आने वाले लोगों से उसे पूछ सकते हैं : यहाँ क्लिक करें.

Related Questions


Comments (73)

Neeti on 17 February, 2011 10:52:18 AM

Thanksssssssssss so much Mam meri request poori karne ke liye thanksssssssssss

Mannu on 17 February, 2011 13:48:56 PM

thanks nishaji.for this article.

Aruna on 17 February, 2011 17:53:51 PM

thanx for the roti video & article.

Bhawna on 19 February, 2011 14:20:32 PM

thanks a lot. @rajni answer solved my problem .thanks again.

Poonam jadhav on 17 March, 2011 14:39:14 PM

ghar me to chapati banane ke liye ham gehu ka ata use karate hai. Lekin jo tandoor roti banati hai vo ata konasa hota hai.

निशा: बाजार में तंदूरी रोटी मैं सामान्यतया मैदा प्रयोग की जाती है लेकिन यह आटे, चने या मक्के के आटे को मिला कर मिस्से आटे से भी बनायी जाती है,

Poonam jadhav on 22 March, 2011 14:28:37 PM

thanks for reply. nishaji aap pls chai masala banane ki vidhi aur kaju curry ki vidhi bhi likhiye.

Charu on 15 April, 2011 21:04:07 PM

thanks mam, ghar se dur rhti hu or roti nhe banani ati isliye chawal khakar hi gujara karti hu; mai aj rat roti babane ki koshish karungi ;thanks again

Kavita on 28 April, 2011 07:41:44 AM

thank you mam mujhe chapati bahut pasand hai

Shreya on 04 May, 2011 15:39:24 PM

nisha ji, mai jab bi lunch box ke liye rotiya banati hu wo pathhr ki tarah hard ho jati hai plz meri help kijiye, soft ya mulayam roti banane ki tips bata dijie plz plz plz
aapki Shreya

निशा;
श्रेया, रोटी का आटा को आधा घंटे फुलाने के बाद उसे चिकना होने तक मसल मसल कर ठीक कीजिये, आग मीडियम रखिये, चपाती बनाने वाले लेख को ध्यान से पढ़कर रोटी बनाइये आप जल्दी ही अच्छी रोटी बनाना सीख जायेंगी.

Shreya on 11 May, 2011 16:34:15 PM

thanks nisha didi

Dilip on 27 May, 2011 15:30:50 PM

thankz alot 4 this recipie

Khushi on 29 July, 2011 18:53:59 PM

plz plz nisha ji besan wali bhindi ki recipe bta dijiye.

निशा: खुशी, सर्च बटन पर बेसनी भिन्डी लिखकर आप रैसिपी खोज सकती हैं, रैसिपी वेवसाइट पर पहले से दी गई है.

Poonam on 09 August, 2011 18:43:42 PM

hello nisha ji
i like ur clarification about how to make recipes. thanks u helped me a lot

Recha on 29 August, 2011 12:39:58 PM

nishaji meri roti gol nahi banti kya karu plzzz bataiye ...

Shritu on 07 December, 2011 13:45:58 PM

Nisha Ji, Pranaam! I wanna tell you that i found ur site by chance! Momos ki recipe search karte hue aapki site mili. And I just being fan of yours...! U r such an "encyclopedia" in yourself. Hat's off to you!!

निशा: श्रितु, बहुत बहुत धन्यवाद.

Pooja jain on 09 March, 2012 14:40:47 PM

mere roti gol nahi bante hai aur aata bhi soft nahi hota hai
plssssssssssssssssssssss tell me what to do make dough gud.

निशा: पूजा, प्रेक्टिस से सारी चीजें सही होने लगती है, बस आप बार बार करते जाइये.

Aruna mishra on 05 June, 2012 15:15:06 PM

mam
after making rotis,when i pack in almunium foil to keep them warm,i hv noticed they get soggy.pls tell me what medium shud i use to pack so dat rotis remain hot and non soggy.
thanx.
निशा: अरूना, रोटी के लिये अच्छी पैकिंग तो अल्यूमीनियम फाइल ही होती है.

R.p.raikwar on 19 July, 2012 16:45:57 PM

nisha ji,
meri wife ki death ho gai hai. magar apki web site se ab mein khana bana leta hun. magar roti bante samay meri roti baar baar belan se chipak jati hai koi hal batayen.
निशा: रायवर जी, आटे को थोड़ा सा सख्त गूथें, जितना अभी आप गूथ रहें हैं उससे, चपाती बेलते समय सूखे आटे में लोई को लपेटे, थोड़ा बेलने के बाद फिर से सूखें आटे में लपेटे और फिर से हल्का दबाव देते हुये बेले, रोटी बेलन से नहीं चिपकेंगी, धन्यवाद.

Aqsa on 28 July, 2012 16:18:10 PM

wah ji wah kya bat hau

Ann on 30 July, 2012 22:57:24 PM

Dear Nisha ji,
Main gas par achchi roti bana leti hoon, par mere kitchen main cooking plate hone ki wajah se roti tawe(not Indian tawa but a cooking pan) par hi fulane ki koshish karti hoon.Lekin yeh achchi nahi banti. Koi tip share kijiye please.Isi kaaran se Maine roti banana kafi samay se chod diya hai aur paranthe banati hoon.

निशा: एन, रोटी तवे पर भी फूल जाती है. आप इसे कपडे से दबा दबा कर सेक लें.

Asha tekchandani on 03 October, 2012 11:03:42 AM

Nishaji
Namaskar.
Please batayen ki kya chapati bananey ke liye oil ki jagah par 1-2 tsp fresh malai (Boiled milk ke upar ji malai aati hai) use kar saktey hain.

Please reply
Thanks a lot mam.
malai
निशा: आशा, जी हां अवश्य कीजिये, आप दूध का यूज भी कर सकती हैं.

Venky on 23 October, 2012 19:43:32 PM

In the recipe for making chapatis the word filter is not correct. It should be sieve or sift.
In the recipe for besan barfi the instruction given is to freeze, when you actually mean to set. people might think that they will have to keep it in the freezer.
निशा: फीडबैक के लिये धन्यवाद

Alkadixit on 05 February, 2013 20:24:40 PM

belan chalane ka sahi tarika kya hai ki roti gol bane?

Priyanka on 11 February, 2013 18:25:16 PM

kya besan se bhi roti bana sakte hein?
निशा: प्रियंका, जी हां बेसन से भी रोटी बनाई जाती है.

Ritu jain on 22 February, 2013 19:23:27 PM

mam, mai bahut patli or achhi rotiya banati hu par yy tabhi achhi lagti hai jab inhe garam garam khaya jaye jab mai in rotiyo ko lunch me pack karti hu to ye ekdam papd jaisi ya khivhi khichi ho jati h piz helpme how to keep it soft
निशा: रितु, आटे में थोड़ा नमक और 1 कप आटे में 1 छोटी चम्मच तेल डालकर आटे गूथिये, और रोटियो को टिफिन में पैक करने के लिये घी अवश्य लगाइये, रोटियों को खुली न रखें, घी लगाकर तुरन्त पैक कर लीजिये या कैसरोल में रखिये रोटियां नरम रहेंगी.

Alka gupta on 26 February, 2013 16:55:08 PM

nisha mam tandoori roti banana bhi sikhaiye
निशा: अल्का, जी मैं कोशिश करती हूँ.

Nolascogomes on 18 May, 2013 15:09:25 PM

how you can preservate the chapate for 10 days

Riya on 28 June, 2013 14:26:11 PM

Mre roti kav ache bnte h kav akad jte h,or roti gol v nae ghumte.pls help me, gas ki aach kitni rkhne chaheye,or ache roti kaise bnege pls tell me aunty

Jyoti on 18 August, 2013 23:57:31 PM

Hiii Nisha ji.... kya achhi tarah c fuli hue roti kachhi ho sakti hai kya???
निशा: ज्योति, रोटी फूलने के बाद उसे और हल्की चित्ती आने तक सेका जाय तभी वह अच्छी सिकी होती है.

Carmen on 11 September, 2013 16:53:50 PM

Hello , I am from Romania and I like veri much indian food. I did and often roti the taste is good. But I do not know what to do when the swell dough on pan. What do you think is the cause? dough is not too soft and fluffy?
निशा: कारमेन,

Shuchi on 11 October, 2013 00:18:28 AM

mam plz share recipe of making rumali roti as soon as possible.

Deepika roy on 18 October, 2013 03:04:10 AM

Nisha ji, plz gwarpatha ki sabji banana bataiye
निशा: दीपिका, मैं कोशिश करती हूँ.

Shuchi on 25 October, 2013 01:31:12 AM

mam, rumali roti ki recipe btaiye. plzzzzzzzzz

Laxmi on 15 November, 2013 00:00:52 AM

I have tried for your gravy verities but in vain

Laxmi on 15 November, 2013 00:04:13 AM

Ins haji Maine bahoot Khoisan ki aap ka gravy varieties ke bare main Lenin mi ne nahi pehachan liya

Edappally on 08 December, 2013 21:45:53 PM

The best recipie I have ever seen . Ecery bit of info is added , floor water ratio ,time required. Very good simple recipie forvan idiot-lazy cook. Thank you Nishaji.God bless

Rohit kumar singh on 13 February, 2014 16:09:18 PM

how to download pdf of this video

Mrs.sonak on 25 February, 2014 07:18:56 AM

nisha ji,meri roti kabhi mulayam nhi ban pati.kabhi koi fulti hai,kabhi nhi.narm mulayam roti ke liye kya karun pl.bataiye.kharab roti ke karan mujhe andar se complex ho jata hai,pl.help
निशा: सोनक जी, आटा गूथते समय थोड़ा तेल डालिये, नरम गूथिये, रोटी को बेलते समय उसे बहुत अधिक पतला मत कीजिये, तवा गरम होना चाहिये आग मीडियम होनी चाहिये, रोटी सेकते समय, पहले रोटी को निचली सतह पर हल्का सा सेकिये, दूसरी तरफ ब्राउन चित्ती आने तक सेकिये, अब रोटी को डायरेक्ट मीडियम आग पर सेकिये, पूरे ध्यान रखते हुये रोटी सेकिये,धीरे धीरे रोटी बहुत अच्छी बनने लगेंगी.

Sakshi on 08 May, 2014 04:55:50 AM

Mam pl tell me ki apne jo do method btae h roti sekne k...ek tave pe aur dusra direct gas pe...to dono me se jyada soft kis tarike se bnti h..plz mam
निशा: साक्षी जी, रोटी डायरेक्ट गैस पर सेक कर ज्यादा सोफ्ट बनती है, लेकिन अगर तवा बार बार उठाने में परेशानी हो रही हो तो रोटी तवे पर ही सेक कर बनाई जा सकती है, तवे पर भी रोटी अच्छी बनती है, धन्यवाद.

Monika on 22 May, 2014 09:52:47 AM

Nishaji,

My Wheat dough tends to become very loose after 2-3 hours of kneading the dough. Even kneading firm dough tends to become very very loose. It becomes difficult to make roti. Roti becomes hard due to lot of dry flour to be used to handle loose dough. Could you please suggest some solution?

I use Durum wheat four in America.
Thanks.
निशा: मोनिका जी, आटा जितना सोफ्ट लगाया जाता है उतना ही वह बाद में रहता है, लेकिन गेहूँ कि क्वालिटी के कारण ये लूज हो जाता है, आटे को सख्त लगाये और उसे लगाते समय अच्छी तरह मसलें, आटे में थोड़ा तेल भी डालें, आट पहले की अपेक्षा थोड़ा सोफ्ट हो जायेगा, और रोटियां आसानी से बनाई जा सकेंगी.

Rajan nhavkar on 27 May, 2014 21:46:35 PM

thanks nishaji. me rajan ki wife seema nhavkar.i like ur resipies.
निशा: धन्यवाद, सीमा जी

Vini on 07 June, 2014 00:35:13 AM

Thanx so much mam 4 such a gud demo

Mahi rajawat on 07 June, 2014 04:42:48 AM

ma'am u r really a star 4 me....

this is just to tell you ki meri mum saari dishes aapki website par se dekhkar hi banati hai. well,abhi to i'm just 13 but jab mein badi ho jaungi tab mein saari dishes aapki website pe se dekhke hi banaungi.....mom hamesha kehti hai ki jab badi ho jayegi to sasural mein khana kaise banayegi and as u know ki aajkal ke bachon ko kichten mein khana bana to bilkul pasand nahi....to jab mein badi ho jaungi tab bhi mein aapki website par se dekhkar khana banaungi....but ek request hai aapse ki aap apni site ko amar rakhna and aapki site par nayi nayi dishes ki recipies sikhana band mat karna...

plz rply maam it will be a great thing 4 me!!
luv u ;)
निशा: माही, मुझे बहुत खुश हो रही है, कि आपने सोच रखा है कि आप मेरी वेबसाइट देख कर ही कुकिंग करेंगी, आपको बहुत बहुत प्यार और आपकी मम्मा को बहुत बहुत धन्यवाद.

Sakshi on 10 June, 2014 02:49:49 AM

Thanku very much mam mere question ka answer btane k lie...it will be very useful to me...apki yahi bat sbse achhi h k aap sbke questions answer krte hain...GOD bless you mam
निशा: साक्षी जी, बहुत बहुत धन्यवाद.

Sonu yadav on 18 June, 2014 04:39:32 AM

Hello mam, I want to ask u that can I make chapati on fry pan becoz im living out side of india and didn't find tawa overhere. Pls ans.
Thanks
निशा: सोनू जी, पैन में भी आप चपाती को थोड़ा सा सेक लीजिये, और इसके बाद डायरेक्ट आग पर सेक लीजिये, अच्छी रोटी बनेंगी.

Renu on 24 July, 2014 13:45:21 PM

apki web sit bahoot achi lagi bahoot khuch sikhne ko milta hai
निशा: रेनू जी, बहुत बहुत धन्यवाद.

Kumkum on 08 August, 2014 10:50:58 AM

Hi nisha ji,i am a very big fen of yrs.pls let me now ki kya hum oil ki jagah desi ghee use kar sakte hai.chapati soft karne ke liye
निशा: कुमकुम जी, आटे गूथते समय तेल डाला है, उसकी जगह देशी घी भी यूज किया जा सकता है. चपाती बनाने के बाद तो उस पर देशी घी ही लगाना है.

स.क. on 26 August, 2014 12:05:35 PM

अंग्रेजी में 'बरखरा' का मतलब क्या है?

Asha on 02 November, 2014 09:19:32 AM

good video,thanks

Nishmitha on 21 November, 2014 07:53:38 AM

Madam mera roti bhi aap ke jaise hi banter hai.....kush hui...aap ne chakla kahan se liya?
निशा; निशमिथा जी, बहुत बहुत धन्यवाद, गोभी के परांठे की रेसिपी पर मैंने इसके बारे में बता दिया है.

Sweety on 11 December, 2014 23:51:23 PM

Hi.kai sammagree esi hoti h Jo market menhi multi to plz esi dish btaya kro jiski samaggri aasani she mil jaye.......

Vaishali chavan on 27 December, 2014 05:04:52 AM

Namaste nishaji, apka bahot bahot dhanyawaad. Aap badi sahajta se sare questions ka answer deti h uske liye. Hamare yaha roti tave par hi sek kar fulayi jati h par kisi karan ye 1-2 ghante me kadak ho jati h. Roti naram bane uske liye kya kiya jaye, aata ghunthne me koi gadbad ho rahi h. Plz rply.
निशा: वैशाली जी, आटे में थोड़ा नमक और 1-2 छोटी चम्मच तेल डालकर गूथें, आटा मसल मसल कर नरम गुथना होता है, रोटी को सेक कर घी लगाकर कैसरोल में रखें, सारी रोटियां बनने के बाद कैसरोल बन्द कर दीजिये, रोटी आप खाने के लिये 6 घंटे बाद भी निकालेंगे, तो भी रोटी एकदम नरम निकलेंगी.

Shivlal mewara on 18 February, 2015 23:12:06 PM

thanks



ok

Rajni on 29 April, 2015 18:58:53 PM

Mam mujhse roti bnaty time ata Jada lag jata ha .AGR at a jhar to hu to vo pastryboad se chepk jati hm roti
निशा: रजनी जी, इतना आटा तो रोटी पर लगाना ही होता कि रोटी आसानी से बेली जा सके, प्लीज आप कोशिश करती रहें, आप बहुत अच्छी रोटी बनायेंगी.

Manju on 07 June, 2015 21:00:29 PM

Mam jo roti extra ho jati h uska kya use kiya jata h roti ko sukha kar kuch banaya ja sekta h kya plz rep
निशा: पहले रोटी को सुखाकर हलवा वगैरह बनाया जाता था लेकिन आजकल तो.. :)

Amar patel on 13 June, 2015 09:56:02 AM

रोटी फूलती क्यो है

Riya on 24 June, 2015 20:43:49 PM

i m 6th standed. i live in bathinda. app meri ek madad karagi to app mujhe vegetables banana sikhagi


 


निशा: रिया जी, वेबसाइट पर बहुत सारी सब्जियों की रेसिपी उपलब्ध है, प्लीज पढ़ें और वीडियो देखिये, आप अवश्य सीख लेंगी, धन्यवाद.

Purva on 27 October, 2015 21:47:11 PM

Hello mam,
I am a big fan of ur simple and easy demonstration. I make Rotis but when i prepare first roti and keep it on foil, napkin or cloth then also it gets wet after some time. I dont add oil and salt in dough because of health purpose. Can you please tell what can i do to avoid getting that wet roti?
Regards
Purva

निशा: आप रोटी को तवे से उतार कर किसी प्लेट पर रखी प्याली पर रख लीजिये इससे वह गीली नही होगी.

Akanksha on 30 October, 2015 02:45:38 AM

Dear Madam,
Aapki website se hazaro lakho logo ko fayda ho rha hai par main khud ko sbse zyada lucky samjhti hu k aap ne ye website banai...aap cooking m meri guide hai...maine bahut saari dishes aapki website se sikhkar banai...aur sabko bahut zyada pasand ayi...main koi bhi dish aapki recipe ko dekhe bina ni banati...ek vishwas hai k aap sath hai...bas aapko thank you kehna chahti hu...sabki taraf se....aap aur aapka pura pariwar hamesha khush aur sukhi aur swasth rahe....

निशा: बहुत बहुत धन्यवाद आपका.

Anurag joshi on 06 December, 2015 01:14:02 AM

Mam
Like as breads which remains soft n fresh atleast for 15-20hours. What can be done with our regular chapati's also to keep it soft n fresh for minimum 15-20 hours. Please suggest area's of improvements such as kind of wheat,dough making, baking time n finally packaging.? I need my roti to be last for 15-20 hours? Please help.

Suman on 04 March, 2016 03:11:50 AM

मैंने बहुत कोशिश की लकिन मेरी एक भी रोटी फूलती नहीं है और न ही नरम बनती है . आटे को भी अच्छी तरह से गूंद कर देख लिया लकिन मुझे समझ नहीं आ रहा की रोटी नरम क्यों नहीं होती जबकि गेहू भी एम् पी वाले मंहगे है .

निशा: सुमन जी, रोटी का आटा को आधा घंटे फुलाने के बाद उसे चिकना होने तक मसल मसल कर ठीक कीजिये, आग मीडियम रखिये, चपाती बनाने वाले लेख को ध्यान से पढ़कर रोटी बनाइये आप जल्दी ही अच्छी रोटी बनाना सीख जायेंगी.

Anand on 11 March, 2016 06:29:57 AM

Main pura roti har taraf se samaan belta hu per jub sekne ke liye tave per daalta hu to roti ke kinaare se upper uth jata hai.. kya karna hai is samasya ka samadhaan dijiye guru ji...plzz

निशा: आनन्द जी, तवा गरम होने पर ही रोटी सिकने के लिये डालें, आग मीडियम रखें रोटी अच्छी सिकेगी, परेशान न होंन थोड़ी सी प्रैक्टिस से आप बहुत जल्द ही अच्छी चपाती बनाएंगे.

Anand on 14 March, 2016 03:49:26 AM

ek hi to naam hai mera ANAND wo bhi galat le daale pyaaj kaatne wakt bhi itna aasu nahi bahe jitna abhi.....ab roti gaya sarso tail lene ab to sidha puri banaunga...thanks for ur blessings...

ललित on 13 April, 2016 08:24:42 AM

Mem जौ और चना के आटे की रोटी वेलते है तो टूट जाती है बार बार
निशा: ललित जी, रोटी को सावधानी से और थोड़ा मोटा बेले, रोटी नहीं टूटेगी.

Akhilesh rathore on 14 April, 2016 03:43:57 AM

Nishaji bahut badiya guide kiya

निशा: अखिलेश जी, बहुत बहुत धन्यवाद.

Nirmal on 20 May, 2016 11:41:16 AM

Please type your comment very good

Deshraj on 27 May, 2016 09:53:42 AM

Tanx for give this article it very help full.pls perscribe method for prepare of some kind of pules also

निशा: देशराज जी, धन्यवाद. आप मेरी वेबसाइट पर अन्य रैसिपी भी देख सकते हैं.

Kashish lalwani on 03 June, 2016 21:17:23 PM

Roti banake tiffin me bhejte he to khate time roti kaali kyu dikhti he
निशा: कशिश जी, रोटी को हल्का सा ठंडा होने के बाद फोयल में पैक करके टिफिन में रखें, जब आप रोटी को खाने के लिये निकालेंगे वह बहुत नरम और बिलकुल वैसी ही निकलेंगी जैसी आपने पैक की हैं.

Ananya on 03 June, 2016 23:40:16 PM

so much information is given for a small thing

निशा: बहुत बहुत धन्यवाद.

Sakina on 06 June, 2016 21:16:01 PM

nisha ji. namaskar
mene aapke site se roti banane ki koshish ki magr mere hatho se gutha huaa aata boht sakht banta hai or jab me roti ko sekti hu or bahr nikalti hu to kuch hi second me wo sukhh ke bilkul khakhre jesi ho jati hai boht hi kadak or papad jese tut jati hai meri sari mehnat bekar jati hai kyaa aap meri help kr sakti hai plzz thanks.

निशा: सकीना जी, आटा गूथते समय थोड़ा तेल डालिये, नरम गूथिये, रोटी को बेलते समय उसे बहुत अधिक पतला मत कीजिये, तवा गरम होना चाहिये आग मीडियम होनी चाहिये, रोटी सेकते समय, पहले रोटी को निचली सतह पर हल्का सा सेकिये, दूसरी तरफ ब्राउन चित्ती आने तक सेकिये, अब रोटी को डायरेक्ट मीडियम आग पर सेकिये, पूरे ध्यान रखते हुये रोटी सेकिये,धीरे धीरे रोटी बहुत अच्छी बनने लगेंगी.

Sakina on 07 June, 2016 12:40:53 PM

thanks mam for your kind support...mene kabhi life me roti nahi bnai thi pehli bar banane bethi to jesa aap jante hai boht hii sakht or papad jesi roti ban gai lekinn me kal firr aapke bataye hue tips se roti bana ke aapko zarur bataungi..thankyou :-)

निशा: सकीना जी, बहुत बहुत धन्यवाद.

सत्येन्द्र शुक्ला on 10 July, 2016 19:41:18 PM

दीदी मिक्स आटा कैसे बनाते है । इसमे कौन कौन से अनाज किस किस अनुपात मे मिलाते है ।
निशा: सत्येन्द्र जी, गेहूं का आटा 1 किग्रा, 50 ग्राम चना दाल, 50 ग्राम सोयाबीन के दाने, 50 ग्राम रागी का आटा, 100 ग्राम बाजरा और 100 ग्राम मक्के का आटा. आटे को अपने स्वाद के अनुसार कोई भी आटा कम या ज्यादा किया जा सकता है.

Ashish barnwal on 11 July, 2016 00:11:59 AM

Roti ko tawa pe jab banaya jata hai to wo pakne ke sath fulti v hai kyu ? aur usme koun si gas bhar jati hai.
निशा: आशिश जी, आटे में पानी होता है वही गरम होकर गैस या भाप बन जाता है और फूल जाती है.

दीपक देतवाल on 17 July, 2016 18:07:04 PM

सबसे बढ़िया विधि और पूरी ज़ानकारी। मेरी बनाई रोटी बहुत हार्ड और कच्ची पक्की रह जाती है।मैं तो नया तवा लेने की सोच रहा था।एक बार आज आपकी बताई विधि से रोटी बनाता हूँ ।थैंक्स फ़ॉर द इनफार्मेशन ।

निशा: दीपक जी, बहुत बहुत धन्यवाद.

Click here to log in

Become a member free and get access to advanced features.

Latest Recipes

More Recipes
इस ब्लाग की फोटो सहित समस्त सामग्री कापीराइटेड है जिसका बिना लिखित अनुमति किसी भी वेबसाईट, पुस्तक, समाचार पत्र, सॉफ्टवेयर या अन्य किसी माध्यम से प्रकाशित या वितरण करना मना है.