चपाती - How to make Roti?


रोटी कई प्रकार के आटे से बनाई जाती है. गेहूं के आटे से, मक्के के आटे से, बाजरे के आटे से, मिस्से आटे से और 6-7 अनाज को मिलाकर मिक्स आटे से (मिक्स आटे से बनाई गई चपाती ज्यादा पौष्टिक होती है). मक्का, बाजरा, ज्वार का आटा बरखरा होता है (इसमे लेस कम होता है) इन अनाजों के आटे से चपाती आसानी से बेलन से बेलकर नहीं बनाई जा सकती, इन अनाज के आटे को ईंच ईंच कर, मुलायम करके, लोई बनाकर हाथ से पानी लगाकर चपाती को बड़ाया जाता है. हाथ से बड़ा कर बनी कुरकुरी चपाती बहुत स्वादिष्ट लगती हैं, इस तरह की चपाती पचने में थोड़ी भारी तो होती है. इन चपाती को बनाने के लिये और अधिक प्रैक्टिस करनी होगी. अगर इन अनाज के आटे में थोड़ा सा आटा गेहूं का मिला लिया जाय, तब बेलन से बेल कर स्वादिष्ट चपाती आसानी से बनाई जा सकती है.

हमारे घरों में अधिकतर गेहूं के आटे से रोटी बनाई जाती है, गेहूं के आटे से बनी रोटी जल्दी पचती है, आसानी से बन जाती है और स्वादिष्ट तो होती ही है.

आटा छानकर प्रयोग करना चाहिये या बिना छाने हुये?

कुछ लोग मानते हैं कि आटा बिना छाने प्रयोग करना चाहिये ताकि फाइबर और रेशे खाने में प्रयोग किये जा सकें. कुछ लोगों का मानना है कि आटा छानकर ही प्रयोग करना चाहिये. आप उपलब्ध आटे की शुद्दता के अनुसार खुद निर्धारित कर सकते हैं. पैकेट बन्द आटे को आप बिना छाने प्रयोग कर सकते हैं जबकि चक्की से पिसाये हुये आटे को छानकर प्रयोग करना सही रहता है.

आटा सख्त गूथें या मुलायम? आटा गूंथने के लिये कितना पानी लगता है?

रोटी, नान या परांठा के लिये आटा थोड़ा मुलायम गूंथा जाता है. मुलायम आटे से बनी रोटी ठंडी होने पर भी चीचड़ नहीं होगी, जबकि सख्त आटे से बनी रोटी ठंडी होने पर खाने में अच्छी नहीं लगती.

रोटी के लिये गैंहू का आटा गूंथते समय इसके आयतन से आधा पानी लगता है. यानी यदि दो कप आटा गूंथ रहे हैं तो आप एक कप पानी ले सकते हैं.

आटा कैसे लगायें - How to make dough for roti

आवश्यक सामग्री

  • आटा - 250 ग्राम (2 कप)
  • पानी  -1 कप
  • नमक - आधा छोटी चमम्च
  • तेल - 1-2 छोटी चम्मच

आटे को किसी गहरी थाली या बड़े प्याले में छान कर निकाल लीजिये. आटे में नमक और तेल डाल दीजिये.

एक हाथ (बायें हाथ) से पानी डालते हुये आटे को दायें हाथ से गूथिये. एक साथ ज्यादा पानी आटे में मत डालिये, आटा अच्छी तरह मिक्स हो जाय तब आटे में मुक्कियां लगाकर, बार बार आटे को दायें हाथ से उठा कर पलटिये (आटे को ज्यादा सख्त और ज्यादा पतला मत कीजिये). आटा एक जैसा हो जाने पर, उसे मुक्कियां लगाकर, अगर आवश्यकता हो तो उसके ऊपर थोड़ा 2 - 3 छोटी चम्मच पानी छिड़ककर,20- 25 मिनिट के लिये ढककर छोड़ दीजिये.

20 मिनिट बाद आटे को उठाकर इकठ्ठा कीजिये, बार बार मुक्किया लगाकर, इकठ्ठा करके चिकना और मुलायम कीजिये. हाथ में बिलकुल थोड़ा तेल लगाकर चिकना करके भी आटे को संभाला जा सकता है. गूंथे गये आटे का ऊपरी भाग चिकना और इसमें खिंचाव पैदा होने तक गूंथते रहना चाहिये. आटा अच्छी तरह गंथे जाने पर चिकना हो जाता है तो फिर यह रोटी बनाते समय हाथों में अधिक नहीं चिपकता और बेलते समय इसे कम परोथन (सूखा आटा) लगा कर बेला जा सकता है. जब आटा चिकना और नरम हो जाय तब उसे थाली में एक ओर रख दीजिये. चपाती बनाने के लिये आटा तैयार हो गया है.

चपाती बनाइये - How to make Chapati

तवा गरम होने के लिये आग पर रखिये, गुंथे हुये आटे से एक नीबू के बराबर का आटा तोड़कर निकालिये और हाथ से गोल लोई बनाइये. लोई को सूखे आटे में लपेटिये, अतिरिक्त सूखा आटा झड़ा दीजिये (ज्यादा सूखा आटा लोई के ऊपर नहीं रहना चाहिये).

सूखा आटा लगी लोई को चकले पर रखिये और बेलन की सहायता से 2 - 3 इंच व्यास में बेल कर बड़ा कीजिये. बेलन से एक जैसा गोल बेलिये. इस बेली गई चपाती को फिर से सूखे आटे में लपेटिये, अतिरिक्त सूखा आटा चपाती से झाड़ दीजिये.

सूखा आटा लगी चपाती को चकले पर रखिये और 5-7 इंच के व्यास में चारों तरफ एक जैसी मोटाई की गोल चपाती बेलिये. गोल और एक जैसी मोटाई की चपाती बेलने के लिये आपको प्रेक्टिस तो करनी ही होगी. रोटी बेलते समय एक जैसा हल्का दबाब दें, अधिक जोर न लगायें. नहीं तो रोटी कहीं से मोटी कहीं से पतली हो जायेगी और सही फूलेगी नहीं.

बेली गई गोल चपाती को गरम तवे पर डालिये, निचली सतह थोड़ी ही सिकने पर चपाती की ऊपर की सतह का कलर कुछ गहरा हो जाता है, अब चपाती को पलटिये. दूसरी सतह को ब्राउन चित्ती आने तक सेकिये.

चपाती के सीधे तवे पर भी सेक सकते हैं:- तवे पर रोटी को सेकने के लिये दूसरी सतह पर चित्ती आने के बाद रोटी को पलटिये और किसी कपड़े या चमचे को फिराकर रोटी सिर्फ तवे पर सेक लीजिये.

या तवा उतार कर गैस पर सेक सकते हैं- गैस पर सेकने के लिये तवे से चपाती उतारिये और पहले चित्ती वाली सतह को सीधे आग पर चिमटे की सहायता से घुमाते हुये थोड़ा और गहरी चित्ती होने तक सेकिये. ये ध्यान रहे कि चित्ती ब्राउन ही रहे, काली नहीं पड़नी चाहिये. रोटी को पलट कर दूसरी तरफ सेकिये. चपाती को चिमटे से पकड़ कर चारों ओर घुमाते हुये हल्की ब्राउन चित्ती आने तक सेक लीजिये. चपाती पूरी फूल जाती है. फूली चपाती को कभी हाथ से न पकडिये. इससे निकलने वाली भाप आपका हाथ जला सकती है.

यदि चपाती एक दम फूल जाय तो इसका अर्थ है यह अच्छी तरह से सिक रही है, उस पर हल्की चित्ती आने तक और सेक लीजिये,अगर आप किसी को खाना खिला रहे हैं और ये चपाती गरम गरम दे रही है तब आप ये चित्ती थोड़ी गहरी कर सकती है यानी कि आप कुरकुरी चपाती सेक कर दे सकती हैं. तुरन्त सिकी हुई घी लगी कुरकुरी चपाती खाने में बहुत अच्छी लगती है लेकिन बाद में खाने के लिये कड़क सिकी हुई चपाती अच्छी नहीं रहती.

चपाती को सेककर, कैसरोल में रखिये, दूसरी चपाती भी इसी तरह सेक लीजिये, इस चपाती के ऊपर थोड़ा सा देशी घी यानी कि एक चौथाई छोटी चम्मच से भी आधा रखिये और दोनों चपाती को एक दूसरे के ऊपर करके घी लगा दीजिये, घी लगी चपाती कैसरोल में रख दीजिये. बिना घी लगी चपाती जल्दी पचती है. गरम गरम बिना घी लगी चपाती खाइये, लेकिन घी लगी चपाती कैसरोल में रखने से बाद में 5-6 घंटे या और भी ज्यादा समय बाद खाने के लिये नरम रहती हैं.

  • गर्म और भाप से भरी रोटियों को तुरन्त डिब्बे में न रखे नहीं तो इसकी भाप रोटियों को गीला कर देती है. पहले रोटी की भाप निकल जाने दें.
  • रोटियों को कैसरोल, या डिब्बे के नीचे कागज, फाइल या कपडा लगाकर रखें. रोटियां कपडे में लपेट कर भी रखी जा सकतीं है.
  • आटा लगाने के लिये सर्दियों में गुनगुना पानी लीजिये. हल्के गर्म पानी से आटा अधिक मुलायम लगता है और रोटी भी अधिक मुलायम बनती है.
  • दो दिन तक प्रयोग के लिये एक साथ आटा लगाकर फ्रिज में रखा जा सकता है और आवश्यकतानुसार फ्रिज से निकाल कर प्रयोग में ला सकते हैं. फ्रिज में आटा रखने के लिये, आटे के ऊपर थोड़ा तेल लगाकर चिकना कर दीजिये, आटे को बन्द डिब्बे में रखिये, आटा एकदम ताजी रहता है.
How to make Roti video in Hindi
recipe

इस रेसिपी के बारे में सवाल पूछिए.

क्या आपके मन में इस रेसिपी से जुडा़ कोई सवाल है? आप Nishamadhulika.com पर आने वाले लोगों से उसे पूछ सकते हैं : यहाँ क्लिक करें.

Related Questions

Comment(s): 39:

  • on 17 February, 2011 09:17:56 AM
    mam, yadi hm atta lagakar frig m rakh dete h jab hm ise use karte h to roti bahut bekar,kali,moti banti h iske liye hm kya kare. Mam hath se roti banane ka bada mn hota h lakin banti hi nahi plzz koi sughav d

    निशा: रजनी, आटे के ऊपर थोड़ा सा तेल लगाकर और पूरी तरह ढककर फ्रिज में रखा जाया तो वह काला नहीं पड़ता.
    Reply Flag
  • on 17 February, 2011 10:52:18 AM
    Thanksssssssssss so much Mam meri request poori karne ke liye thanksssssssssss
    Reply Flag
  • on 17 February, 2011 13:48:56 PM
    thanks nishaji.for this article.
    Reply Flag
  • on 17 February, 2011 17:53:51 PM
    thanx for the roti video & article.
    Reply Flag
  • on 19 February, 2011 14:20:32 PM
    thanks a lot. @rajni answer solved my problem .thanks again.
    Reply Flag
  • on 17 March, 2011 14:39:14 PM
    ghar me to chapati banane ke liye ham gehu ka ata use karate hai. Lekin jo tandoor roti banati hai vo ata konasa hota hai.

    निशा: बाजार में तंदूरी रोटी मैं सामान्यतया मैदा प्रयोग की जाती है लेकिन यह आटे, चने या मक्के के आटे को मिला कर मिस्से आटे से भी बनायी जाती है,
    Reply Flag
  • on 22 March, 2011 14:28:37 PM
    thanks for reply. nishaji aap pls chai masala banane ki vidhi aur kaju curry ki vidhi bhi likhiye.
    Reply Flag
  • on 15 April, 2011 21:04:07 PM
    thanks mam, ghar se dur rhti hu or roti nhe banani ati isliye chawal khakar hi gujara karti hu; mai aj rat roti babane ki koshish karungi ;thanks again
    Reply Flag
  • on 28 April, 2011 07:41:44 AM
    thank you mam mujhe chapati bahut pasand hai
    Reply Flag
  • on 04 May, 2011 15:39:24 PM
    nisha ji, mai jab bi lunch box ke liye rotiya banati hu wo pathhr ki tarah hard ho jati hai plz meri help kijiye, soft ya mulayam roti banane ki tips bata dijie plz plz plz
    aapki Shreya

    निशा;
    श्रेया, रोटी का आटा को आधा घंटे फुलाने के बाद उसे चिकना होने तक मसल मसल कर ठीक कीजिये, आग मीडियम रखिये, चपाती बनाने वाले लेख को ध्यान से पढ़कर रोटी बनाइये आप जल्दी ही अच्छी रोटी बनाना सीख जायेंगी.
    Reply Flag
    • on 11 May, 2011 16:34:15 PM
      thanks nisha didi
      Reply Flag
  • on 27 May, 2011 15:30:50 PM
    thankz alot 4 this recipie
    Reply Flag
  • on 29 July, 2011 18:53:59 PM
    plz plz nisha ji besan wali bhindi ki recipe bta dijiye.

    निशा: खुशी, सर्च बटन पर बेसनी भिन्डी लिखकर आप रैसिपी खोज सकती हैं, रैसिपी वेवसाइट पर पहले से दी गई है.
    Reply Flag
  • on 09 August, 2011 18:43:42 PM
    hello nisha ji
    i like ur clarification about how to make recipes. thanks u helped me a lot
    Reply Flag
  • on 29 August, 2011 12:39:58 PM
    nishaji meri roti gol nahi banti kya karu plzzz bataiye ...
    Reply Flag
  • on 07 December, 2011 13:45:58 PM
    Nisha Ji, Pranaam! I wanna tell you that i found ur site by chance! Momos ki recipe search karte hue aapki site mili. And I just being fan of yours...! U r such an "encyclopedia" in yourself. Hat's off to you!!

    निशा: श्रितु, बहुत बहुत धन्यवाद.
    Reply Flag
  • on 09 March, 2012 14:40:47 PM
    mere roti gol nahi bante hai aur aata bhi soft nahi hota hai
    plssssssssssssssssssssss tell me what to do make dough gud.

    निशा: पूजा, प्रेक्टिस से सारी चीजें सही होने लगती है, बस आप बार बार करते जाइये.
    Reply Flag
  • on 05 June, 2012 15:15:06 PM
    mam
    after making rotis,when i pack in almunium foil to keep them warm,i hv noticed they get soggy.pls tell me what medium shud i use to pack so dat rotis remain hot and non soggy.
    thanx.
    निशा: अरूना, रोटी के लिये अच्छी पैकिंग तो अल्यूमीनियम फाइल ही होती है.
    Reply Flag
  • on 19 July, 2012 16:45:57 PM
    nisha ji,
    meri wife ki death ho gai hai. magar apki web site se ab mein khana bana leta hun. magar roti bante samay meri roti baar baar belan se chipak jati hai koi hal batayen.
    निशा: रायवर जी, आटे को थोड़ा सा सख्त गूथें, जितना अभी आप गूथ रहें हैं उससे, चपाती बेलते समय सूखे आटे में लोई को लपेटे, थोड़ा बेलने के बाद फिर से सूखें आटे में लपेटे और फिर से हल्का दबाव देते हुये बेले, रोटी बेलन से नहीं चिपकेंगी, धन्यवाद.
    Reply Flag
  • on 28 July, 2012 16:18:10 PM
    wah ji wah kya bat hau
    Reply Flag
  • on 30 July, 2012 22:57:24 PM
    Dear Nisha ji,
    Main gas par achchi roti bana leti hoon, par mere kitchen main cooking plate hone ki wajah se roti tawe(not Indian tawa but a cooking pan) par hi fulane ki koshish karti hoon.Lekin yeh achchi nahi banti. Koi tip share kijiye please.Isi kaaran se Maine roti banana kafi samay se chod diya hai aur paranthe banati hoon.

    निशा: एन, रोटी तवे पर भी फूल जाती है. आप इसे कपडे से दबा दबा कर सेक लें.
    Reply Flag
  • on 03 October, 2012 11:03:42 AM
    Nishaji
    Namaskar.
    Please batayen ki kya chapati bananey ke liye oil ki jagah par 1-2 tsp fresh malai (Boiled milk ke upar ji malai aati hai) use kar saktey hain.

    Please reply
    Thanks a lot mam.
    malai
    निशा: आशा, जी हां अवश्य कीजिये, आप दूध का यूज भी कर सकती हैं.
    Reply Flag
  • on 23 October, 2012 19:43:32 PM
    In the recipe for making chapatis the word filter is not correct. It should be sieve or sift.
    In the recipe for besan barfi the instruction given is to freeze, when you actually mean to set. people might think that they will have to keep it in the freezer.
    निशा: फीडबैक के लिये धन्यवाद
    Reply Flag
  • on 05 February, 2013 20:24:40 PM
    belan chalane ka sahi tarika kya hai ki roti gol bane?
    Reply Flag
  • on 11 February, 2013 18:25:16 PM
    kya besan se bhi roti bana sakte hein?
    निशा: प्रियंका, जी हां बेसन से भी रोटी बनाई जाती है.
    Reply Flag
  • on 22 February, 2013 19:23:27 PM
    mam, mai bahut patli or achhi rotiya banati hu par yy tabhi achhi lagti hai jab inhe garam garam khaya jaye jab mai in rotiyo ko lunch me pack karti hu to ye ekdam papd jaisi ya khivhi khichi ho jati h piz helpme how to keep it soft
    निशा: रितु, आटे में थोड़ा नमक और 1 कप आटे में 1 छोटी चम्मच तेल डालकर आटे गूथिये, और रोटियो को टिफिन में पैक करने के लिये घी अवश्य लगाइये, रोटियों को खुली न रखें, घी लगाकर तुरन्त पैक कर लीजिये या कैसरोल में रखिये रोटियां नरम रहेंगी.
    Reply Flag
  • on 26 February, 2013 16:55:08 PM
    nisha mam tandoori roti banana bhi sikhaiye
    निशा: अल्का, जी मैं कोशिश करती हूँ.
    Reply Flag
  • on 18 May, 2013 15:09:25 PM
    how you can preservate the chapate for 10 days
    Reply Flag
  • on 28 June, 2013 14:26:11 PM
    Mre roti kav ache bnte h kav akad jte h,or roti gol v nae ghumte.pls help me, gas ki aach kitni rkhne chaheye,or ache roti kaise bnege pls tell me aunty
    Reply Flag
  • on 18 August, 2013 23:57:31 PM
    Hiii Nisha ji.... kya achhi tarah c fuli hue roti kachhi ho sakti hai kya???
    निशा: ज्योति, रोटी फूलने के बाद उसे और हल्की चित्ती आने तक सेका जाय तभी वह अच्छी सिकी होती है.
    Reply Flag
  • on 11 September, 2013 16:53:50 PM
    Hello , I am from Romania and I like veri much indian food. I did and often roti the taste is good. But I do not know what to do when the swell dough on pan. What do you think is the cause? dough is not too soft and fluffy?
    निशा: कारमेन,
    Reply Flag
  • on 11 October, 2013 00:18:28 AM
    mam plz share recipe of making rumali roti as soon as possible.
    Reply Flag
  • on 18 October, 2013 03:04:10 AM
    Nisha ji, plz gwarpatha ki sabji banana bataiye
    निशा: दीपिका, मैं कोशिश करती हूँ.
    Reply Flag
  • on 25 October, 2013 01:31:12 AM
    mam, rumali roti ki recipe btaiye. plzzzzzzzzz
    Reply Flag
  • on 15 November, 2013 00:00:52 AM
    I have tried for your gravy verities but in vain
    Reply Flag
  • on 15 November, 2013 00:04:13 AM
    Ins haji Maine bahoot Khoisan ki aap ka gravy varieties ke bare main Lenin mi ne nahi pehachan liya
    Reply Flag
  • on 08 December, 2013 21:45:53 PM
    The best recipie I have ever seen . Ecery bit of info is added , floor water ratio ,time required. Very good simple recipie forvan idiot-lazy cook. Thank you Nishaji.God bless
    Reply Flag
  • rohit kumar singh on 13 February, 2014 16:09:18 PM
    how to download pdf of this video
    Reply Flag
  • on 25 February, 2014 07:18:56 AM
    nisha ji,meri roti kabhi mulayam nhi ban pati.kabhi koi fulti hai,kabhi nhi.narm mulayam roti ke liye kya karun pl.bataiye.kharab roti ke karan mujhe andar se complex ho jata hai,pl.help
    निशा: सोनक जी, आटा गूथते समय थोड़ा तेल डालिये, नरम गूथिये, रोटी को बेलते समय उसे बहुत अधिक पतला मत कीजिये, तवा गरम होना चाहिये आग मीडियम होनी चाहिये, रोटी सेकते समय, पहले रोटी को निचली सतह पर हल्का सा सेकिये, दूसरी तरफ ब्राउन चित्ती आने तक सेकिये, अब रोटी को डायरेक्ट मीडियम आग पर सेकिये, पूरे ध्यान रखते हुये रोटी सेकिये,धीरे धीरे रोटी बहुत अच्छी बनने लगेंगी.
    Reply Flag

Submit your question

Log in

Become a member free and get access to advanced features.

Latest Recipes

More Recipes >>