sitelogo
Horoscope English Q and A

पालक कचौरी - Palak Kachori Recipe - Crispy Spinach Kachori

Palak Kachori Crispy Spinach Kachori


एकदम खस्ता, कुरकुरी परत वाली ओर अन्दर मसाला भरी हुई पालक की कचौरी को कभी भी नाश्ते में परोस सकते हैं. इसे चाहे चटनी, सॉस के साथ परोसिये या यूंही चाय के साथ. बच्चों के टिफिन में भी रख सकते हैं और इसे हम यात्रा में अपने साथ भी ले जासकते हैं.

Read - Palak Kachori Recipe - Crispy Kachori Kachori In English

आवश्यक सामग्री - Ingredients for Crispy Spinach Kachori

  • मैदा - 2 कप (250 ग्राम)
  • तेल - 1/4 कप ( 60 ग्राम)
  • पालक प्यूरी - 1/3 कप (200 ग्राम पालक से बनी)
  • हरी मटर - 1 कप
  • हरा धनिया - 2-3 टेबल स्पून (बारीक कटा हुआ)
  • जीरा - 1/2 छोटी चम्मच
  • हींग - 1/2 पिंच
  • अदरक पेस्ट - 1/2 छोटी चम्मच
  • हरी मिर्च - -2 (बारीक कटी हुई)
  • लाल मिर्च पाउडर - 1/4 छोटी चम्मच
  • अमचूर पाउडर - 1/2 छोटी चम्मच
  • धनिया पाउडर - 1 छोटी चम्मच
  • गरम मसाला - 1/4 छोटी चम्मच
  • सौंफ पाउडर - 1 छोटी चम्मच
  • नमक - 1 छोटी चम्मच या स्वादानुसार
  • तेल - तलने के लिए

विधि - How to make Palak Kachori

किसी बड़े प्याले में मैदा निकाल लीजिए इसमें 1/4 कप तेल ½ छोटी चम्मच नमक, पालक प्यूरी डालकर सभी चीजों को अच्छे से मिला लीजिए और थोडा़ सा पानी डालकर नरम आटा गूंथ कर तैयार कर लीजिए. आटे को बहुत ज्यादा मसलना नहीं है. आटा को सिर्फ बाइंड कर लीजिए. आटा गुथ कर तैयार है, आटे को ढककर 15-20 मिनिट के लिए रख दीजिए. आटा सैट होकर तैयार हो जाएगा.

जब तक आटा सैट होकर तैयार होता है, तब तक कचौरी के लिए स्टफिंग बनाकर तैयार कर लीजिए.

स्टफिंग के लिए मटर के दानों को मिक्सर जार में डालकर दरदरा पीस कर तैयार कर लीजिए. पैन में 2 टेबल स्पून तेल डालकर गरम कीजिए, तेल गरम होने पर जीरा डाल कर भूनें. जीरा भूनने पर इसमें हींग, धनिया पाउडर , हरी मिर्च और अदरक का पेस्ट डालकर थोडा़ सा भून लीजिए. मसाला भून जाने पर इसमें दरदरे पीसे हुए मटर डाल दीजिए साथ ही नमक, सौंफ पाउडर, अमचूर पाउडर, गरम मसाला, लाल मिर्च पाउडर, धनिया पाउडर  और  हरा धनिया डालकर  सभी चीजों को अच्छे से मिलाते हुए मटर को 4-5 मिनिट भून लीजिए.

मसाले की नमी अच्छे से सूख गई है, कचौरी के लिए स्टफिंग बनकर तैयार है. स्टफिंग को प्याले में निकाल लीजिए और ठंडा होने दीजिए.

आटा सैट होकर तैयार है इसे थोडा़ सा ठीक कर लीजिए. आटे से छोटी छोटी लोईयां तोड़ लीजिए. कचौरियां तलने के लिये कढ़ाई में तेल डालकर गर्म कीजिये.

एक लोई उठाइये और हाथ पर रखकर उसे उंगलियों की सहायता से बड़ा कर, कटोरी जैसा बना लीजिये. आटे की इस कटोरी में 1 चम्मच स्टफिंग डाल दीजिये और आटे को चारों ओर से उठाकर स्टफिंग को अच्छी तरह बन्द कर दीजिये, कचौरी को हाथ से दबा कर थोडा़ सा बढा़ दीजिए. (आप चाहें तो इसे बेलन की मदद से भी बेल सकते हैं) कचौरी को प्लेट में रख दीजिए. इसी तरह से सारी कचौरियां भरकर तैयार कर लीजिये.

कचौरियां तलने के लिये तेल को मीडियम गर्म ही कीजिये और भरी हुई कचौरी को मीडियम गरम तेल में डाल दीजिये, जितनी कचौरी एक बार कढ़ाई में आ जाय उतनी कचौरी कढ़ाई में डाल दीजिये, और मीडियम धीमी आग पर तलिये, कचौरियां जब फूल कर तैरने लगे और नीचे की ओर से थोड़ी सिक जाय तब उन्हें पलट दीजिये, कचौरियों को पलट-पलट कर ग्रीनिश ब्राउन होने तक तल लीजिये. कचौरियों को प्लेट में निकाल कर रख लीजिये. सारी कचौरियां इसी तरह तल कर तैयार कर लीजिये.

गरमा गरम हरियाली कचौरी को हरे धनिये की चटनी, टमौटो सॉस या अपनी मनपसंद चटनी के साथ परोसिये और खाइये.

सुझाव

  • कचौरियों के लिये आटा नरम लगायें.
  • कचौरियों को भरते समय पिठ्ठी को अच्छी तरह आटे से बन्द करें कचौरियां फटनी नहीं चाहिये.
  • कचौरियों को तलते समय धीमी या मीडियम गैस पर तलें. कचौरियां एकदम खस्ता और बहुत अच्छी बनकर तैयार होंगी.
  • स्टफिंग भूनने के लिए नॉन स्टिक कढा़ई का उपयोग ज्यादा बेहतर होता है, इससे स्टफिंग कढा़ई में नहीं चिपकती
  • स्टफिंग को अच्छे से भून कर इसकी नमी समाप्त कर दीजिए अगर स्टफिंग में नमी रह गई तो कचौरी बाद में खस्ता कुरकुरी रहने के बजाय नरम हो जाती है.
  • 10-12 कचौरी बनाने के लिये
    समय - 50 मिनिट

Palak Kachori Recipe - Crispy Spinach Kachori

Please rate this recipe:

3.41 Ratings.

recipe

इस रेसिपी के बारे में सवाल पूछिए.

क्या आपके मन में इस रेसिपी से जुडा़ कोई सवाल है? आप Nishamadhulika.com पर आने वाले लोगों से उसे पूछ सकते हैं : यहाँ क्लिक करें.

Comments (8)

Vandna on 11 June, 2016 05:14:42 AM

hlo mem meri 2y k beti k bday 20 ko hi .kuch asan si recipe batay jo baco k sath bado ko b acha lge parti choti s hi. pao bhaji k sath dhokla appam ky acha lagega plg bty aap. y otr
निशा: वंदना जी, बेबी 2 साल की है आप उसे अपने लिये तैयार किये हुये खाने से खाना खिला सकती हैं, बेबी दाल-चावल, खिचड़ी, इडली, दोसा, चीला, परांठा ये सब खा सकती है, लेकिन सब्जियों और दाल में मसाले कम यूज कीजिये, बेबी हल्के मसाले वाली सब्जी ही खा सकती है.

Adarsh thakur on 13 June, 2016 00:50:26 AM

Mem ye Palak pyuri kya hai ?

निशा: आदर्श जी, पालक को मिक्सर में पीस कर पेस्ट तैय़ार किया गया है जो पालक प्यूरी है.

Renuka on 03 July, 2016 19:44:31 PM

nisha ji..palak ki kachori me hum aur kya kya stuffing bhar sakte hai?

निशा: रेनूका जी, आप इसमें पनीर, आलू या दाल जो आपको पसंद हो उसकी स्टफिंग कर सकती हैं.

Madhukar d parekh on 07 July, 2016 09:40:11 AM

Thank you very much for nice recipe. I have tried it and it is a very nice dish. Every one in my family enjoyed it. Very easy to prepare it after learning from your vedio.once again thank you very much.

निशा: मधुकर जी, बहुत बहुत धन्यवाद.

Shaziya on 18 July, 2016 02:29:27 AM

hllo mam,
is recipe me palak pyuri palak ko voiled krke banai gai he,

निशा: शाजिया जी, पालक उबालने की आवश्यकता नहीं.

Ami mehta on 02 September, 2016 11:06:11 AM

Nish Ji, Bachho ko hare matter pasand nahi.Subji me ho to side ker dete hai. Per aap ki ye receipe dekhi aur banai to dusre din naste ke liye bhi nahi bachi. sub rat k dinner me hi khatam ho gai. Thank you Nish Ji.

निशा: अमी जी, बहुत बहुत धन्यवाद.

Surbhi on 09 October, 2016 02:30:20 AM

Hello mam u are great .this receipe is liked by my father he appreciated me and its all bcoz of u . god bless u. I really liked your recipes. u are the only chef which does not use onion and garlic and still tasty receipes

निशा: सुरभि जी, मुझे यह जानकर अत्यंत प्रसन्नता हुई कि आपके पिताजी को आपके द्वारा बनाई गई डिश बेहद पसंद आई. आपको बहुत बहुत प्यार और धन्यवाद.

Anand on 23 February, 2017 04:32:53 AM

This is kachori very good

निशा: आनंद जी, धन्यवाद.

Click here to log in

Become a member free and get access to advanced features.

इस ब्लाग की फोटो सहित समस्त सामग्री कापीराइटेड है जिसका बिना लिखित अनुमति किसी भी वेबसाईट, पुस्तक, समाचार पत्र, सॉफ्टवेयर या अन्य किसी माध्यम से प्रकाशित या वितरण करना मना है.