sitelogo
Horoscope English Q and A

अलसी की सूखी चटनी - Flax Seeds Powder Chutney

अलसी की सूखी चटनी - Flax Seeds Powder Chutney


अलसी डार्क ब्राउन कलर के बीज होते है. प्रोटीन और फाइबर से भरे होने के साथ विटेमिन B1, मिनरल्स और आवश्यक फैटी एसिड्स ओमेगा - 3, ओमेगा- 6 से भरपूर एन्टीओक्सीडेन्ट अलसी का प्रयोग हमें अपने खाने में अवश्य करना चाहिये.

Read - Flax Seeds Powder Chutney in English

आवश्यक सामग्री - Ingredients for Flax Seeds Podi

  • अलसी के बीज - ½ कप
  • करी पत्ता - ½ कप
  • साबुत धनियां - 4 छोटी चम्मच
  • साबुत लाल मिर्च - 4
  • सूखा नारियल - ½ कप (कद्दूकस किया हुआ)
  • मूंगफली - 3-4 टेबल स्पून
  • तिल - 2 टेबल स्पून
  • जीरा - 2 छोटी चम्मच
  • काली मिर्च - 2 छोटी चम्मच
  • काला नमक - 2 छोटी चम्मच
  • नमक - ½ छोटी चम्मच
  • हींग - 2-3 पिंच

विधि - How to make Flax Seed Chutney Powder

अलसी की चटनी बनाने के लिए अलसी को भून लीजिए. इसके लिए कढा़ई को गरम कीजिए इसमें अलसी के बीज डाल दीजिये, और मीडियम आग पर लगातार चलाते हुए अलसी के दाने भूनें, इसमें से चटपट की आवाज आने लगे तो यह भून कर तैयार हो जाती है, इसे भूनने में 2-3 मिनिट का समय लग जाता है. अलसी भुनने के बाद थोड़ी फूली हुई दिखाई देती है, इसे आप खाकर भी चैक कर सकते हैं, भुनी अलसी क्र्सिपी और खाने में अच्छी लगती है. अलसी भून जाने पर इसे प्लेट में निकाल लीजिए.

कढा़ई में करी पत्ता डालें और इसे धीमी और मीडियम आग पर 3 मिनिट के लिए लगातार चलाते हुए भून लीजिए, करी पत्ता ड्राई होने तक भूनकर अलग प्याले में निकाल लीजिये.

अब कढा़ई में साबुत धनिया, लाल मिर्च और जीरा डालकर लगातार चलाते हुए हल्का सा ब्राउन होने तक भून लीजिए. लगभग 1 मिनिट भूनने के बाद इन्हें आप अलसी के भूने बीजों पर ही डाल दीजिए.
अब कढा़ई में तिल डालकर भूनें इन्हें भी हल्का कलर चेन्ज होने तक भून लीजिए और प्लेट में निकाल लीजिये.


अब नारियल को भी लगातर चलाते हुए हल्का कलर चेन्ज होने तक भून लीजिए और प्लेट में निकाल लीजिये.  इसके बाद मूंगफली के दाने और काली मिर्च को भून लें और प्लेट में निकाल लें, इन सभी चीजों को ठंडा होने दीजिए. ठंडा होने के बाद सभी चिजों को मिक्स करके इसमें काला नमक, सादा नमक, हींग और भूने हुए करी पत्ते डाल कर, मिक्सी में दरदरा पीस लीजिए.

अलसी की सूखी चटनी बनकर तैयार है इसे प्लेट में निकाल लीजिए. अलसी की चटनी को परांठे, चपाती और चावल के साथ खाया जा सकता है. इस चटनी को आप सब्जी़ या दाल में डालकर भी खा सकते हैं.
अलसी की चटनी से आप आटे में डालकर या भरकर नमकीन परांठे बना सकते हैं. सब्जी में डालकर उसका स्वाद और पौष्टिकता बढ़ा सकते हैं.

अलसी की चटनी को एअर टाइट कन्टेनर में भर कर रख लीजिये और 1 महिने तक खाते रहिए.

सुझाव :

  • अलसी की चटनी में आप मिर्च अपने स्वाद के अनुरूप डाल सकते हैं. अगर ज्यादा तीखा पसंद है तो मिर्च की मात्रा बढा़ सकते हैं और अगर तीखा पसंद नही है तो आप इसमें मिर्च लाल मिर्च बिलकुल भी न डालें.

Flax Seeds Powder Chutney Recipe Video in Hindi

Please rate this recipe:

3.50 Ratings.

recipe

इस रेसिपी के बारे में सवाल पूछिए.

क्या आपके मन में इस रेसिपी से जुडा़ कोई सवाल है? आप Nishamadhulika.com पर आने वाले लोगों से उसे पूछ सकते हैं : यहाँ क्लिक करें.

Comments (12)

Mamata on 27 December, 2014 04:19:51 AM

Dear Nishaji, is nayab recipe ke liye shukriya...Lin seed should be made a part of our daily diet...specially vegetarians who have fewer source of omega 3 in their diet. Plain sabji me variation lane me bhi ye recipe kafi useful hai......
निशा: ममता जी, बहुत बहुत धन्यवाद.

Joginder on 28 December, 2014 20:07:44 PM

alsi ko kis tarh khaya jay jis c benfit ho
निशा: जोगिन्दर जी, अलसी को भून कर उसका पाउडर बना लीजिये, अलसी पाउडर को रोटी, परांठे और सब्जी में डालकर खाइये, या अलसी के लड्डू और बर्फी बनाकर खाया जा सकता है.

Sudha on 15 January, 2015 01:56:38 AM

nishaji pl ek baat bataen, is chatni ko sookha to nahi kha sakte, phir ise pani se geela Karen kya ?
sudha

निशा: सुधा जी, इस चटनी को सब्जियों और दाल में डालकर खाते हैं, परांठे और पूरी पर लगाकर भी खाते हैं बहुत अच्छी लगती हैं.

Uma shahdeo sinha on 19 January, 2015 20:22:14 PM

िनशाजी नमस्कार , आपकी बताई रेसिपी बहुत अच्छी और ओथेन्टिक होती है ।अलसी हेल्थ के लिए बहुत अच्छा पर इसके रेसिपी की वेराइटी कम मिलती है । आपने चटनी की अच्छी रेसिपी बताई और इसके कई प्रयोग भी बताए । आपका बहुत बहुत धन्यवाद ।
निशा: उमा जी, बहुत बहुत धन्यवाद.

Umesh sharma on 10 March, 2015 06:30:18 AM

Dear nisha aunty, thanx for your such wonderful recipes. I did not know how to cook as i remained busy in my studies. My mother used to scold me for this.But my parents expired in 2011.and i got married in 2012. then my husband used to praise alot for his mother's cooking.I was helpless at that time. And then checked your website.After that day, my husband has started praising me.All credits go to you.It seems like my mother is teaching me.and god bless you and keep it up
निशा: उमेश जी, आपका कमेन्ट पढ़कर, मुझे बहुत अच्छा लगा, आपने वेबसाइट से देखकर बहुत जल्द खाना बनाना सीखा, बहुत बहुत धन्यवाद,

B.p.agrawal on 16 April, 2016 23:26:17 PM

Kat also ji chatani stanic mai bass banati jsi

Shailendrakumar on 11 August, 2016 07:34:12 AM

After aiding so many spices it will be not good for health only Alsi isgood for health

Gaurav on 16 September, 2016 04:29:15 AM

what shouldn't be taken after eating flaxIi seed?

Sandeep on 20 November, 2016 07:10:30 AM

madam ji kari patta grams me kitna hoga? kyonki mujhe ye pta nai lg rha ki kari patta tight krke aadha cup lena hai ya loos krke naapna hai ise cup me
निशा: संदीप जी, 15-20 ग्राम करी पत्ता ले लिये जा सकते हैं.

Sandeep on 10 December, 2016 06:44:27 AM

madam ji maine yeh chatni bna ke meyonise me daal ke sandwich bnaye. bahut hi badia bne aur sb ne bahut hi pasand kiye. thanks

निशा: संदीप जी, अपना अनुभव शेयर करने के लिए बहुत बहुत धन्यवाद.

Trupti on 09 October, 2017 03:05:16 AM

Does it has expiry period? Kitne din tak ye chutney achi rahti hai.. maine banai thi... sirf alsi mirch aur curry patta... but kafi din hogaye can I use it.... it looks fresh...
निशा: तृ्प्ती जी, बहुत अधिक दिन होने से ये स्वाद और गुड़ों दोंनो में कम हो जाती है.

Medha sirsat on 27 November, 2017 04:05:47 AM

Also chutney main garlic can be used,instead of curry patta?

निशा: मेधा जी, आप अपने स्वादानुसार बदलाव करके देख सकते हैं.

Click here to log in

Become a member free and get access to advanced features.

Latest Recipes

More Recipes
इस ब्लाग की फोटो सहित समस्त सामग्री कापीराइटेड है जिसका बिना लिखित अनुमति किसी भी वेबसाईट, पुस्तक, समाचार पत्र, सॉफ्टवेयर या अन्य किसी माध्यम से प्रकाशित या वितरण करना मना है.