ghiya

ghiya | ghiya in Hindi

लौकी की मुठिया (Lauki nu Muthia) कम तेल से बनी, भाप में पकाकर बनाई गई स्वादिष्ट और पौष्टिक गुजराती डिश है. सुबह या शाम को स्नैक्स में आपको यह अवश्य पसंद आयेगा.

लौकी की बर्फी (Ghiya Ki Burfee or Lauki ki Lauj) आप त्यौहार पर भी बना सकते हैं और व्रत में फलाहार के रूप में भी प्रयोग कर सकते हैं.बनाने में एकदम आसान, रेशेदार पौष्टिक लौकी की बर्फी दिवाली पर आपके

लौकी की खीर बहुत ही स्वादिष्ट सुपाच्य होती है. आइये आज हम लौकी की खीर ((Lauki ki Kheer) बनायें. लौकी की खीर मावा डाल कर भी बनायी जाती है लेकिन मावा प्रयोग के बाद लौकी की खीर का स्वाद मूलत: लौकी की

लौकी की सादा सब्जी कम पसन्द की जाती है, लेकिन अगर लौकी को चने की दाल (Chane ki Dal and Ghiya ki sabzi) मिला कर बनाया जाय तो वह अधिक स्वादिष्ट बनती है.

लौकी की सब्जी आप नहीं खाते कोई बात नहीं, लौकी के कोफ्ते (Lauki ka Kofta) खाने में बहुत ही स्वादिष्ट होते हैं, ये लौकी के कोफ्ते (Lauki Kofta Curry) आप अवश्य पसन्द करेंगे. तो आइये आज हम लौकी के

लौकी का रायता (Lauki ka raita) बहुत ही स्वादिष्ट और पौष्टिक होता है. आप में से कुछ लोग लौकी की सब्जी खाना भले ही नहीं पसन्द करें, लेकिन लौकी का रायता अवश्य पसन्द करेंगें. आईये आज हम लौकी का रायता