मथुरा के पेड़े – Mathura Peda Recipe – Mathura ke Pede

मथुरा के पेड़े (mathura ka peda) से अच्छे और स्वादिष्ट पेड़े दुनियां भर में कहीं भी नहीं मिलते. आप यदि पारम्परिक मथुरा जी के पेड़े (Mathura ke Pede) का एक टुकड़ा भी चखते हैं तो कम से कम चार पेड़े से कम खाकर तो रह ही नहीं पायेंगे. आईये आज मथुरा जी के पेड़े (Mathura Peda Recipe) बनाते हैं

पारम्परिक मथुरा जी के पेड़े (mathura Ke Pedhe) गाय के दूध से बनाये जाते थे लेकिन आजकल गाय का दूध के बजाय भैंस का दूध से भी बनाये जाते हैं.  इसे बनाने के लिये मावा और तगार का उपयोग होता है,  मावा और तगार (दाने दार बूरा) आप बाजार से ला सकते हैं यदि बाजार में न मिले तो घर में भी मावा बना सकते हैं देखिये How to make Mawa एवं How to make Tagar. यदि आप बाजार से मावा ला रहे हैं तो दानेदार मावा लेकर आयें.

मथुरा जी के पेड़े  (Mathura Peda) बनाते समय मावा को अधिक से अधिक भूना जाता है.  मावा को जितना अधिक भूनेंगे बने हुये पेड़ों की शेल्फ लाइफ उतनी ही अधिक होगी.  मावा भूनते समय बीच बीच में थोड़ा थोड़ा दूध या घी डालते रहते हैं जिससे इसे अधिक भूनना आसान हो जाता है. भूनते समय मावा जलता नहीं और मावा का कलर हल्का ब्राउन हो जाता है.   तो आइये बनाना शुरू करते हैं मथुरा के पेड़े.

आवश्यक सामग्री - Ingredients for Mathura Peda

  • खोया या मावा - 500 ग्राम ( 2 1/2 कप)
  • तगार (बूरा) - 500 ( 2 1/2 कप)
  • घी - 3 - 4 टेबल स्पून या आधा कप दूध
  • छोटी इलाइची - 8-10(छील कर कूट लीजिये)

विधि - How to prepare Mathura Pedha

किसी भारी तले की कढ़ाई में मावा डाल कर भूनिये, मावा को भूनते समय हर समय कलछी से चलाते हुये भूनिये मावा कढ़ाई में लगना नहीं चाहिये, जब मावा भुनते भुनते रंग बदलने लग जाय तब उसमें थोड़ा थोड़ा सा घी या दूध मिलाते रहिये और चला चला कर तब तक भूनिये जब तक कि वह ब्राउन कलर का न हो जाय.

मावा को ठंडा होने दीजिये, मावा ठंडा हो जाय तब उसमें 400 ग्राम ( 2 कप ) बूरा डाल कर अच्छी तरह मिलाइये,  कुटी इलाइची भी इस मिश्रण में मिला दीजिये.  पेड़े बनाने के लिये मिश्रण तैयार है.

बचा हुआ 100 ग्राम (आधा कप) बूरा एक प्लेट में रखिये.  मिश्रण से थोड़ा सा मिश्रण एक छोटे नीबू के बराबर निकालिये और हाथ में लेकर गोल  करके, हाथ से दबा कर, पेड़े का आकार दीजिये,  पेड़े को प्लेट में रखे हुये बूरे में लपेटिये और अपने दोंनो हाथों की हथेलियों से पेड़े को हल्का सा दबाकर प्लेट में लगा दीजिये, बने हुये पेड़े को थाली या ट्रे में लगाइये, एक एक करके सारे पेड़े इसी तरह तैयार करके थाली में लगाते जाइये.  देखिये क्या लाजबाव मथुरा के पेड़े  (Mathura Peda)  तैयार हैं.

ये मथुरा के पेड़े  (Mathura Peda) अब आप खा सकते हैं, बचे हुये पेड़े को 2-3  घंटे के लिये खुले पंखे की हवा में छोड़ दीजिये, ये थोड़े खुश्क हो जायेंगे.  अब आप इन मथुरा के पेड़े को एअर टाइट कन्टेनर में भर कर, फ्रिज में रख दीजिये, जब आपका मन करे कन्टेनर से पेड़े निकालिये और खाइये.  यदि मावा अच्छी तरह भूना गया है तो ये पेड़े आप महिने भर भी रख कर खा सकते हैं.

Mathura Peda Recipe video
recipe

इस रेसिपी के बारे में सवाल पूछिए.

क्या आपके मन में इस रेसिपी से जुडा़ कोई सवाल है? आप Nishamadhulika.com पर आने वाले लोगों से उसे पूछ सकते हैं : यहाँ क्लिक करें.

Related Questions

Comment(s): 87:

  • on 25 October, 2009 18:13:15 PM
    how much time will Mawa take to thik and become brown?
  • on 03 November, 2009 07:14:49 AM
    निशा जी थॅंक्स आज आप ने मेरी मनपसन्ध रेसीपी हमे बता दी मेने आप को कई बार बोला अब जाकर आप ने मथुरा के पेड़े बनाना बताया. ये मेरी मनपसन्ध मिटाईं है. हम आज ही ये पेड़े बनाएगे. एक बार ओर थॅंक्स.
  • on 25 December, 2009 05:06:04 AM
    NISHA its my sister name i like this name very much. thanks for your gagar ke halwe ki recipe ke liya.
    thanku
    Nisha ji
  • on 30 December, 2009 11:01:47 AM
    are maja aaa gaya ab to me ise bana lunga
  • on 03 February, 2010 17:15:19 PM
    mein janana chahti hu ki aapne peda mein sugar kyu nahi dala....kya hum chahe to sugar dal sakte hai
    निशा: शालिनी, पेड़े में चीनी नहीं, तगार या बूरा ही डाला जाता है.
  • on 20 February, 2010 05:12:47 AM
    main yeh janna chhahti thi ki yadi khoya 1 cup hai to boora kitna dalega aur khoye ko ghis kar hi cup mein dal kar naap lena ha.
    निशा: शालिनी, खोये को तो भूनिये और वह पतला हो जायेगा और कप से नापा जा सकता है, आधा या 3/4 कप बूरा ले लीजिये. वैसे खोये की मात्रा का आधे से लेकर उसके बराबर तक मीठा डाला जा सकता है,ये आपके अनुसार आप कितना मीठा पसन्द करते है.
  • on 26 February, 2010 08:34:07 AM
    mujhe to ye recepie bahut achchi lagi ye meri sabse man pasand recipe hai maine apni mummy ko ye banane ke liye kaha hai
  • on 12 March, 2010 09:59:47 AM
    Tagar ya bura ko aur kaunse naam se jana jata hai...??
    निशा: आस्था, इसे कुछ लोग करारा भी कहते हैं.
  • on 16 March, 2010 10:19:03 AM
    agar paneer se mava banana he to keise banate he aap batayegi hame
  • on 20 March, 2010 03:40:11 AM
    nisha ji
    Agar hum khoye ko bhunte samay usme boora ki jagah chini dal den to yeh material gujia mein bhara ja sakta hai ya nahin
    निशा: शालू, चीनी खोया भूनने के बाद और ठंडा होने के बाद ही मिलायें. खोया भूनते समय चीनी मिलायें तो वह पतला हो जाता है.
  • on 30 March, 2010 11:27:31 AM
    hello nisha ji kya hum khoye ki jga ricota ja paneer use kar sakte hai
    निशा: महक, ये पेड़े तो खोये से ही बनाये जाते हैं.
  • on 01 April, 2010 13:44:19 PM
    very nice
  • on 13 April, 2010 07:43:49 AM
    ye receipe hame bahoot hi acchi lagee ghar ka hi khoya tha so isse try kiya acchha bana sabko bahot accha lagaa pasand aayaa.
  • on 05 May, 2010 02:26:05 AM
    Nisha ji,

    mera mawa bhunne ke baad bikhar gaya ,aur pede jaisa nahi ban paya.kya aap bataeingi kya problem hui.
    thanks
    निशा: नेहा, मावा क थोड़ा घी या दूध डाल कर भूनना होता है.
  • on 19 June, 2010 07:12:32 AM
    agar mawa ghar me hi banana ho toh mawa bana kar use thnda karne ke baad seke ya mawa banate time hi seken
  • on 05 July, 2010 03:36:36 AM
    i upendra chaturvedi.i stay in mathura and mathura peda is a good sweets.pls you should try.
  • on 10 July, 2010 04:04:20 AM
    thanks for lovely sweet i made them they turn out great. thanks again
  • on 24 July, 2010 06:43:03 AM
    it is very sweet and testy....mazaa aa gaya
  • on 05 August, 2010 16:00:57 PM
    meine ye peda banaya lekin isme kuch khtta pan sa test aa raha he aur pede ka test badhiya nahi hei meine non stick kadai me mava banaya aur eksaath hi ghee dalkar bhuna
    निशा: अल्का, मावा में खट्टा स्वाद तो नहीं होता, यदि मावा खराब तो ये सम्भव है.
  • on 13 September, 2010 09:09:32 AM
    mujhe ye recipe bahut pasanad aayi main ise zaroor try karungi,,,thank uuuu
  • on 19 September, 2010 14:33:17 PM
    such a very nice web site ,ab mere khane ki tension door gayi thanks for launching this web site .....
  • on 05 October, 2010 20:45:49 PM
    nishaji ye bura jo aapne banaya hai wo bazar me nhi milta jya
    निशा: मिलता है.
  • on 09 October, 2010 05:56:42 AM
    nisha ji maine aapki yeh recipe tri ki thi mava to ashe se bhoon gya lakin jab maine thnda karne k baad usme boora milaya to voh itna ptlaa ho gya k oose poori raat frige me rkha doosre din oske pede bnay maine icing suger uise ki thi
    निशा: पेड़े बनाने के लिये बूरा प्रयोग में लाइये और अगर गरम मावा में बुरा या चीनी मिलाई तो वह पतला हो जाता है.
  • on 20 October, 2010 16:21:57 PM
    hi nisha, i had made tagar at home. after cooking mawa i left it to cool for few minutes. when both tagar and mawa cooled at room temprature i mixed both and added 1tsp of kesar milk... the mixture became to moist and peda could not be folded...wht could be the reason?
    निशा: स्नेहल, Ž৽सा तगार को गरम मावा में डालने के कारण ही होता है, आप यदि इस मिश्रण को फ्रिज में रखदें और आधा घंटे बाद पेड़े बनाये तो मिश्रण जमने वाला हो जाता है और पेड़े अच्छी तरह से बनाये जा सकते हैं.
  • on 22 November, 2010 22:06:03 PM
    This is my favorite sweet and was looking for recipe for a long time. We used to call this peda different name in south. Excellent description of the sweet how it is supposed to be cooked, very detailed. I exactly followed the recipe and made with regular milk, it turned out very nice. I also tried it with Ricotta cheese and it is as good as the other. I thought Ricotta cheese would cut down my cooking time but it took equally the same amount of time.
  • on 29 November, 2010 12:42:29 PM
    Man
    Maine ye recipe padi bahut achi lagi pr mam agr hm mava ya khoya ghr me bnana chahe to vo kaise banega please ye bhi bta dijiye.
  • on 22 December, 2010 14:15:59 PM
    Nishaji

    Main jab khoya bhoonti hun toh woh lagne lagta hai kya shuru mein hi ghi dalna hai. Main bazar se khoya layi thi
    निशा: शालू, मावा को चमचे से चलाते हुये भूनिये. कभी कभी बाजार में मावा से घी निकाल लेते हैं तब उसमें घी शुरू में भी डाल सकती हैं.
  • on 27 December, 2010 08:42:33 AM
    Nishaji

    maine pede bana kar dekhe jab mawa thanda ho gaya tab usme maine boora dal diya par phir laddo nahin ban paye woh kasaar jaisa lag raha tha
    निशा: शालू, हल्के गरम मावा में बूरा मिला लीजिये और अगर मावा एकदम ठंडा हो जाय तो एसा हो सकता है, तो आप किसी बर्तन में पानी भरकर गरम कीजिये और उसके Šৠपर मावा बूरा का बर्तन रखकर थोड़ी सी गरमाहट दे दीजिये, पेड़े बन जायेंगे.
  • on 17 March, 2011 10:09:31 AM
    Nisha ji, pade ko bura me lapetna jaruri hai?

    निशा:
    अंजू, जरूरी नहीं है लेकिन अच्छा लगता है.
  • on 06 April, 2011 16:27:03 PM
    maine pede banae the.bahut hi tasty bane.sirf mawe se aur kon-kon si mithai ban sakti hai.

    निशा:
    मावा की बर्फी, मावा के लड्डू, और भी बहुत सारी मिठाइयां मावा से बनाई जाती हैं.
  • on 25 April, 2011 16:53:22 PM
    nishaji
    I also tried this Peda receipe, but could not bind Laddoo I freezed that and cut in small pieces, but that was also not too soft.
    Please advise what went wrong.
    regards
    anu

    निशा: अनु, मावा को ज्यादा भून लिया जाय तो नरम नहीं रहता.
    • on 26 April, 2011 15:25:34 PM
      but nisha ji aap ney hi to kaha jitna jayada bhoone ge utne self life jayada hogi? निशा: अनु, मावा अच्छी तरह भुनना चाहिये, यह बात तो बिलकुल सच है, लेकिन मावा में थोड़ी नमी तो रहनी ही चाहिये, तभी पेड़े या लड्डू बनाये जा सकते हैं.
  • on 15 May, 2011 19:23:10 PM
    Hello Nisha G
    Kya aap mujhe ye batayenge ki halwai mithai me aur kiya milata tha hai wazan badane ke liye

    निशा: मुझे तो सिर्फ घर में खाना बनाने के बारे में मालूम है. मिलावट के बारे में नहीं.
  • on 02 June, 2011 17:25:16 PM
    mam, aapne apni recepi me how to make tagar ka ek caption diya hai par mam jab maine ispe click kiya to waha tagar ki recepi open nhi hui mam plz bataye ki how can i make tagar?

    निशा:
    अकाक्षा, आप सर्च बटन पर तगार लिखिये और क्लिक कीजिये, आप तगार की रैसिपी देख सकती हैं.
    • on 01 February, 2012 09:20:55 AM
      मुझे तो सिर्फ घर में खाना बनाने के बारे में मालूम है. मिलावट के बारे में नहीं.
  • on 23 September, 2011 22:17:28 PM
    Thank you ma'am aapne bhot achchi reciepi btai maine bnaya bhot tasty pede hai.ma'am raj bhog reciepi b btaiye plz.
    निशा: उमा, धन्यवाद. मैं राजभोग रैसिपी लिखने की कोशिश करूंगी.
  • on 29 September, 2011 21:13:43 PM
    Hi,
    I like's for recepe.

    Regards,
    Kuldeep Singh (Mathura)
  • on 30 September, 2011 19:18:09 PM
    nisha ji tagaar aur maava banane ki vidhi dobara saath main likh de mene kai baar try kiya par ye open nahi ho rahe, main german main rehti hoon is liye shop se bhi nahi milega thanks
  • on 03 October, 2011 16:19:35 PM
    निशाजी , मैंने हाल ही में आपका साईट पढ़ना शुरू किया है . और जाहिर सी बात है की इससे लाभान्वित भी हुई हू . शुक्रिया निशाजी , आप काम बहुत ही अदबुध, स्वीट, व् न जाने कितने ही रिस्तो में मिठास भरने वाला है. आशा है हम सब इसी तरह से आपसे अपने जीवन में मिठास भरते रहेंगे ..........
    क्या आप हमें सोहन पपड़ी की रेसिपी बता सकती है. आपका बहुत - बहुत धन्यवाद ......आशा है जल्दी ही आप हमारी जिज्ञासा पूरी करेंगी ..

    निशा: शर्मिल, धन्यवाद, मैं कोशिश करूंगी.
  • on 13 October, 2011 10:50:00 AM
    Mam jaisa aapne btaya tha waise hi maine bnane ki koshish ki pr baad me mawa thanda krne k baad jb bura milaya to pede bne hi nhi wo b bura jaise ho gye plz mam btaiya aisa q hua mai achche pede bnana chahta hue..
    निशा: शिवम, मावा एकदम ठंडा हो जाय तो वह बूरा बन जाता है और वह गरम हो तब बूरा मिलाये तब वह पतला हो जाता है. मावा को बिलकुल हल्का गरम हो तब आप बूरा बनाइये तब पेड़े बन सकेंगे, आप कोशिश कीजिये, पेड़े आप बना लेंगे, धन्यवाद
  • on 01 December, 2011 15:20:55 PM
    Hello Nisha G
    Kya aap mujhe ye batayenge ki how to make tagar.

    निशा:
    राजीव, वेवसाइट पर तगार बनाने का तरीका दिया हुआ है, आप सर्च बटन पर लिखकर तगार बनाने का तरीका वेवसाइट पर देख सकेंगे.
  • on 21 December, 2011 16:56:37 PM
    Dear nisha ji
    aap plz hume ye bhi bataya kare k jitni quantity me aapne ingredients bataye hai us se kitne logo k liye recipe banegi

    निशा: अल्का, स्वीट तो हम रखकर खाते हैं, सब्जी या चपाती के लिये मैं लिखती हूँ कि वह कितने लोंगों के लिये हैं, मैं और ध्यान रखूँगी ये सब बताने का, धन्यवाद.
  • on 22 February, 2012 23:51:52 PM
    nisha ji tagar(bura) kya hota hai? pls mujhe detail mai bataiye.

    निशा: संध्या, सर्च बटन पर तगार लिखकर आप तगार के वारे में डिटेल पढ़ सकती हैं, तगार या बूरा बनाने का तरीका वेवसाइट पर पहले से उपल्ब्ध है.
  • on 17 April, 2012 20:58:32 PM
    thnks my favrt recipy app ki sabhi recipy achi lagti hei
  • on 04 May, 2012 14:30:09 PM
    बहुत ही अच्छी मिठाई है. इसको बनाने का तरीका बताने के लिए आपको बहुत-बहुत धन्यवाद.
  • on 27 May, 2012 20:48:16 PM
    Medam,
    recently i came to know your website and I HAVE BECOME YOUR FAN thank you very much for your prizeless contribution to the receipe world

    thank you once again
    निशा: पुरूषोत्तम जी, धन्यवाद.
  • on 29 May, 2012 18:14:43 PM
    Madam

    this is second time i am leaving my words here.

    I have become fan of you after visiting your website. I thank you very very much for your priceless services to the world of Indian recipe.

    निशा: पुरुषोत्तम जी, मुझे बहुत खुशी हुई, धन्यवाद.
  • on 30 May, 2012 21:59:08 PM
    nishaji me ragbandra yadav mene bhi aapke mathura ke peda banaya he achcha bana tha lekin me aapse janna chahta ho ki peda ko peda kyo bola jata he or peda ka name peda kyo pada he.

    निशा: राघबेन्द्र जी, ये तो बचपन में सभी के सवाल होते हैं कि चने को चना क्यों और गेहूं को गेहूं ही क्यों कहा जाता है, हमारी सभ्यता ने हर चीज को उसकी पहचान के लिये एक नाम दिया है और हम सब उसी नाम से उस चीज को पहचानते हैं, मुझे तो इतना ही मालुम है, धन्यवाद.
  • on 06 June, 2012 11:58:09 AM
    Hi,
    nishaji maine aaj hi first tme aapki rcp dekhi hai mujhe bahut pasand aai .ek q hai mawa ki jagah condenced milk use kr sakte hai mathura k pede banane k liye.
    निशा: फरहा, ये गाय के दूध से बनाये गये मावा से बनते हैं, कन्डेन्स्ड मिल्क से मथुरा के पेड़े नहीं बनाये जा सकते हैं.
  • on 13 June, 2012 10:53:08 AM
    Dear Nishaji,

    I tried to make peda. I dont get mawa in Australia so i make mawa first with full cream milk by boiling but my mawa does not leave oil after cooking as yours market bought. Do they add extra ghee or oil in that mawa. I tried my homemade mawa for these peda and it sticks a lot to the pan after drying i added ghee after every 1 minute but could not became brown as yours. it start to burn so i stopped and made peda of white mawa. Please tell me the solution.

    with regards
    Shina
    निशा: शाइना, ये पेड़ा गाय के दूध से अच्छे बनते हैं, धन्यवाद.
    • on 18 June, 2012 04:41:26 AM
      Dear nishaji, i tried with cow milk. In Australia we don't get buffalo milk. निशा: शाइना, आप फिर से कोशिश कीजिये, कभी पहली बार सफलता नहीं मिल पाती.
  • on 30 June, 2012 16:33:47 PM
    i like ur recipes
    • on 04 July, 2012 18:09:38 PM
      Nisha ji yummmmmmmmmmmmmmy peda
  • on 13 July, 2012 11:03:33 AM
    thanks nisha ji
  • on 24 July, 2012 18:25:13 PM
    Hello,
    Nisha ji...
    maine mathura k pede banaye...bahut acche bane meri family m sabne tarif ki..

    thanx
  • on 29 July, 2012 23:48:23 PM
    Nisha ji, maine pede banane ki koshish ki, panjiri jaisa powdery reh gaya, pede fold nahi ho paaye. Kisi tarah se ise repair kar sakte hain?
    निशा: दिलप्रीत, कढ़ाई में 2 टेबल स्पून दूध डालिये, पेड़े के लिये जो पाउडर बना वह भी डाल दीजिये, धीमी आग पर मेल्ट होने तक पका लीजिये, और ठंडा होने पर पेड़े बना लीजिये.
  • on 10 August, 2012 17:53:30 PM
    UP me mathura ke pede aur kahana kahan milte hai.
    main banaras me rehta hun to kaise pede purchase kar sakta hun
  • on 11 August, 2012 02:03:05 AM
    I try this recipie but when i try to make peda it didn't form in balls. its comes out very dry "churma". how to fix it and what's missing in it.

    निशा: इस मिश्रण में 2 टेबल स्पून दूध डालिये और धीमी आग पर मेल्ट होने तक पका लीजिये, और ठंडा होने पर पेड़े बना लीजिये.
  • on 24 August, 2012 11:06:07 AM
    bahut hi swadista pede hai...yesa mere baccho ne khane ke baad kahe. aur baccho ke yesa kahne se mujhe bahut hi khushi milli . thanks nisha ji
    निशा: रश्मि, धन्यवाद, और बच्चों को बहुत बहुत प्यार.
  • on 10 September, 2012 15:10:13 PM
    maine chhena rasgulle banaye the lekin sponan nahi aya yani ki fule nahi the mulayam nahi huye the uske liye kya karna padega please bataiye
    निशा: धरमराज जी अगर आप रैसिपी पर सवाल लिखें तो मुझे जबाव देने में आसानी होती है, रैसिपी पर बहुत सारे जबाव इसी तरह के है आप वह भी पढ़ सकते हैं.
  • on 17 September, 2012 10:12:38 AM
    Hiiiiii
    Nisha Ji,

    I made this Recipe for my family members, they like it too much.
  • on 17 September, 2012 21:20:40 PM
    Hi mam
    can i make khoya with fresh cream,kyunki yahan per khoya nahin milta hai, plz tell me how to make peda without khoya mam plz reply bcs your recipe is very very gooooood.....
    निशा: शाजिया, क्रीम से खोया नहीं बनेगा, उसमें घी की मात्रा अधिक होती है, आप मिल्क पाउडर में थोड़ा दूध मिलाकर लगातार चलाते हुये पकायें मावा बन जायेगा, और उसे भून कर पेड़े बनाये जा सकते हैं.
  • on 26 October, 2012 21:50:21 PM
    maja aa gaya .
  • on 01 November, 2012 08:43:48 AM
    nisha ji thanks itni achi recipe sikhane k liye..nisha ji muje guajarat me jo besan se magaj banta hai na uski recipe chahiye pls aap muje batayegi na pls...
  • on 21 December, 2012 17:00:14 PM
    Nishaji,,,,maine ye pedhe banaye,bohot hi jada tasty bane..aur maine aapse bahot dishes banana sikha h,,i m so happy..sabhi muze cooking me expert samajte h aur tarif karte h..bt credit goes to u... thanks a lot nishaji...
    निशा: गीता, कुछ भी करने के लिये मेहनत की जाय तो सफलता मिलती है, मुझे बहुत खुशी हुई, आप ये सभी चीजें अच्छा बनाती हैं, बहुत बहुत धन्यवाद.
  • on 25 January, 2013 21:16:23 PM
    nisha ji mawa mitha lena h ya phika,,,,,me thora confuse hun,,,
    निशा: ललित, मावा फीका लेना है, बाद में तगार मिलानी है.
  • on 27 March, 2013 16:29:38 PM
    nishaji, so.... nice receipe...
    mera ek sawal he, agar freeze na ho to ye pede kitane din tak rakh sakte he?

    निशा: मनिषा, फ्रिज के बिना इन्हैं 15 दिन तक रख कर खाया जा सकता है.
  • on 28 March, 2013 19:17:27 PM
    hallo nishaji,
    ye bura kya hota hai, ise marathime kya kehate hai
    निशा: स्मिता, बूरा या तगार चीनी से ही बनता है, किराना स्टोर पर आसानी से मिल जाता है. यदि आप चाहें तो तगार को घर पर भी बनाया जा सकता है, वेबसाइट पर तगार बनाने की रैसिपी दी हुई है, सर्च बटन पर तगार या बूरा लिखकर रैसिपी सर्च कर सकते हैं.
  • on 22 April, 2013 19:09:43 PM
    निशा जी थॅंक्स आज आप ने मेरी मनपसन्ध रेसीपी हमे बता दी
  • on 26 April, 2013 13:10:27 PM
    pede banakar friz me rakhna jaruri he kya...........
    निशा: नीलम, पेड़े बाहर भी रखे जा सकते हैं, लेकिन बहुत दिन तक न रखें.
  • on 02 May, 2013 19:00:15 PM
    NISHA MAM

    tagar ka bure ka matlab shakkar kabura hi hota hai na..


    please
    reply me fast
  • on 12 June, 2013 03:01:32 AM
    Mava ko kitne min tak bhuna chahiye ?
    निशा: नन्दिनी, कितने मिनिट तक भूनें ये कहना बहुत कठिन है क्यों कि मावा भूनते समय गैस कितनी है, बर्तन किस आकार का है या वह कितना भारी है,कई चीजें हैं जिनके अनुसार समय लग जाता है, 250 ग्राम मावा को भूनने में 12-15 मिनिट का समय लग सकता है. मावा को ब्राउन होने तक भूनना होता है, प्लीज आप इसके लिये वीडियो देखिये और बनाइये पेड़े आप अच्छे पेड़े बना लेंगीं.
  • on 02 August, 2013 02:47:39 AM
    Nisha ji..! Nameste, mae apni Beti ko aapki
    Recipes ki DVD gift karna chahti hoo, jis se vo
    saare sasuraal walo ka dil jeet sake.
    Kahan se aur kaise le sakti hoo...?
    Please guide karo.....
    निशा: अनीता जी मेरी कोई डीवीडी नहीं है, मेरा सारी रैसिपी इन्टरनैट पर ही देखी जा सकती हैं, और आपकी बेटी रैसिपीज को फोन पर भी देख सकती हैं, लेकिन आप जैसी मां इस जमाने में जो अपनी बेटी को अच्छा खाना बनाकर ससुराल वालों को खुश रखने की कहती हैं, मैं दिल से आपको बहुत बहुत धन्यवाद कहती हूँ, आप और आपकी बेटी हमेशा खुश रहें.
  • on 22 August, 2013 01:32:11 AM
    Namaste Nishaji,

    Please tell me what is Tagar from where wel get this?

    Thank you.
    निशा: राजी, तगार और बूरा चीनी से ही बने होते हैं, किराना स्टोर पर आसानी से मिल जाते हैं,और तगार को घर में आसानी से बनाया जा सकता है,घर में तगार बनाने का तरीका वेबसाइट पर उपलब्ध है, सर्च बटन तगार कैसे बनायें लिखकर रैसिपी सर्च कर सकते हैं.
  • on 02 September, 2013 22:52:11 PM
    what is tagar in mathura peda
  • on 09 September, 2013 02:27:05 AM
    Maine apki mathura ke pade ki receipe ghar per try ki thi pade bahut acche ban gaye the
    iske liya apko thanks.
  • on 04 October, 2013 01:44:39 AM
    thanks for the amazing receipes. i am a great fan of you and try your receipes in our kitchen.
    your receipe ingredinents are easily available in market and you describe the making of receipe in very easy way. thanks once again
    निशा: रूबी, आपको भी मेरा बहुत बहुत धन्यवाद.
  • on 12 November, 2013 08:44:11 AM
    bhut thanku aapko iitne eeze tarike se peda batane ke lie.
    .
  • on 05 December, 2013 03:23:48 AM
    Hello Madam Ji,
    Kaisi ho, Asha hai to Aap apna cooking class key sath bahud Acha hoga, Madam kya Aap mujee bataye ge kyi tagar kya hota hai or kaisi banata hai, kyunkyi mane issi phelee kabhai nam nahin suna, shama karna ji, or Aapka website main bhi kaphi druna par mila nahin, So pls. mam.........! Dannyawad jaihand.
    निशा, फुन्तसोक जी, चीनी से बनती है, बारीक दानेदार होती है, तगार बनाने का तरीका वेबसाइट पर दिया गया है, सर्च बटन पर तगार रेसिपी लिखकर रैसिपी का तरीका देखा जा सकता है.
  • on 18 January, 2014 11:46:03 AM
    Nishaji, I tried this receipe but first the mixture turned very dry and pede nahin bandh rahey the, so I added some milk, to halwa jaisi consistency ban gayi, maine, filhaal, fridge mein rakha hai . Ab aap batain, main usey kaisey theek kar sakti hoo. ?
    निशा: दिव्या, फ्रिज में रखने से मिश्रण जम गया होगा और आपने पेड़े बना लिये होने चाहिये, दूध या मलाई डाली 1-2 छोटी चम्मच डाली जाती है, मिश्रण पतला होने पर मिल्क पाउडर मिलाकर मिश्रण को खुश्क करके पेड़े बनाये जा सकते हैं.
  • on 27 January, 2014 07:07:41 AM
    aap khud he markat me gakar khared shaktea hai
  • on 13 February, 2014 13:18:43 PM
    Nishaji,

    I am SARALA SHAH I am 80 years old . When i am confused i alwayas open my computer and your web then makes my recipee and gets 100% result.Again Thank you

    निशा: सरला जी, मुझे बहुत खुशी हुई कि आप अभी भी खाने बनाने में इतना इन्ट्रेस्ट लेती है़. आपको भी मेरा बहुत बहुत धन्यवाद.
  • on 13 April, 2014 07:35:19 AM
    thanks for your recipes kya aap mujhe bal methai ki recipe bana kar dikha sakti hai
  • on 17 June, 2014 08:01:32 AM
    I like this recepy of khoa but also publish research paper
  • on 28 June, 2014 04:23:07 AM
    this the a very good way of learning new recipes, me and my mother both has learn lots of new recipes form here.

    निशा: यूक्ता, बहुत बहुत धन्यवाद.
  • on 28 June, 2014 04:27:21 AM
    i loved this way of learning the recipes.
    i got this from my sister yukta, and after watching the recipe of Mathura Ke Peda my mouth watered. i am truly loving it.
    निशा: आर्या जी, बहुत बहुत धन्यवाद.
  • on 18 July, 2014 07:04:10 AM
    peda """"that is really very testy.please do try.

Submit your question

Log in

Become a member free and get access to advanced features.

Latest Recipes

More Recipes >>