sitelogo
Horoscope English Q and A

चाशनी में पगी गुजिया Gujihya dipped in Sugar Syrup – Gujhiya Recipe

क्या आपने होली के लिये गुझिया (Gujhiya) बना लीं हैं? गुझिया के ऊपर अपनी पिछली पोस्ट में मैंने सामान्य मावा  या खोया गुझिया (Mawa Gujhiya) के बारे में लिखा था.

इन्हीं मावा गुझिया (Mava Karanji)  के ऊपर चाशनी की एक परत चढाकर गुझिया भी बनाई जाती है.  इसमें उपयोग होने वाली सामग्री लगभग एक जैसी ही है लेकिन बनाने में बस थोड़ा ही अन्तर है.  चाशनी में पगी इन्हीं गुझिया की तरह चन्द्रकला भी बनायी जाती है चन्द्रकला और गुझिया के आकार और अन्दर भरने वाले कसार में थोड़ा अन्तर होता है.   चन्द्रकला बनाना तो लगभग बहुत ही कम हो चला है. इसे हम फिर कभी बनायेंगे, आज इस बार होली के अवसर पर हम चाशनी में पगी गुझिया बनायें

आवश्यक सामग्री - Ingredient of Gujhiya

गुझिया में भरने के लिये मिश्रण (कसार)

  • मावा या खोया - Mawa or Khoya - 200 ग्राम (एक कप)
  • पिसी चीनी या बूरा - 200 ग्राम ( 1 कप)
  • काजू - 20 - 25 (एक काजू को 6 -7टुकड़े करते हुये काट लीजिये)
  • किशमिश -40-50 (डंठल तोड़ लिजिये)
  • छोटी इलाइची - 6-7 (छील कर बारीक कूट लीजिये)
  • सूखा नारियल - आधा कप कद्दू कस किया हुआ
  • चिरोंजी - 2 टेबल स्पून  (साफ कर लीजिये)

गुझिया का आटा तैयार करने के लिये.

  • मैदा - 400 ग्राम ( 4 कप)
  • घी - 100 ग्राम (1/2 कप)
  • घी - गुझियां तलने के लिये
  • चीनी - 400 ग्राम (2 कप) चाशनी के लिये

विधि - How to Make Gujhiva Recipe

gujhiya_kasar_960382129.jpg

गुजिया के अन्दर भरने के लिये कसार तैयार करें. How to make filling for Gujhiya

भारे तले की कढ़ाई में मावा को ब्राउन होने तक अच्छी तरह भूनिये. (मावा जितना अच्छा भुना होगा, गुझिया अधिक दिनों तक खराब नहीं होगीं).  भुने हुये मावा को एक बर्तन में निकाल लीजिये, मावा को ठंडा होने दीजिये.
भुने हुये मावा में चीनी या बूरा, काजू, किशामिश, इलाइची, नारियल और चिरोंजी डाल कर अच्छी तरह से मिलाइये.  गुझियों में भरने के लिये कसार (Filling for Gujhiya) तैयार है.

गुझिया तलने के लिये तैयार कर लें

मैदा को किसी बर्तन में छान कर निकाल लीजिये, घी पिघला कर आटे में डालिये और मिलाइये,  गुनगुने पानी की सहायता से कड़ा पूड़ियों जैसा आटा गूथ लीजिये, आटे को आधा घंटे के लिये गीले कपड़े से ढककर रख दीजिये.  गुझिया बनाने के लिये आटा तैयार है.

आधा घंटे बाद आटे को मसल कर मुलायम कीजिये, आटे से छोटी छोटी एक बराबर की लोइयां तोड़िये, इस आटे से इस आकार की करीब 40 -45 गुझिया बनाई जा सकती हैं.  लोइयों को गीले कपड़े से हमेशा ढककर रखिये.  एक लोई निकालिये और पूरी की तरह बेलिये,  यह पूरी थोड़ी सी मोटी रहनी चाहिये.  सामान्य गुझियां बनाने में यह पूरी पतली रखी जाती है.

पूरी को हाथ पर रखिये, पूरी के ऊपर 1 छोटी चम्मच कसार रखिये, किनारों से पानी लगाइये, पूरी को मोड़कर बन्द कीजिये तथा उंगलियों से दबाकर अच्छी तरह चिपकाइये (चाशनी वाली गुझियां बनाने के लिये सांचे की आवश्यकता नहीं है).  किनारे को हाथ से गोठिये, गोठने की प्रैक्टिस तो आपको करनी ही होगी,  इस गुझिया को किसी थाली या कपड़े पर रख सकते हैं.

10 गुझिया एक साथ बेलिये और तैयार कीजिये.  10 गुझियां बनाने के बाद इन्हें कपड़े से ढक दीजिये  (इसके लिये आप धुली चादर ले सकती हैं). फिर से 10 गुझियां बन जायं तो गुझियां ढकी हुई गुझियों के पास रख कर ढक दीजिये.  इसी तरह से सारी गुझियां बनाकर तैयार कीजिये और ढककर रखिये.

आपकी गुझिया तले जाने के लिये तैयार हैं आप चाहें तो 15 - मिनिट का ब्रेक ले सकती हैं.

गुझिया तल लें

मोटे तले की कढाई में घी डाल कर गरम कीजिये, गरम घी में 8-10 या जितनी कढ़ाई में आ सके उतनी गुझिया डालिये और धीमी गैस फ्लेम पर ब्राउन होने तक तल लीजिये, तली हुई गुझियां निकाल कर थाली में रखिये. सारी गुझिया इसी तरह से तल कर निकाल लीजिये.  हमारी सारी गुझिया तल चुकी है, सिर्फ चाशनी में डालनी बाकी है.

गुझियों को ठंडी होने दीजिये, तब तक हम चाशनी बना कर तैयार करते हैं.

चाशनी तैयार कर लें

किसी बर्तन मे चीनी निकालिये, चीनी की मात्रा का आधा पानी (400 ग्राम चीनी में 150  ग्राम (3/4 कप पानी) डाल कर मिलाइये, चाशनी बनने के लिये गैस फ्लेम पर रखिये.  2 तार की चाशनी बनाइये ( चाशनी में उवाल आने के बाद 5-6 मिनिट तक पकाइये, चम्मच से चाशनी निकाल कर प्लेट पर 1-2 बूद गिराइये. उंगली और अंगूठे के बीच चिपका कर देखिये, चाशनी को तार के निकालते हुये चिपकना चाहिये). गैस बन्द कर दीजिये.  चाशनी तैयार हो गई है़

gujhiya-photo-4.jpg

गुजिया पर चाशनी की परत चढ़ा लें

4-5 गुझिया चाशनी में डुबाइये और कलछी से निकाल कर दूसरी थाली में रखिये, इसी तरह सारी गुझियों को चाशनी में डुबा कर निकाल लीजिये. गुझियों को एक दूसरे से अलग ही रखिये, 1 घंटा हवा में छोड़िये, पलट दीजिये और 1 घंटे हवा में रख लीजिये.  आपकी चाशनी वाली गुझियां तैयार हो गयीं हैं.  ताजा ताजा गुझियां खाइये और अपने होली पर आये हुये मेहमानों को खिलाइये.  बची हुई गुझियां एअर टाइट कन्टेनर में रख लीजिये जब भी आपका मन करे गुझिया निकालिये और खाइये. 15 दिन से अधिक दिनों तक भी यह गुझियां नहीं खराब होंगी.

Gujihya dipped in Sugar Syrup video
recipe

इस रेसिपी के बारे में सवाल पूछिए.

क्या आपके मन में इस रेसिपी से जुडा़ कोई सवाल है? आप Nishamadhulika.com पर आने वाले लोगों से उसे पूछ सकते हैं : यहाँ क्लिक करें.

Related Questions


Leave a Reply

पवन चंदन on 09 March, 2009 08:12:42 AM

कहना क्‍या है
मुंह में पानी आ रहा है

Sanjay on 19 March, 2011 09:14:02 AM

khova nhi dalna hai kya???????? निशा: संजय, हम खोया भी डाल रहे हैं. खोया को मावा भी कहते हैं.

on 09 March, 2009 12:50:07 PM

लाजवाब गुझिया दिख रही है ।
निशा जी आपको और आपके परिवार को होली मुबारक ।

Santosh goel on 10 March, 2009 10:19:51 AM

aaj ka tyohar me gunjiyo ki bahar. holi ki dher sari hubhkamnae. rang barse bheege chunar wali rang barse

Suman prajapati on 10 March, 2009 19:19:52 PM

yammyyyyyyyyyyy
bahut swadihst recipe hai
dekhane main bhi badiya hai
aur khane main toh usse bhi badiya

Rosa on 02 April, 2009 12:53:22 PM

mai apane kashu ji ke liya banaugi,payari payari gujaiya,thanks for great lovely formulas.

on 02 April, 2009 18:56:03 PM

chasani me gujia naram ho jayegi, to kya karen.
निशा: चाशनी को थोड़ा और पका लीजिये और टैस्ट कर लीजिये.

Poonam on 29 September, 2009 06:11:58 AM

hi nishaji, plz mujhe shahi tost banane ki vidhi bataiye,

Payal on 20 October, 2009 07:48:02 AM

Can I use the Gujiya-maker if I want? It gets easy
निशा: पायल, आप गुझिया मेकर से भी गुझिया बना सकती हैं, लेकिन आप अगर इसे गंठ कर बनाये तो ज्यादा अच्छा है, ये गुझिया सादा गुझियों से इस गंठन के कारण अलग लगती है, किनारे थोड़ी हार्ड भी रहती है, चाशनी में डुबोते समय जल्दी ही नहीं टुटती.

Karuna on 02 November, 2009 06:16:09 AM

wow..what a superb guziya...thanks for the receipe ..
nisha ji..muze pls different type ki ladoo ki receipe bataiye..

Vaishali on 25 February, 2010 10:22:22 AM

plese sand a recipe of mooticoor ladoo
racipe.

Neha on 01 March, 2010 21:45:10 PM

Thanks Nishaji....aap to maa jaise sab sikhati hain, just love ur recipes and jo bhi recipe maine try ki hai sab bahut hi achi bani , gujiya sabse best rahi , bahut bahut pyaar aapke liye :)

Shalini on 12 March, 2010 01:53:47 AM

Thanx nisha ji ,i hav read ur recipe of gujiya and it come to b very nice when i made it for the 1st time ,it was my first ever gujjiya ,never seen any body making ,i really thank u from my heart. one thng i want to know when i made gujjiya they were very gud but after one or two day they get little hard why is it so,i made without dipping in sugar syrup ,i.e the normal one
निशा: शालिनी, आपने आटा गूथते समय थोड़ा घी कम डाला हो सकता है.

Shalini on 25 March, 2010 04:57:00 AM

Nishaji

Agar hum gujiya mein khoya bhunne ke baad usme chinni se bani chashni mila den to kya thik rahega
निशा: शालिनी आप चीनी पीस कर मिला दीजिये. चाशनी क्यों बनाना चाहती हैं?

Neha on 10 August, 2010 20:42:43 PM

thanks for the lovely recipe. Can we fry the gujia in oil? what difference does it make?
निशा: तेल में तली गुझिया में तेल का स्वाद आयेगा.

Soni on 18 August, 2010 20:06:27 PM

chasni wali gujiya me kya maave ki jagah sooji use kar sakte hai ya nahi, please tell me
निशा: सोनी आप सूजी भी डाल सकती हैं.

Soni on 19 August, 2010 22:08:26 PM

chironji aur tukmalga me kya farak hota hai,aur dono dekne me kaise dikte hai, please nisha didi,tell me na

Shauryamodneelu on 14 September, 2010 19:19:56 PM

thank you very much litti chokha is very very testy recipe

Neeti on 31 December, 2010 12:34:44 PM

ok Mam main Samajh gai main is receipe ke baare mein hi puch rahithi. main apna question repeat karti hu.......... mujhe Chashni banana hota hai to main confuse ho jaati hoon. 1 taar ki chashni, 2 taar ki aur 3 taar ki chashni kaise banti hain aur pata kaisa chalta hai ki chashni ban chuki kuch samajh nahi ata. plssssssssmujhe bataye ki kis taar ki chashni kaise pata chalti hai?????

Neeti on 31 December, 2010 12:39:36 PM

Mam Aapko aur AApke Pure parivaar ko meri taraf se Nav varsh ki hardik shubhkamnayein..
निशा: नीति, आप सबको भी नववर्ष मुबारक हो.

Princy on 01 March, 2011 13:44:18 PM

Hello Nisha ji

mere question ye hai ki chashni me gujhiya dubone ke baad jab use alag karke rakh dete hai to baad me wo chashni kisi sabji ke chilke ki tarah alag ho jati hai or kafi gaarhi ho jati hai, meethi to hoti hai per wo dekhne me acchi nahi lagti........... kya esa nahi ho sakta ki chashni me acchi tarah dub bhi jaye or sukhne ke baad unki papdi utre nahi , kya chashni ko thora patla karna padega taki wo sukhne ke baad papdi bankar alag na ho, esa tarika batayiye jo dekhne me bhi acchi lage . plz thora jaldi batayiyega ???

निशा: प्रिंसी, आपने बिलकुल सही समझा है, चाशनी थोड़ी सी पतली, 2 तार की रखिये, इस तरह की समस्या नहीं होगी.

Visitor on 17 March, 2011 18:26:38 PM

approximately how many gujias the above recipe will make...???
thank you.

निशा: 500 ग्राम मैदा से 40-50 गुझिया बन जाती हैं.

Pooja on 19 March, 2011 20:25:45 PM

very nice nisha ji.........thanx for this

Swati on 20 March, 2011 19:14:00 PM

hello nisha ji meri gujiya bahut naram bani!! woh kyun?
निशा: स्वाति, आटा नरम होने और तेज गैस पर तलने से गुझिया नरम हो जाती हैं.

Sunita monga on 20 March, 2011 21:52:18 PM

hello nisha ji,
mene chashni wali gujiya banai thi.bani to bahut achi par chashni sukhne ke baad gujiya pe white-2 chashni ki layer jam gyi thi.
Aisa kyon hua???
kya chasni me koi problem thi..?

निशा: सुनीता, चाशनी थोड़ी सी ज्यादा गाड़ी हो जाने पर जमने लगती है. चाशनी को थोड़ा सा पतला रखेंगी तब यह सफेद नहीं जमेगी.

Vandana on 21 March, 2011 06:17:19 AM

Hello Nisha, I made gujiyas today and the only thing I need to ask is, at the time of frying ,,,big big bubbles form on gujiya's surface. it happens everytime,,,please tell me how can i avoid it? Thanks for the recipe you have shared. Thanks

निशा: वंदना, आटे लगाते समय मोयन घी का डालिये, आटा को थोड़ा सख्त लगायें, तब उतने गुझिया में उतने बबल नहीं आते.

Sunita monga on 26 March, 2011 19:19:21 PM

nisha ji, mene chahni wali gujiya ke atte main one forth part suji milae thi aur kasar main khoya nahi dala tha.vaise to gujiya achchi bani thi par thodi sakht thi.
iski kya wajah hai???

निशा:
सुनीता, गुझिया में सूजी मिलाने की आवश्यकता नहीं है, आटा गुथते समय घी (मोयन) पर्याप्त मात्रा में डालिये. खोया मिलाने से गुझिया, मुलायम और स्वादिष्ट बनती है.

Neeti on 21 April, 2011 11:25:53 AM

Mam aapne jo yeh design gujhia par banai hai woh kaise banate hai??? Maine bahut practise kari par samajh nahi aa raha ise kise shuru karu????

निशा:
निति, गुझिया को मोड़ने के लिये, पहले जरा सा मोड़ना है और उसी के किनारे से जरा जरा सा उठाकर गुझिया पूरी को मोड़ते जाना है, ये सब प्रेक्टिस से ही सीखना होगा.

Sana on 09 September, 2011 16:09:57 PM

thanx nisha ji aapki recipe bht hi badiya h.....

Bimi on 18 October, 2011 19:48:05 PM

yaammmmmmmmmmiiiiiiiiiiiiiii

Heena jain on 24 October, 2011 17:58:07 PM

hi, nishaji maine aapki gujiya dekh ker bani hai bani to dekh hai parntu jab cold ho gai to usper sugar ka white white kyu aata hai. please reply the answer. thanks!!!

Anu on 11 November, 2011 22:27:35 PM

nisha ji aap aur aap ki dishes lajawab hain

Priya naidu on 15 December, 2011 12:46:26 PM

The method is very easy.everybody can try easily.Thanks for easy method

Saurabh singh on 28 May, 2012 09:50:01 AM

kya aap khoya paneer banane ki vidhi bata sakati h?

निशा: सौरभ, मैं लिखने की कोशिश करूंगी.

Nnivedita on 13 March, 2013 12:44:03 PM

i always follow ur recipies.

Sonia on 19 March, 2013 16:34:54 PM

thanx nisha ji apki yeh recipes kafi helpful hai hum sabke liye, specially in festive season thanx alot........ and happy holi

Sushma on 26 March, 2013 12:14:09 PM

Happy Holi and thanx nisha ji I always follow yr recipes
निशा: सुषमा जी, आपको भी हैपी होली और धन्यवाद.

Shivani dhiman on 26 March, 2013 20:44:06 PM

Hi didu thanx ab main mom ko ye hi bnaa ke gift kru gi thanx didu:) i love this dish
निशा: शिवानी, बहुत बहुत धन्यवाद.

Madhu on 03 April, 2013 14:27:00 PM

in gujiya use milkmaid in place of mawa plz tell me nish mam.
निशा: मधु जी हां कर सकते हैं, मिल्क मेड पतला होता है, 100 ग्राम सूजी घी डालकर भूनिये,इसके बाद 200 ग्राम मिल्क मेड डालकर धीमी आग पर खुश्क होने तक भून लीजिये, आवश्यक्तानुसार चीनी और ड्राई फ्रूट डालकर मिक्स कर दीजिये, गुझिया का कसार तैयार हो जायेगा.

Anjily on 05 April, 2013 18:52:39 PM

woh receipe, i like this receipe.

Nimmi on 30 May, 2013 04:28:00 AM

Nishaji, Thank you very much. Apka receipes toh jaise Ishwar ka vardaan hai. Mujhe Bachpan se hi nayi nayi dishes try karne ka Shok raha hai. Phir kabhi kabhi galat receipes ke karan mare dishes kharab hone lage toh mera interest chala gaya. Apki vajase phir se mujhe jaise nayi shuruwat mili hai. Thank you once again
निशा: निम्मी, आपको भी मेरा बहुत बहुत धन्यवाद.

Sanju on 30 October, 2013 00:06:47 AM

very nicly explain you this rcipe. thank u for you helf

Xyz on 07 March, 2014 04:44:01 AM

Thankyouuuuuu sooooooo mch!!!!!!!

Pradeep kumar sen on 10 March, 2014 01:56:21 AM

thanks nisha maine aapke site se bahut se dish banani sikha hai jaise masala dosa sambar vada malai kofta & gujiya. main bhi bahut lajabab biryani aur shahi korma banata huin aap kahe to likh kar upload kar sakta huin.
निशा: प्रदीप जी, बहुत बहुत धन्यवाद.

Shuchi on 14 March, 2014 20:47:37 PM

mam jaise mawa gujhia banane mein apne dhoodh ka use karna bataya hai waise he is gujhia mein kyu nhi karenge ? or kya hum mawa gujhia ko he banake sugar syrup mein dip nhi kar sakte ?

Mrs. heena khan on 17 March, 2014 07:06:52 AM

Happy holi apki gujia receipe to kamal ki h.thanks

Neeru akhtar on 24 April, 2014 08:44:42 AM

Nisha ji meri chasni sahi nhi banti h jam jati h please kuch bataye?
निशा: नीरू, चाशनी थोड़ी गाढ़ी हो जम जाती है, थोड़ा सा पतला रख लीजिये, चाशनी की अच्छी परत आयेगी और चाशनी हल्की गरम हो तब ही गुझिया को चाशनी में डुबा कर निकाल लीजिये.

Mrs.neeru akhtar on 27 April, 2014 05:42:34 AM

Nisha ji thanks..mujhe aapki recipe bahut pasand ati h.
निशा: नीरू जी, बहुत बहुत धन्यवाद.

Anju dang on 24 October, 2014 06:07:49 AM

Aap ki recipe perfect hai hamne bhi chasni wali gujia banai hai bilkul theek bani hai thanks g
निशा: अंजू जी, बहुत बहुत धन्यवाद

Mandeep mehra on 26 October, 2014 02:50:25 AM

Gujhia is very tasty and favourite

Sunayana ahluwalia on 02 March, 2015 22:32:26 PM

aap ki recipe bhaut achi hoti hai thanks

Sushila on 03 March, 2015 00:57:12 AM

very good idea of gujiya for making.

Deepak on 04 March, 2015 19:53:52 PM

Kasar ke sath hum roasted and boiled rawa bhi toh use kar sakte hain.. Ho sakta h ki tab ghuziya long life na rab jaye..

Click here to log in

Become a member free and get access to advanced features.

Latest Recipes

More Recipes
इस ब्लाग की फोटो सहित समस्त सामग्री कापीराइटेड है जिसका बिना लिखित अनुमति किसी भी वेबसाईट, पुस्तक, समाचार पत्र, सॉफ्टवेयर या अन्य किसी माध्यम से प्रकाशित या वितरण करना मना है.