साबुत लसोड़े का अचार – Gunda Pickle – Glutinous Fruit Pickle

Gunda Pickle

साबुत लसोड़े का अचार (Gunda Pickle) दो तरीके से बनाया जाता हैं, एक तो बिना मसाले का और दूसरा मसाले के साथ, बिना मसाले के लसोड़े बच्चों को बहुत पसन्द आते हैं लेकिन मसाले वाले लसोड़े भी बड़े स्वादिष्ट होते हैं. लसोड़े का अचार (Lasodaa Achar) तो मेरे घर में सबको बहुत ज्यादा पसन्द है.

आइये साबुत लसोड़े का अचार (Sabut Lasoore Pickle) बनाना शुरू करते हैं.

आवश्यक सामग्री - Ingredients for Lasoore Pickle

  • लसोड़े -(Gunda) 1/2 किग्रा.
  • हल्दी पाउडर - एक छोटी चम्मच
  • राई या पीली सरसों - 2 टेबल स्पून (दरदरी पिसी हुई)
  • नमक - 1 1/2 छोटी चम्मच (स्वादानुसार)
  • लाल मिर्च पाउडर - 1/4 छोटी चम्मच
  • सरसों का तेल - 2 टेबल स्पून
  • हींग - 1 पिंच

विधि - How to make Lasoore Pickle

लसोड़े को डंठल से तोड़ लीजिये, अच्छी तरह धोइये. किसी बर्तन में इतना पानी लेकर उबालने के लिये रखिये कि लसोड़े पानी में अच्छी तरह डूब सके. पानी में उबाल आने के बाद लसोड़े पानी में डाल दीजिये और फिर से पानी में उबाल आने के बाद 3-4 मिनिट तक लसोड़े उबलने दीजिये.  आग बन्द कर दीजिये और लसोड़े ढक कर रख दीजिये. ठंडा होने पर लसोड़े से सारा पानी निकाल दीजिये.

अब इन लसोड़े को पहले हम पानी में डाल कर लसोड़े की कांजी बनायेंगे. कांजी बनाने के लिये 1  लीटर पानी उबाल कर ठंडा कर लीजिये.  उबले हुये लसोड़े कांच या प्लास्टिक के सूखे साफ कन्टेनर में डाल दीजिये,  एक छोटी चम्मच हल्दी पाउडर, 2 छोटी चम्मच नमक और 1/4 लाल मिर्च पाउडर, पीली सरसों  और  सरसों का तेल मिला दीजिये. इस मसाले मिले लसोड़े में ठंडा किया हुआ पानी भी मिला दीजिये.  चमचे से चलाइये और ढक्कन लगाकर रख दीजिये.  3-4 दिन में ये लसोड़े की खट्टी कांजी बन कर तैयार हो जाती है. लसोड़े की कांजी को रोजाना एक बार साफ सूखे चमचे से चला दीजिये( अचार बनाते समय सफाई का ध्यान रखा जाय तो अचार अधिक दिन तक खाये जा सकते है).

लसोड़े की कांजी (Lasoore Kanji)  हम पी सकते हैं या फिर चपाती, परांठे के साथ खा सकते हैं.  लसोड़े जो कांजी में 15 दिन के अन्दर खट्टे और पीले हो गये होते हैं और उनके अन्दर की गुठली का चिपचिपापन खतम हो गया होता है, इन लसोड़े को आप एक बर्तन में अलग निकाल लीजिये और कांजी अलग रख लीजिये.

ये साबुत लसोड़ों को आप खा तो सकते ही हैं, इन्हैं तेल में डुबा कर रखें तो ये साबुत लसोड़े का अचार (Lasoda Pickle) साल से भी ज्यादा रख कर खाया जा सकता है.

ये लसोड़े साफ सूखे कन्टेनर में डालिये, सरसों का तेल गरम कीजिये ठंडा कीजिये और लसोड़े में डाल कर, लसोड़े तेल में डूबे रख दीजिये. जब भी आपका मन करे ये साबुत लसोड़े का अचार (Lasoora Achar - Glutinous Fruit Pickle) कन्टेनर से निकालिये और खाइये.

लसोड़े मसाले वाले - How to Make Spicy Lasoore Pickle

मसाले वाले लसोड़े (Spicy Lasore Pickle) बनाने के लिये लसोड़ों में मसाला बना कर मिला दिया जाता है.

1-2 हरे कच्चे आम लीजिये, आम को छीलिये और गूदे को निकाल कर पीस लीजिये.
टेबल स्पून नमक, एक छोटी चम्मच हल्दी पाउडर, 2 टेबल स्पून मैथी दाना, 2 टेबल स्पून पीली सरसों, 2 छोटी चम्मच अजवायन, 1 छोटी चम्मच लाल मिर्च  और एक चौथाई छोटी चम्मच हींग. साबुत मसाले अच्छी तरह साफ करके दरदरे पीस लीजिये. आप चाहें तो 8-10 लाल मिर्च साबुत भी ले सकते हैं जो मसाले के साथ खट्टी होजाती हैं और बड़ी स्वादिष्ट लगती हैं.

स्टील की कढ़ाई में आधा कप सरसों का तेल डाल कर अच्छी तरह गरम कीजिये. आग बन्द कर दीजिये. तेल को थोड़ ठंडा होने दीजिये, तेल जब हल्का गरम रह जाय तब हम आम का गूदा तेल में डालेंगे, हींग, हल्दी पाउडर फिर सारे मसाले डाल कर अच्छी तरह मिला दीजिये.  लसोड़े में मिलाने के लिये मसाला तैयार है.

इसी मसाले में लसोड़े डाल कर मिला दीजिये. मसाले वाले साबुत लसोड़े का अचार बन कर तैयार है.

अच्छी तरह ठंडे होने पर ये लसोड़े किसी साफ सूखे कांच या प्लास्टिक के कन्टेनर में भर कर रखिये.  ये साबुत लसोड़े के अचार (Spicy Lasoore Pickle - Spicy Gunda Pickle) को साल भर अच्छा रखने के लिये तेल में डुबा कर रखिये.

सुझाव:   अचार बनाते समय जो भी बर्तन स्तेमाल करें, वे सब सूखे और साफ हों, अचार में किसी तरह की नमी और गन्दगी नहीं जानी चाहिये.

अचार के लिये कन्टेनर कांच या प्लास्टिक को हो, कन्टेनर को उबलते पानी से धोइये और धूप में अच्छी तरह सुखा लीजिये. कन्टेनर को ओवन में भी सुखाया जा सकता है.

जब भी अचार कन्टेनर से निकालें, साफ और सूखे चम्मच का प्रयोग कीजिये. हफ्ते में 1 बार अचार को चमचे से चलाकर ऊपर नीचे कर दीजिये.

अगर धूप है, तब अचार को 3 महिने में 1 दिन के लिये धूप में रख दीजिये, अचार बहुत दिन तक चलते हैं और स्वादिष्ट भी रहते हैं.

 

Gunda Pickle video in Hindi
recipe

इस रेसिपी के बारे में सवाल पूछिए.

क्या आपके मन में इस रेसिपी से जुडा़ कोई सवाल है? आप Nishamadhulika.com पर आने वाले लोगों से उसे पूछ सकते हैं : यहाँ क्लिक करें.

Related Questions

Comment(s): 23:

  • on 26 May, 2010 03:12:24 AM
    lisode ka achcar mere chacha ji banate the,that was 2 good par ab me banaugi becoz of u nishji
  • on 26 May, 2010 06:44:21 AM
    bahut hi dino baad suna yeh naam ...but my badluck theseare not available here
  • on 29 May, 2010 02:53:45 AM
    निशा जी क्या आप युपी से हे क्योकि सब लोग लसूओरे और फालसे के बारे मे नही जनाते
  • on 27 June, 2010 05:31:36 AM
    yes i love this pickle.mai bhut dino se dundh rahi thi ye recipe...ab mai jaroo banougi. thanks..
  • on 22 July, 2010 21:55:24 PM
    Nisha ji Spicy Lasoore Pickle me lasoore kachhe lete hai ya pani me boil karte hai.
    निशा: शकुन्तला, मसाले वाले लिसोड़े बनाने के लिये लिसोड़े की कांजी से निकालने तक की पूरी विधि अपनानी हैं, बिना मसाले वाले लिसोड़े के लिये कांजी से निकाल कर लिसोड़े तेल में डुबा देने हैं और मसाले वाले लिसोड़े के लिये सारा मसाला तैयार करके डालना है और ये भी तेल में डुबाकर रखना है.
  • on 31 July, 2010 12:57:24 PM
    This recipe in English

    Lasora ka Achaar/Gunda Pickle is made in two ways, one with spices and the other without any spices. The former is liked by elders while kids love the latter i.e without any spices. Everyone at my house are big fans of Gunda Pickle.

    Let us prepare whole Lasora ka Achaar/ Gunda Pickle.

    - Ingredients for Lasora ka Achaar/Gunda Pickle

    Lasora(gum berry) - 1 kg
    Turmeric powder - 1 tsp
    Salt - 2 tsp
    Red chilly powder - 1/2 tsp

    - How to make Lasoore Pickle

    Break the stems of the Lasorae, wash them nicely. Take water(enough to submerge all the Lasore) in a utensil to boil. After the water comes to boil put in the Lasore and boil them for 3-4 minutes. Turn off the gas, cover the Lasore and keep them aside. Once they cool down throw the entire water.

    We will first put these Lasore in water to make its congee. To make congee boil 1 1/2 or 2 liters of water then cool it. Put the boiled Lasore in a clean-dry glass or plastic container, add 1 tsp turmeric powder, 2 tsp salt, 1/4 red chilly powder and 1 tbsp mustard oil to it. Now pour the cooled water to the Lasore mixed in spices. Stir with a spoon then put on the lid and keep it aside. Sour congee form the Lasore will be ready in the next 3-4 days, stir the pickle once everyday with a dry spoon(cleanliness should be kept in mind while preparing the pickle, this results in its longer shelf life).

    We can either drink Lasoore congee or have along with chapati, roti or parantha. Lasore soaked in congee turn sour and yellow in 15 days. The stickiness is also removed from its pulp, take out the Lasore and keep them in a separate utensil and the congee in another.

    You can definitely eat these whole Lasore, but if you keep them soaked in oil then these whole Lasoda Pickle lasts for a year or even more.

    Put these Lasore in a clean-dry container, heat mustard oil then cool it. Put this oil in the Lasore, so that they remain submerged. Take out Lasora Achaar/Glutinous Fruit Pickle whenever you feel like and savour the taste..!

    - How to Make Spicy Lasoore Pickle
    We need to make the spices then put them in the Lasore to make Spicy Lasore Pickle.
    Get 1/2 kg unripe mangoes, peel them and remove the pulp and grind it.
    Clean 2 tsp salt, 1 tsp turmeric powder, 1 tbsp Methi(fenugreek) seeds, 1 tbsp yellow mustard seeds, 2 tsp Ajwain(carom seeds), 1 tsp red chilly powder and 1/4 tsp Heeng(asafoetida). Grind all of these whole spices to make a coarse powder. You can also take 8-10 whole red chillies if desired which turn sour with the spices and are very tasty.

    Pour 1 cup mustard oil in a steel frying pan(kadhai) and heat. Turn off the gas. Allow the oil to cool, when it is luke warm put Heeng, turmeric powder followed by the spices and mix properly. Now add the mango pulp which you have grinded earlier. The spices to be added to the Lasore are ready.

    Put Lasore in these spices and mix rigorously. Whole Lasora Pickle with Spices is ready.

    After the Lasore cool down completely fill them in a clean-dry glass or plastic container. To keep this Spicy Lasoore Pickle/Spicy Gunda Pickle fresh for a whole year let it remain submerged in oil.
  • on 06 February, 2011 18:07:28 PM
    lisode ka gunda ke alava aur kya naam hai?
  • on 13 May, 2011 13:39:55 PM
    I need a translation if you please sir, thank you.
  • on 29 May, 2011 12:46:30 PM
    An additional option: after removing lasore from kanji youcan wash them & make them farera.Put these in boiled & cooled water with salt ,haldi & hing .Dip the lasore in it & put heated & cooled oil over it SO that oil makes the top 1 cm layer.These remain preserved & you can enjay pani wale lasore.
  • on 01 June, 2011 10:24:34 AM
    nisha ji , lasode ka achaar banane ke liye , lasora kachha kenge ki pakka ?

    निशा: सिया, अचार के लिये लिसोड़े कच्चे ही होने चाहिये.
  • on 24 September, 2011 18:19:08 PM
    mam achar ke bache hue tel ka kya use ho sakata he? please bataye.
  • on 30 September, 2011 16:24:11 PM
    Nisha g,
    Your receipe has brought me in my childhood (i was just appx.8-10 yrs old exactly not remember) I tasted this pickle. I never forget its taste. In front of my house there was a tree of lasoora. But now a days it is very difficult to get it.
    After 30 yrs I have seen the receipe of this achar.

    yeh to wahi baat ho gai ki apne purani virsat ko sahej kar nai generation ko pesh kiya hai.......
    hamare bacho ko to pata hi nanhi ki lasoore hote kya hain.......agar mujhe lasoore mil jate hain to main apne bacho ko iska taste jarur karonigi....
    God may bless u with g8 happiness & success....
    निशा: सुनीता, बहुत बहुत धन्यवाद.
  • on 04 December, 2011 14:18:57 PM
    achar to pehle bhi bana leti thi par apki receipe se confidence barh jata hai.thanks
  • on 28 May, 2012 16:45:15 PM
    Very tasty reading
  • on 29 May, 2012 21:06:31 PM
    nishaji kya aap lasoor ki sabzi bana n ki vedi baata sak te h kya
    .

    निशा: कोमल, जी हां मैं सब्जी बनाने की रैसिपी भी लिख दूंगी.
  • on 31 May, 2012 16:43:00 PM
    nishaji,meine kanji wala lasode ka achaar dala hai.3 din se dhoop mein rakha hai lekin abhi bhi lasode khane mein lehas wale hain.aur kitne din mein achaar ready hoga?abhi dhoop mein hi rakhna hai kya jisse lehas khatam ho jaaye ya aur kuchh karna hai?
    निशा: दीपा, लोसोड़ों का लेस खतम होने में 10-12 दिन लग जाते हैं, लिसोड़े की कांजी अभी खट्टी हो जानी चाहिये और कांजी को खाया जा सकता है, लिसोड़े नहीं खाये जा सकते है, लिसोड़े अभी मत खाइये, 12 दिन के बाद लिसोड़े खा सकते हैं और उन्है मसाला मिलाकर तेल मसाले वाला अचार बना कर रख लीजिये, बहुत ही स्वादिष्ट अचार लगता है, धन्यवाद.
  • on 05 June, 2012 15:49:33 PM
    aap ki har recepie main traditional taste hota hai
  • on 03 September, 2012 23:01:07 PM
    wow! gorgeous recipes delicious lasoorae my favourite.thanks
    निशा: रशीदा, धन्यवाद.
  • on 23 April, 2013 19:26:30 PM
    Looks yummy. Will certainly try it out if I can get lasore & yellow mustard seeds. Thanx for sharing. I love pickles. But then who doesn't ?
  • on 28 April, 2013 13:14:46 PM
    nishaji,maine lasoro ki kanji daal di....3 din ho gaye.....mujhe 2 din baad 15 din ke liye hometown jaana hai....mujhe 1-2 suggestion dijiye....
    kya ab mein lasore ko kanji se nikal kar achar daal sakti hui...
    kanji ke paani ke karan ,kanji se nikale gaye lasoro ka achaar kharab to nahi hoga?
    lasoro ko 1 din kanji ke paani se nikal kar unka paani sukhana hota hai kya?
    jaldi jawab dijiyega....meri 2 din baad train hai...thank u
    निशा: श्वेता जी, लिसोड़े को कांजी से निकाल कर अभी आप अचार बना सकती हैं, अचार बनाने का तरीका निम्न लिंक से देखा जा सकता है.
    http://nishamadhulika.com/pickles/lasoda_ka_achar_recipe.html
  • on 06 May, 2013 22:43:36 PM
    Good recipe
  • on 19 May, 2014 22:59:01 PM
    Mam ,I wanted to ask that if I don't follow the step of making kanji and directly put the boiled lasode with kachcha aam and masala in tel?
    निशा: सुप्रिता, जी हां इस तरह भी डायरेक्ट कच्चा आम और लिसोड़े में मसाला डालकर भी अचार बनाया जा सकता है. दोंनो तरह के अचार अलग अलग स्वाद में बहुत ही अच्छे बनते हैं.
  • on 04 June, 2014 10:51:29 AM
    First time I had tasted this achar in 1961.In between I tried various variations in between whenever I got Lisodas but with different result. Now I followed Nisha's recipe and it turned out exactly what it used to be 64 years ago Same taste. Even my 65 old sister has vouched for the taste.Hats of Nisha Madhumita for preserving traditions..
    निशा: कुनवर जी, बहुत बहुत धन्यवाद.

Submit your question

Log in

Become a member free and get access to advanced features.

Latest Recipes

More Recipes >>