Chutney Recipe

Chutney Recipe | Chutney Recipe in Hindi

व्रत के लिए चार तरह की चटनियां- हरे धनिये की तीखी चटनी, नारियल चटनी, मूंगफली के दाने की चटनी और कच्चे आम की मीठी चटनी, स्वाद में सभी एक से बढ़कर एक.

घर पर बनी पिज़्ज़ा सॉस ताजा और स्वादिष्ट होने के साथ-साथ प्रिजर्वेटिव रहित भी होती है़. आइए देखें इसकी आसान और झटपट रेसिपी.

उत्तरी भारत में खासतौर पर पार्टियों में सर्व की जाने वाली आलूबुखारा की चटनी पूरी, परांठे, पुलाव, कचौरी इत्यादि का स्वाद दुगुना कर देती है.

टमाटर की चटनी इडली, वड़े, पकौड़े, परांठे, पूरी किसी भी व्यंजन के स्वाद को दुगुना कर देती है, इस चटपटी चटनी को आप चटखारे लेते हुए खाएंगे.

कुंदरू की सब्जी के स्वाद से सभी दो चार होंगे, लेकिन क्या आप जानते हैं कुंदरू की चटनी भी बनाई जाती है? हरे धनिये, उड़द-चना दाल, कुंदरू, करी पत्ते और मसालों से तैयार यह चटनी काफी लज़ीज होती है. आप एक

चटनी किसी भी चीज की बनी हो, खाने के स्वाद को दुगुना कर ही देती है. धनिये, पुदीने, मूंगफली इत्यादि की चटनी तो आप अक्सर ही खाते रहते होंगे, आज हम आपके लिए खास तिल की चटनी की रेसिपी लाए हैं.

मेयोनीज को सलाद में डालकर, ब्रेड, सेन्डविच, बर्गर पर या डिप की तरह प्रयोग किया जाता है. एगलैस मेयोनीज को घर पर आसानी से बना सकते हैं. इसे कई तरह से बनाया जाता है. हम यहां 2 प्रकार से मेयोनीज

दही धनिया की चटनी या दही वाली चटनी खास पसंददीदा देशी चटनियों में से एक है. इसे मोमोज, तंदूरी पनीर टिक्का, आलू वेजेज, बिरयानी से लेकर दोसा, समोसा रोटी सब्जी चावल तक किसी के भी साथ परोस सकते हैं.

सर्दियों के आते ही प्रतिरोधक व पोषक तत्वों ने भरपूर आंवला हमें किसी न किसी तरह अपने रोजाना के भोजन में शामिल कर लेना चाहिये. आज प्रस्तुत है तुरत फुरत बन जाने वाली आंवला की मीठी चटनी.

दही बड़े या चाट में मीठी चटनी जरूरी होती है. इमली की मीठी चटनी तुरत फुरत नहीं बनाई जा सकती लेकिन लेकिन अमचूर पाउडर से ये मीठी चटनी उतनी ही स्वादिष्ट, तुरन्त बहुत जल्दी बनाई जा सकती है.

राजस्थानी परम्परागत रेसिपी है मेथी की लौंजी को मेथी का मीठा अचार भी कहा जाता है. मेथी की लौंजी स्वादिष्ट है है ही यह पाचन में भी बहुत फायदेमन्द है. इसे पूरी परांठे के साथ परोसा जा सकता है.

अलसी डार्क ब्राउन कलर के बीज होते है. प्रोटीन और फाइबर से भरे होने के साथ विटेमिन B1, मिनरल्स और आवश्यक फैटी एसिड्स ओमेगा - 3, ओमेगा- 6 से भरपूर एन्टीओक्सीडेन्ट अलसी का प्रयोग हमें अपने खाने में

जिमीकन्द की चटनी बहुत ही स्वादिष्ट बनती है, फाइबर से भरपूर तासीर में गरम जिमीकन्द की चटनी सर्दी के मौसम में जिमीकन्द की चटनी बनाकर फ्रिज में रखकर महिने भर तक उपयोग की जा सकती है.

ग्रीन चिल्ली सास को समोसे, कचौड़ी या पकोड़े या सेन्डविच, चाऊमीन , मंचुरियन, पुलाव या पास्ता में प्रयोग किया जाता है. इसे बनाना बहुत आसान है.